श्री राजराजेश्वरी मंदिर पर में मनाया फाग महोत्सव


प्रतापगढ़. फाग महोत्सव महिला मंडली द्वारा फाग महोत्सव मंदिरों में धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। राज राजेश्वरी महिला भक्त मंडली द्वारा गुरुवार को राजराजेश्वरी मंदिर में मनाया गया। जिसमें महिलाओं ने रंग और गुलाल एवं पुष्प के साथ एक-दूसरे के ऊपर छिडक़कर बड़े ही परंपरा गत ढंग से मनाया।

By: Devishankar Suthar

Published: 19 Mar 2021, 08:06 AM IST


प्रतापगढ़. फाग महोत्सव महिला मंडली द्वारा फाग महोत्सव मंदिरों में धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। राज राजेश्वरी महिला भक्त मंडली द्वारा गुरुवार को राजराजेश्वरी मंदिर में मनाया गया। जिसमें महिलाओं ने रंग और गुलाल एवं पुष्प के साथ एक-दूसरे के ऊपर छिडक़कर बड़े ही परंपरा गत ढंग से मनाया। फाग गीतों में जिनमें खास रंग मत डालो रे मुं थारी भाभी लागू..... एवं रंग कैसे खेलूं रे सांवरिया के संग.... व होली खेल रही जगदंबा कर सोलह श्रृंगार ...., आदि भजन गाकर नाचते हुए भी आनंद लिया। महिला मंडली की हंसकुंवर, विमलाबाई बिलावल, शशि बहन, हीरा बहन, शांति बहन, कमलाबाई, कंचनबाई, नानी बाई, माया बहन, गीसीबाई, राधाबाई, सुमित्रा बहन आदि महिला मंडल की महिलाएं शामिल थी। ......
बाणेश्वरी मंदिर स्थापना दिवस मनाया
प्रतापगढ़.
शहर के किला परिसर स्थित बाणेश्वरी मंदिर का स्थापना दिवस फाल्गुन सुदी पंचमी को गुरुवार को मनाया गया। इस मौके पर मंदिर में कई आयोजन किए गए। मंदिर पुजारी मोहनलाल त्रिवेदी ने बताया कि प्रात: काल अभिषेक किया गया। नवचंडी पाठ पूजन और आरती की गई। उन्होंने बताया कि फाल्गुन सुदी पंचमी सन् 1955 को मूर्ति स्थापित हुई थी। इससे पूर्व अष्टधातु की प्रतिमा किले के अंदर विराजमान थी।

....
मौसम बदलने से बढ़ी भूमिपुत्रों की चिंता
-खेतों में पड़ी फसल
-बारिश से फसल खराब होने की आशंका
-प्रतापगढ़. इन दिनों जिले में रबी की फसल कटाई का कार्य चल रहा है। वहीं दूसरी ओर मौसम पलटने के कारण फसलों में नुकसान की आशंका से किसानों में चिंता बढ़ गई है। किसानों ने बताया कि अभी फसलों की थ्रेसरिंग भी चल रही है। वहीं दूसरी ओर लहसुन और प्याज की फसल भी पकने के साथ कटाई का कार्य चल रहा है। जिससे फसलें खेतों में ही पड़ी हुई है। दो दिनों से जिले में बादल छाने के साथ ही बंूदाबांदी भी हो रही है। ऐसे में किसानों की चिंता बढ़ रही है। .
&&&
कर्मचारियों की हड़ताल
प्रतापगढ़.
भारतीय जीवन बीमा निगम के प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के संयुक्त मोर्चा के आह्वान पर देश की सभी शाखाओं में हड़ताल रही। कार्यालयों पर ताले लटके रहे। मुख्य मांगें जिसमें केन्द्र सरकार द्वारा एलआईसी का आईपीओ जारी करने के विरोध में बीमा उद्योग में एफडीआई में वृद्धि के खिलाफ, लंबित वेतन पुनरीक्षण की मांग के समर्थन में कर्मचारियों ने नारेबाजी की। एक दिवसीय पूर्ण हड़ताल के साथ आंदोलन को तेज करते हुए कार्यालय कामकाज को पूर्ण रूप से ठप किया गया। संयुक्त मोर्चा की ओर से आभा लाहोटी ने बताया कि निगम अपने व्यवसाय में उत्तरोत्तर वृद्धि कर रहा है। साथ ही सेवा के क्षेत्र में भी देश में नंबर वन वित्तीय संस्थान है। निगम देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। देश के ढांचागत विकास में निगम का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा है। साधारण बीमा क्षेत्र की एक कंपनी का निजीकरण जनता विरोधी कदम है। केंद्र सरकार के इन कदमों के खिलाफ बीमाकर्मी हड़ताल कर अपना आक्रोश व्यक्त किया। जीवन बीमा कर्मचारी अगस्त 2017 से देय अपने वेतन पुनरीक्षण एवं पेंशन में सुधार की मांग को लेकर भी निरंतर संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन निगम के प्रबंधन एवं केंद्र सरकार द्वारा कर्मचारियों की जायज मांगों को नजरअंदाज किया जा रहा है। इन्हीं सब कारणों से बीमाकर्मी गुरुवार को हड़ताल पर रहे। इस मौके पर अखिल मेहरा, अमित सोमानी, आभा लाहोटी आदि कर्मचारी मौजूद रहे।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned