मौलाना मदनी ने मोदी सरकार की छात्रवृत्ति योजना का किया स्‍वागत, कहा- सभी को मिले समान अवसर

मौलाना मदनी ने मोदी सरकार की छात्रवृत्ति योजना का किया स्‍वागत, कहा- सभी को मिले समान अवसर

Dhirendra Kumar Mishra | Updated: 12 Jun 2019, 04:15:51 PM (IST) राजनीति

  • मौलाना महमूद मदनी ने केंद्र की छात्रवृत्ति योजना की तारीफ की
  • इस योजना से होगा समावेशी विकास
  • मुस्लिमों को शिक्षा मिलने पर राष्‍ट्र निर्माण को मिलेगा बढ़ावा

नई दिल्‍ली। जमायत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने केंद्र सरकार की ओर से मदरसों को औपचारिक शिक्षा से जोड़ने की योजना की प्रशंसा की है। मदनी ने कहा कि देश के फायदे के लिए समाज के सभी वर्गों को समान अवसर दिए जाने चाहिए। खासकर शिक्षा के क्षेत्र में सभी को समान अवसर मिलना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। देश का विकास तभी संभव है जब सभी को समान अवसर मिले।

ये भी पढ़ें: लापता AN-32 का मिला मलबा , 13 लोगों की तलाश में वायु सेना ने क्रैश साइट पर एयरड्रॉप किए जवान

मुस्लिमों से की राष्‍ट्र निर्माण में योगदान की अपील

जमायत उलेमा ए हिंद के महमूद मदनी ने मोदी सरकार की अल्‍पसंख्‍यक छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना का स्‍वागत किया है। उन्‍होंने अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि इस तरह की पहलों का मैं हमेशा से स्वागत करता आया हूं। उन्‍होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय के लोगों को राष्ट्र निर्माण में हिस्सा लेना चाहिए। ऐसा तभी मुमकिन होगा जब उनकी क्षमता का निर्माण किया जाए। यह शिक्षा के बिना मुमकिन नहीं है।

सही मायने में होगा सबका विकास

मदनी ने कहा कि मोदी सरकार की अल्‍पसंख्‍यकों छात्रों के लिए घोषित योजना सिर्फ घोषणा नहीं है, इसे अमल में लाया जाता है, तो यह सच्चे मायनों में 'सबका साथ सबका विकास' होगा..."

ये भी पढ़ें: बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले


समावेशी विकास पर केंद्र का जोर
बता दें कि केंद्रीय अल्‍पसंख्‍यक मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने मंगलवार को घोषणा की थी कि मोदी सरकार अगले 5 साल में अल्पसंख्यक समुदाय के 5 करोड़ छात्रों को छात्रवृत्ति देगी। इनमें 50% लड़कियां शामिल होंगी। उन्होंने कहा कि मदरसों के छात्रों को भी कंप्‍यूटर और विज्ञान जैसे विषयों की शिक्षा सुनिश्चित की जाएगी। इसके लिए अगले महीने से मदरसा प्रोग्राम शुरू किया जाएगा।

ये भी पढ़ें: बिहार में एक्यूट इंसेफेलाइटिस से मचा कोहराम, 10 दिनों में 31 मासूमों की मौत

मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने कहा कि मोदी सरकार ने स्वस्थ और समेकित विकास का वातावरण तैयार किया है। इसके तहत हम सांप्रदायिकता की बीमारी और तुष्टीकरण की राजनीति को खत्म कर देंगे। हमारी सरकार ने यह साबित कर दिया कि हमने न्याय और एकता के लिए काम किया। हम समावेशी विकास और सर्वस्पर्शी विश्वास के लिए प्रतिबद्ध हैं।

नकवी ने कहा- अल्पसंख्यक समुदाय की वे लड़कियां जो किसी कारणवश स्कूली शिक्षा पूरी नहीं कर पाती हैं, उन्हें ब्रिज कोर्स के जरिए शिक्षा और रोजगार से जोड़ा जाएगा। उनके लिए देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में यह कोर्स शुरू किए जाएंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned