VIDEO: सास-बहू के झगड़े पहुंचे तलाक तक, समझाया तो पिघली रिश्तों पर जमी बर्फ, 6 दम्पती मिले

-राष्ट्रीय लोक अदालत का हुआ आयोजन

By: Rakesh Verma

Published: 13 Jan 2019, 11:01 AM IST

प्रतापगढ़. विवादों को निपटारा समझाइश वार्ता के माध्यम से किए जान को लेकर राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण राजेन्द्र कुमार शर्मा के मार्ग दर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के बैनर तले एडीएआर में लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें वर्षों से तलाक के मामलों में समझाइश कर 6 जोडों को फिर से गले मिलाया।
लोक अदालत में पति-पत्नी के झगड़ों के साथ बैंक ऋण सहित कई मामलों पर आपसी सहमति के साथ मामलों निस्तारण किया गया। लोक अदालत में सास-बहू के झगड़े के साथ पारिवारिक, आपस में विचार नहीं मिलने के कारण छह जोड़ों में आपसी मनमुटाव होने के कारण कई वर्षों से अलग रह रहे थे। राष्ट्रीय लोक अदालत में न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय बैंच अध्यक्षा आशा कुमारी एवं सदस्य अधिवक्ता देवेन्द्र अहिवासी ने निस्तारण कर छह जोड़ों को समझाइश कर उनके माता-पिता व सास-ससुर की मौजूदगी में मामलों का निराकरण कर फिर से एक किया। राजीनामे पर अपने हस्ताक्षर करते हुए, राजीखुशी, साथ-साथ जीवन यापन के लिए एडीआर सेन्टर से प्रस्थान किया।
इन छह दाम्पत्य जीवन की हुई पुनस्र्थापना
राष्ट्रीय लोक अदालत में 6 जोड़ों को एक किया गया।जिसमे गोपाल-शारदा जो 3 साल से एक दूसरे से अलग थे। वहीं सुनील-सुधा जो 6 माह से अलग थे। धनराज-कुसहाली, राजू-गंगाबाई व दिपक-चेतना भी एक दूसरे से 3 साल से अलग रह रहे थे। मनीष व अनुराधा करीब 3 साल से अलग रह रहे है। जिन्होंने लव मैरीज की थी। जिनके दो बच्चियां है, एक बच्ची अपनी मां के पास व दूसरी बड़ी बच्ची अपने पिता के पास रहती थी। मामले में पत्नी की ओर से अपनी बड़ी बच्ची को अपने पति के पास से लेने को लेकर न्यायालय की शरण ली थी। लेकिन लोक अदालत में दोनों में आपसी समझाइश कर दोनों के दाम्पत्य जीवन की पुनस्र्थापना की।
निरक्षर को सिखाए हस्ताक्षर
लोक अदालत में जिला एवं सेशन न्यायाधीशन ने विद्युत निगम के लंबित एक प्रकरण में प्रार्थी सिकन्दर जो की निरक्षर था। अपने हस्ताक्षर भी नहीं कर सकता था। जिसे अपने समक्ष बैठाकर हस्ताक्षर करना सिखाया और राजीनामे पर दस्तखत करवाए। विद्युत निगम से पीओ राजेश कुमार जोशी मौजूद थे।

इनकी सहभागिता में हुई लोक अदालत
लोक अदालत में प्रथम में अध्यक्ष राजेन्द्र कुमार शर्मा, जिला एवं सेशन न्यायाधीश एवं सदस्य अधिवक्ता अजय पिछोलिया, बैंच द्वितीय में अध्यक्ष न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय आशा कुमारी एवं सदस्य अधिवक्ता देवेन्द्र अहिवासी, बैंच तृतीय में अध्यक्ष महेन्द्र कुमार मेहता न्यायाधीश मोटरयान दुर्घटना दावा अधिकरण, एवं सदस्य अधिवक्ता गोपाल टांक, बैंच चतुर्थ में अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वैष्णव सचिव जिला विधिक सेवा प्रधिकरण, सदस्य अधिवक्ता अजीत कुमार मोदी, बैंच पंचम में अध्यक्ष हेमराज मीणा मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एवं सदस्य अधिवक्ता रविन्द्र कुमार सर्राफ, बैंच षष्ठम में अध्यक्ष कुमकुमसिंह अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अरनोद एवं सदस्य विजय लक्ष्मी आर्य तथा बैंच सप्तम में अध्यक्ष कृष्ण कुमार अहारी एवं सदस्य अधिवक्ता अरूण पण्ड्या की सक्रिय सहभागिता में सम्पन्न हुआ।
लोक अदालत में हुए राजीनामे
राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें कई बैंक, पारिवारीक मामले सहित ऐसे मामले जो राजीनामा से निस्तारित हो सकता है। वहीं छह जोड़े जो आपस में विवाद चल रहा था, जिसके कारण बच्चे भी अलग रह रहे थे। राजीनामा से छह जोड़ों को समझइश कर पुन: एक किया है।
लक्ष्मीकांत वैष्णव, प्राधिकरण सचिव, प्रतापगढ़

 


लोक अदालत में हुआ 8 4 प्रकरणों का निस्तारण
छोटीसादड़ी न्यायालय परिसर में न्यायिक मजिस्ट्रेट देवेन्द्र सिंह पंवार ने राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत में पक्षकारों के मध्य विवाद के निपटारे को लेकर देवेन्द्र सिंह पंवार तथा लोक अदालत बैंच के सदस्य पृथ्वीराज रेगर एवं मुबारिक हुसैन तथा अन्य अधिवक्ताओं ने पक्षकारों के बीच समझाईश की गई।
लोक अदालत के कुल 8 4 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। जिसमें 33 प्रकरण प्रिलिटिगेशन के तहत निस्तारित कर 7 लाख 73 हजार 18 8 रूपये राशि के समझौता किए गए। साथ ही न्यायालय में लंबित 51 प्रकरणों में वसूली कार्यवाही के तहत निस्तारण तथा वैवाहिक व दाण्डिक शमनीय मामलों का सहमति कर निस्तारण किया गया। लोक अदालत में विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि एवं राजेश मंगरोरा, प्रकाश चन्द्र साहू, संजय खिमेसरा, राधावल्लभ सिंघल, धर्मचन्द नागोरी, धर्मचन्द नाहर, चन्द्रशेखर शर्मा, जगदीश राव मराठा, सुरेन्द्रसिंह चौहान, पप्पू वैष्णव, मुबारिक हुसैन, रोहिताश्व पंचोली, अनिल सिंघल, कमलेश सुथार, राकेश जाटव, अशोक जाटव, समरथ साहू, पृथ्वीराज रेगर, गोपाललाल गुर्जर, उमेश वया, रामप्रसाद जणवा, आशीष शर्मा, राजेन्द्र मालवीय, नवीन जोशी, चन्द्रशेखर यादव आदि मौजूद थे।

Rakesh Verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned