Shiv Sena: 350 सांसदों का बहुमत, Modi सरकार के लिए राम मंदिर निर्माण का जनादेश

  • Shiv Sena ने Ram Temple पर लिखा सामना में संपादकीय

  • राम मंदिर निर्माण की दिशा में कदम आगे बढ़ाए सरकार

  • Modi सरकार अध्‍यादेश लाकर बनाए राम मंदिर

     

By: Dhirendra

Updated: 18 Jun 2019, 02:54 PM IST

नई दिल्ली। केंद्र में मोदी सरकार की सत्‍ता में दोबारा वापसी के बाद से अयोध्‍या विवाद ( Ayodhya Issue) में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा फिर से गरमाता जा रहा है। इस मुद्दे पर शिवसेना ( Shiv Sena ) ने मंगलवार को अपने मुखपत्र सामना में कहा है कि लोकसभा चुनाव में देश की जनता ने एनडीए के 350 से अधिक संसदों को चुनकर भेजा है। अकेले भाजपा के 303 सांसद इस बार देश भर से जीते हैं। इसलिए केंद्र सरकार को अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कर भगवान राम के वनवास को समाप्त करना चाहिए।

पीएम मोदी: लोकतंत्र में राजनीतिक निष्‍पक्षता सबसे ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण

अध्‍यादेश लाकर मंदिर बनाए सरकार

शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा गया है कि 350 से अधिक सांसदों का समर्थन राम मंदिर का जनादेश है। अब सरकार के पास दो विकल्‍प हैं।

WB CM Mamata Banerjee ने मांगीं डॉक्टरों की मांगें, हर अस्पताल में एक नोडल पुलिस अधिकारी की तैनाती

पहला यह कि मुस्लिम पक्षकारों के साथ बातचीत और दूसरा सुप्रीम कोर्ट के माध्‍यम से इसका हल हो। अगर ये दोनों विकल्प विफल हो जाते हैं तो राम मंदिर का निर्माण एक अध्यादेश लाकर किया जाना चाहिए।

 

कानून के दायरे में रहकर हल निकालना चाहते हैं मोदी

सरकार को चाहिए कि वो राम मंदिर निर्माण की दिशा में प्रभावी कदम उठाए। सामना के संपादकीय में ये भी लिखा गया है कि पीएम मोदी कानून के दायरे में रहकर राम मंदिर का हल निकालना चाहते हैं। बतौर पीएम उन्हें कानून की भाषा ही बोलनी पड़ेगी।

Doctors Safety पर SC में सुनवाई आज, सुरक्षाकर्मी तैनात करने की मांग

सरकार के पास केवल 2 विकल्‍प

बता दें कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने 18 सांसदों के साथ 16 जून अयोध्या पहुंचे थे। वहां से वापसी करने के बाद शिवसेना के मुखपत्र सामना में इस मुद्दे पर पार्टी का पक्ष रखा है।

डॉक्‍टर्स स्‍ट्राइक: ममता बनर्जी मंगलवार को नबाना में मेडिकल कॉलेज के प्रतिनिधियों से मिलेंगी

उद्धव ठाकरे से एक दिन पहले यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी अयोध्या का दौरा किया था। उन्‍होंने महंत नृत्य गोपाल दास की उपस्थिति में कहा था कि राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए दो विकल्प उपलब्ध हैं।

Show More
Dhirendra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned