दिखाया रुझाान, खेतों की मेड़ पर लगाए पौधे

दिखाया रुझाान, खेतों की मेड़ पर लगाए पौधे

Rakesh kumar Verma | Publish: Nov, 10 2018 11:08:22 AM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 11:08:23 AM (IST) Pratapgarh, Rajasthan, India

जिले में 423 किसानों ने लगाए 60 हजार पौधे

प्रतापगढ़ जिले में राष्ट्रीय टिकाïऊ खेती मिशन (एनएमएसए) के तहत कृषि वानिकी सब मिशन(एसएमएएफ) को लेकर किसानों का रुझान दिखा है। जिले में 71 हजार के मुकाबले 60 हजार पौधें किसानों ने खेतों की मेड़ पर लगाए है। जिले में 423 किसानों ने अपने मेड़ पर ये पौधे लगाए हैं। जो अभी लहलहा रहे है।
कृषि वानिकी सब मिशन के तहत सरकार की ओर से राष्ट्रीय टिकाïऊ खेती मिशन (एनएमएसए) के तहत कृषि वानिकी सब मिशन(एसएमएएफ) शुरू की गई थी। योजना के तहत कृषि भूमि पर वृक्ष आच्छादित कर कृषि आय के साथ पूरक रूप में कार्य करना है। इसके तहत किसानों को अपने खेतों की मेड़ पर छायादार और फलदार पौधे लगाकर बड़े होने तक सुरक्षा करनी है। योजना के तहत जिले को 71 हजार पौधों का लक्ष्य मिला था।इसके तहत किसानों को लागत का 50 प्रतिशत तक अनुदान का प्रावधान है। इसे आगामी चार वर्षों में 40, 20, 20, 20 के अनुपात में भुगतान किया जाएगा।जिले में किसानों ने 60 हजार पौधे लगाए है। ऐसे में इन पौधों से खेतों की मेड़ पर पौधे अभी लहलहा रहे हैं।
इन प्रजातियों के पौधे लगाए
योजना में कई फलदार और छायादार पेड़ को शामिल किया गया था। जिसमें आम, जामून, बिल्वपत्र, अमरुद, शहतूत, अनार, आंवला, गूंदा, इमली, नींबू, करोंदा, बेर, सीताफल, खिरनी, बरगद, पीपल, सैंजना, नीम, करंज, सिरस, कदंब, महुआ, अर्जुन, सागवान, बांस, गुलमोहर, अमलतास, कचनार, अशोक, चंदन आदि शामिल के पौधे किसानों ने लगाए है।
यह होगा फायदा
इस योजना के तहत पौधे लगाने से काफी फायदा होगा। पौधे लगाने के बाद वृक्ष आच्छादन बढ़ेगा।वहीं कार्बन उत्र्सजन को कम करना, मृदा में जैविक तत्वों की वृद्धि, गुणवत्तायुक्त रोपण सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करना, जीवन स्तर में सुधार, फसल एवं फसल पद्धति द्वारा उत्पादकता वृद्धि और सूचना तंत्र का विकास होगा।

किसानों को अच्छा रुझान रहा
खेतों की मेड़ पर पौधे लगाने को लेकर जिले में किसानों का रुझान अच्छा रहा है।
जिले को इस योजना में 71 हजार पौधों का लक्ष्य मिला था।इसके मुकाबले जिले में किसानों ने 60 हजार पौधे लगाए है। अभी इन पौधों से खेतों की मेड़ पर अच्छी अवस्था में है।
नानूराम मीणा
उप निदेशक, कृषि विस्तार, प्रतापगढ़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned