किया प्रशासन की मौजूदगी में अंतिम संस्कार, अंतिम यात्रा में तख्तियों के माध्यम से किया मौन विरोध

किया प्रशासन की मौजूदगी में अंतिम संस्कार, अंतिम यात्रा में तख्तियों के माध्यम से किया मौन विरोध

Rakesh kumar Verma | Publish: Sep, 03 2018 09:49:17 AM (IST) Pratapgarh, Rajasthan, India

प्रशासन रहा पूरी तरह मुस्तैद

वृद्ध दृष्टिहीन शिक्षक की मौत का मामला
छोटीसादड़ी नगर के आर्य समाज उच्च माध्यमिक विद्यालय में एक सितम्बर को हुई आचार्य रामप्रकाश की संदिग्ध मौत के बाद परिजनों से सम्पर्क नहीं हो पाया।इस पर पुलिस-प्रशासन ने पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया है।
यहां विद्यालय में गत चार वर्ष से शिक्षक रामप्रसाद आर्य अध्ययन करा रहे थे। एक सितम्बर सुबह उनका शव खिडक़ी से लटका मिला।घटना के बाद पुलिस ने रामप्रकाश का शव पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवाया गया था। पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम भी करवा लिया था।लेकिन परिजनों से संपर्क करने के काफी प्रयास किया। लेकिन परिजनों का कोई पता नहीं लगने पर रविवार को राजनीतिक दलों के सदस्यों, आर्य समाज के सदस्यों व नगरवासियों को प्रशासन की मौजूदगी में अंतिम संस्कार के लिए सुपुर्द किया गया।
रविवार को तहसीलदार गणेशलाल पांचाल, नायब तहसीलदार गोपाललाल मेघवाल, जांच अधिकारी उंकारसिंह सहित पुलिस जाप्ता की मौजूदगी में दोपहर को मोर्चरी से आचार्य रामप्रकाश की शवयात्रा मोक्ष धाम के लिए रवाना हुई। शवयात्रा में पीछे लोग तख्तियां लेकर घटना का मौन विरोध कर रहे थे। तख्तियों पर पर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। अंतिम संस्कार हिंदू रीति-रिवाज के अनुसार किया गया। जिसमें ओंकार माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य शंकरसिंह चौहान, आर्य समाज संस्था के मंत्री सुरेश गुजराती, पूर्व पार्षद सुरेश साहू, आर्य समाज के पूर्व प्रधान प्यारचंद साहू, समरथमल आर्य, प्रकाश आर्य, काशीराम शर्मा, महेश शर्मा, पूर्व पालिकाध्यक्ष श्याम सुंदर अग्रवाल, नगर कांग्रेस अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा, पूर्व पार्षद भरत वैष्णव, मनीष उपाध्याय, पूर्व नगर युवक कांग्रेस अध्यक्ष माणक वैष्णव सहित नगर के सैंकड़ों लोगों ने आचार्य रामप्रकाश को श्रद्धांजलि दी।
दोपहर 2 बजे चित्तौड़ एवं प्रतापगढ़ की एफ एस एल की टीमों ने आर्य समाज माध्यमिक विद्यालय में घटनास्थल का गहन निरीक्षण कर घटना की बारीकी से जांच पड़ताल की। इस दौरान मामले के अनुसंधान अधिकारी ओंकारसिंह एफएसएल टीम में एमओबी प्रभारी दीपक शर्मा, डी एफबी प्रभारी चिमनलाल मीणा, शंकरलाल मेनारिया, सीआईडी प्रभारी यमनेश शर्मा, एफएसएल चित्तौडगढ़़ के प्रभारी डॉक्टर सुरेशचंद ने घटनास्थल का मौका मुआयना कर लोगों से कई जानकारियां ली।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned