सनी देओल के प्रतिनिधि वाले फैसले से गुरदासपुर में बढ़ा विवाद, अब सांसद ने दी सफाई

सनी देओल के प्रतिनिधि वाले फैसले से गुरदासपुर में बढ़ा विवाद, अब सांसद ने दी सफाई

Chandra Prakash Chourasia | Updated: 02 Jul 2019, 09:36:16 PM (IST) राजनीति

  • Sunny Deol के गुरदासपुर में PA नियुक्त किए जाने पर विवाद
  • BJP और कांग्रेस दोनों ने फैसले को बताया गलत
  • अब सनी देओल बोले- मेरे फैसले को बेवजह तूल दिया

नई दिल्ली। पंजाब के गुरदासपुर से बीजेपी सांसद Sunny Deol एक बार विवादों में है। इस बार विवाद सनी देओल की ओर से संसदीय क्षेत्र Gurdaspur में गुरप्रीत सिंह पलहेरी ( Gurpreet Singh Palheri ) को अपना प्रतिनिधि ( PA ) नियुक्त किए जाने पर हो रहा है। PA Controversy का मामला इतना बढ़ गया कि सनी देओल को सफाई देने की नौबत आ गई।

'मेरे फैसले को बेवजह तूल दिया'

सनी देओल ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि बेवजह मामले को तूल दिया जा रहा है। उन्होंने ट्विटर पर एक बयान भी जारी किया। सनी ने कहा कि मैंने गुरदासपुर में अपने कार्यालय का प्रतिनिधित्व करने के लिए निजी सहायक की नियुक्ति की है।

पश्चिम बंगाल में आतंकियों की भर्ती के लिए हो रहा मदरसों का इस्तेमाल: गृह मंत्रालय

नहीं चाहता इलाके में काम रुके: सनी देओल

इसका कारण है कि जब मैं संसद में या किसी निजी कार्य के सिलसिले में गुरदासपुर में न रहूं तब भी इलाके में काम सुचारू रूप से चलता रहे। मेरा उद्देश्य सिर्फ इतना ही है कि कोई काम न रुके और उन्हें जानकारी मिलती रहे।

गुरदासपुर की सेवा में हाजिर: सनी

बीजेपी सांसद ने कहा कि संसदीय क्षेत्र में कार्य देखने के लिए पार्टी नेतृत्व का समूचा नेटवर्क है। जिसमें मेरा पूरा सहयोग है और मुझे भी पार्टी का पूरा सहयोग है। मैं गुरदासपुर से सांसद के रूप में क्षेत्र की सेवा के लिए कटिबद्ध हूं और जो कर सकता हूं करुंगा।

भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा में शामिल होंगी नुसरत जहां, इस्कॉन ने किया आमंत्रित

PA Controversy

क्या है पूरा मामला

सांसद और अभिनेता सनी देओल ने पटकथा लेखक गुरप्रीत सिंह पलहेरी को अपनी तरफ से सरकारी अधिकारियों से समन्वय करने के लिए अपना 'सहयोगी' नियुक्त किया है। विपक्ष के साथ बीजेपी के नेत भी इसपर सवाल उठा रहे हैं।

कांग्रेस के साथ बीजेपी ने भी उठाए सवाल

PA Controversy पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ ने कहा कि वोटर्स को सनी से एक सेल्फी के अलावा कोई उम्मीद नहीं करनी चाहिए। वहीं बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि गुरदासपुर की जनता ने सनी देओल को वोट देकर संसद पहुंचाया है। अपने इलाके के लोगों के लिए देओल ही जिम्मेदार हैं। सहयोगी नियुक्त करना गलत है।

कौन हैं पलहेरी

सनी की तरह गुरप्रीत सिंह पलहेरी भी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े हैं। बतौर प्रोड्यूसर और लेखक उन्होंने कई हिंदी और पंजाबी फिल्मों में काम किया है। पलहेरी ने देओल की फिल्म 'यमला पगला, दीवाना', 'घायल, वन्स अगेन', 'सन ऑफ सरदार' और 'मंजे बिस्तरे' में भी काम किया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned