Rahul का सवाल- हमारे जवानों को मारा, जमीन पर किया कब्जा...फिर क्यों PM Modi की ​तारीफ कर रहा China?

  • India-China Dispute के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने PM Modi पर निशाना साधा
  • LAC पर दोनों देशों के बीच भारी तनाव, बावजूद इसके चीन PM मोदी की तारीफ क्यों कर रहा है?

By: Mohit sharma

Updated: 22 Jun 2020, 11:05 PM IST

नई दिल्ली। लद्दाख की गलवान घाटी ( Galwan Valley ) में भारत-चीन तनाव ( India-China Dispute ) के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि चीन ( China ) ने हमारे सैनिकों को मारा, हमारी जमीन छीन ली। इसको लेकर LAC पर दोनों देशों के बीच भारी तनाव है, बावजूद इसके चीन पीएम मोदी ( PM Modi ) की तारीफ क्यों कर रहा है? ट्रवीट में राहुल गांधी ने एक मीडिया रिपोर्ट का भी हवाला दिया। आपको बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ( Manmohan Singh ) के बयान ट्वीट कर मोदी सरकार पर हमला बोला था।

Rath Yatra Puri 2020: आस्था ने Corona को दी मात, SC ने Rath Yatra निकालने की दी अनुमति

b.png

इस दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह जी की महत्वपूर्ण सलाह। भारत की भलाई के लिए, मैं आशा करता हूँ कि PM उनकी बात को विनम्रता से मानेंगे। आपको बता दें कि मनमोहन सिंह ने अपने बयान में कहा था कि "प्रधानमंत्री को अपने बयान से उन्हें (चीनियों के) को यह अवसर नहीं देना चाहिए कि वे इसका इस्तेमाल अपनी अवस्थिति को सही बताने के लिए करें। साथ ही, यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सरकार के सभी अंग इस खतरे का सामना करने व स्थिति को और ज्यादा गंभीर होने से रोकने के लिए परस्पर सहमति से काम करें।"

India-Nepal Tension: नेपाल ने रोका बांधों का मरम्मत कार्य, Bihar के बड़े हिस्से पर मंडराया बाढ़ का खतरा

IMD का अलर्ट: Amphan के बाद Odisha से लगे इलाकों में अब Cyclonic activity का खतरा

पूर्व प्रधानमंत्री ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि चीनी सेना को लेकर 'भ्रामक प्रचार' करना वास्तविक नियंत्रण रेखा में भारतीय सैनिकों के बलिदान के साथ एक 'विश्वासघात' होगा। उन्होंने कहा कि यह न तो 'कूटनीति का विकल्प' था और न ही 'निर्णायक नेतृत्व' का। दरअसल, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक में मोदी द्वारा दिए गए बयान की आलोचना कर रहे थे। इस बयान पर बाद में प्रधानमंत्री कार्यालय से स्पष्टीकरण आया था। यह बयान 15 जून की रात वास्तविक नियंत्रण रेखा पर लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुए आमने-सामने के हिंसक संघर्ष पर के बारे में था, जिसमें एक कमांडिंग ऑफिसर सहित 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए।

 

PM Narendra Modi
Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned