कुछ दिनों में चालू हो जाएगी नई पाइप लाइन

- जलदाय विभाग ने कहा- अब 48 घंटे के अंतराल में आएगा पानी

By: Ram Sharma

Published: 10 Mar 2019, 11:42 AM IST

प्रतापगढ़. शहर में आगामी 8-10 दिन में नई पाइप लाइन से जलापूर्ति शुरू हो जाएगी। इसके बाद 72 घंटे के अंतराल से आ रहे नल 48 घंटे के अंतराल में आने लगेंगे। जलदाय विभाग के सहायक अभियंता ने शनिवार को यह जानकारी दी।
गौरतलब है कि जलसंकट को लेकर राजस्थान पत्रिका ने शनिवार के अंक में ‘जिले में पानी को लेकर अभी से समस्या’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। इसमें बताया गया था कि जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रों में जलसंकट सामने आने लगा है। शहर में स्थिति ज्यादा खराब है। यहां 7-7 दिन में पानी सप्लाई हो रहा है।
इस पर जलदाय विभाग ने सक्रियता दिखाई। उन्होंने माना कि शहर में जल संकट है, लेकिन यह थोड़े दिन में ठीक हो जाएगा। विभाग के सहायक अभियंता ने शनिवार को बताया कि वर्तमान में प्रतापगढ़ में पेयजल आपूर्ति के लिए जाखम बांध स्थित इंटेक वेल से प्रतापगढ़ तक जल उत्पादन पुरानी राइजिंग पाइपलाइन द्वारा किया जा रहा है। यह आपूर्ति शहर की जल मांग के अनुसार बहुत कम है। इससे शहर में पेयजल आपूर्ति 72-96 घंटे के अंतराल में की जा रही है। शहरी पुनर्गठन पेयजल योजना के अंतर्गत जाखम इंटेक से प्रतापगह तक नई राइजिंग पाइपलाइन बिछा दी गई है, परंतु कुछ वाल्व का कार्य शेष होने के कारण लगभग 8-10 दिनों में नई पाइपलाइन चालू कर दी जाएगी। इसके बाद शहर में पेयजल आपूर्ति 48-72 घंटे के अंतराल मे की जा सकेगी।
कच्ची बस्ती में भी पानी की परेशानी
शहर के बगवास स्थित कच्ची बस्ती में भी पानी की समस्या बनी हुई है। कच्ची बस्ती में कई हैंडपम्प खराब होने के कारण काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। यहां के निवासियों को पानी के लिए २ से ३ किलोमीटर तक इधर-उधर भटक कर पानी लाने पर मजबूर है।

5 से 10 मिनट होती है पानी की सप्लाई
विभाग की ओर से शहर में कई कॉलोनियों में 5 से 6 दिनों में मात्र 5 से 10 मिनट पानी की सप्लार्ई हो रही है। वह भी बारिश के बाद से लगातार बदबूदार व गंदा पानी लोगों को मिल रहा है। ऐसे में लोगों को केवल पीने का पानी ही मिल पा रहा है और अन्य कार्यों के लिए पानी खरीदना पड़ रहा है।

Ram Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned