दीपावली की सौगात देने काशी जा सकते हैं PM Modi, इन तीन कारणों में जानें BJP को क्यों सता रही UP की चिंता

  • अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को दीपावली की सौगात दे सकते हैं PM Modi
  • UP को लेकर बढ़ रही है BJP की चिंता
  • यूपी को लेकर बीजेपी और पीएम मोदी की परेशानी के हैं ये तीन बड़े कारण

By: धीरज शर्मा

Published: 02 Nov 2020, 09:53 AM IST

नई दिल्ली। दीपावली का त्योहार नजदीक है। त्योहार के इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( pm modi ) अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को बड़ा तोहफा दे सकते हैं। कोरोना काल के बीच 12 नवंबर को पीएम मोदी अपने ससंदीय क्षेत्र के लोगों को बड़ी सौगात दे सकते हैं।

पीएम मोदी काशी दौरे के दौरान कोरोना संकट के बीच तैयार की जा चुकी 400 करोड़ रुपये की लागत से ज्यादा की परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे। यही नहीं इस दौरान वे 500 करोड़ रुपए की अन्य परिजयोजनाओं का भी शिलान्यास कर सकते हैं। दरअसल इन दिनों बीजेपी और पीएम मोदी को यूपी की चिंता सता रही है। इसके बीच तीन बड़े कारण हैं। आईए जानते हैं क्यों पीएम का बड़ रहा यूपी प्रेम।

बिहार चुनाव में दूसरे चरण के मतदान से पहले लगा डबल पंच का तड़का, जानें क्यों हो रहा बार-बार इस्तेमाल

पिछले दिनों पीएम मोदी ने स्वनिधि योजना के लाभार्थियों से संवाद के तहत यूपी के रेहड़ी पटरी वालों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने 10 हजार रुपए तक के कर्ज देने की बात भी कही। वहीं अब जल्द ही यूपी के अपने ससंदीय क्षेत्र में 400 करोड़ की परियोजना की शुरुआत के साथ दिवाली की सौगात देने की तैयारी में हैं।
यूपी के प्रति ये प्रेम यूं ही नहीं है। इसके पीछे भी पीएम मोदी और बीजेपी की तीन बड़ी चिंताएं हैं।

1. पहले राज्यसभा फिर विधानसभा चुनाव
यूपी में वर्ष 2022 में होने वाली विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी किसी भी तरह से लापरवाही के मूड में नहीं है। यही वजह है कि लगातार यूपी को लेकर खुद पीएम मोदी सक्रिय रहते हुए जनता से सीधा संवाद कर रहे हैं। वहीं राज्यसभा चुनाव में भी यूपी से ही बीजेपी की ताकत मजबूत होगी। यूपी में 10 राज्यसभा सीटों पर चुनाव होने हैं। इनमें बीजेपी के खाते में 8 और एक-एक सपा बसपा के पास आने की उम्मीद है।

हालांकि यहां भी बीजेपी ने दांव करते हुए विधानसभा चुनाव की बिसात को पहले ही बिछाना शुरू कर दिया है। बसपा पहले ही रुख साफ कर चुकी है कि वे सपा के रवैये के चलते बीजेपी को समर्थन देना पड़ा तो दे देगी। ऐसे में बीजेपी ने एक सीट छोड़कर सपा और बसपा की लड़ाई को और हवा दी है।

2. हाथरस जैसी घटनाओं से बिगड़ी छवि
यूपी को लेकर बीजेपी की दूसरी बड़ी चिंता है हाथरस जैसी घटनाओं बीजेपी और योगी की छवि को हो रहा नुकसान। हालांकि पार्टी इससे लगातार जूझ रही है, लेकिन अंदरखाते नुकसान से भी डर रही है। इस मामले को लेकर विपक्ष का लगातार हमला और पीड़ित परिवार के बयानों ने पार्टी की छवि को धुमिल किया है।
ऐसे में बीजेपी नहीं चाहेगी कि चुनाव के दौरान इस तरह के मुद्दों का पार्टी को खामियाजा भुगतना पड़े। यही वजह है कि पीएम मोदी लगातार यूपी की जनता से संवाद कायम करने में जुटे हुए हैं।

3. प्रियंका गांधी की पकड़
बीजेपी और पीएम मोदी की यूपी को लेकर बढ़ी मुश्किलों में से एक प्रियंका गांधी का यूपी को लेकर सक्रिय होना भी एक कारण है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लगातार योगी सरकार पर हमलावर है फिर चाहे वो हाथरस का मुद्दा हो या फिर विकास को लेकर की जा रही घोषणाएं। प्रियंका हर मोर्चे पर योगी सरकार और बीजेपी के लिए मुश्किलें बढ़ा रही हैं।

मौसम विभाग ने जारी किया बड़ा अलर्ट, पहाड़ों बर्फबारी के बीच इन राज्यों में बारिश बढ़ा सकती है मुश्किल

कांग्रेस भले ही इस वक्त यूपी में कमजोर नजर आ रही हो, लेकिन पीएम मोदी भी जानते हैं कि प्रियंका की पकड़ ऐसे ही यूपी में मजबूत होती गई तो समीकरण बदले में वक्त नहीं लगेगा। ऐसे में अपने संसदीय क्षेत्र को बचाते हुए यूपी को साध कर रखना बीजेपी के लिए बड़ी चुनौती है।

pm modi BJP
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned