गुड़ सप्लाई के टेंडर में अनियमितता का मामला गूंजा सदन में, भाजपा नेताओं ने किया वाक आउट

सिंह ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ये उचित नहीं है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा में बार-बार इन तरह से प्रधानमंत्री का नाम लिया जाए। ये सदन है। सड़क पर हो रही सभा नहीं है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 27 Nov 2019, 02:51 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा सीत कालीन सत्र में बस्तर में गुड़ सप्लाई के टेंडर में अनियमितता का मामला गूंजता रहा। रमन सिंह ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि स्थानीय उत्पादकों से गुड़ लिया जाएगा लेकिन इसके लिए कौन क्वालीफाई कर सकेगा इसके लिए क्या शर्त रखी गई है। इस बारे में सरकार ने कुछ नहीं बताया है। जिसे गुड़ सप्लाई का काम सरकार ने दिया है वो ऑटोमोबाइल व्यापारी है।

दो डिप्टी कलेक्टर के बाद भाजपा के कद्दावर नेता को मिली जान से मारने की धमकी

अभी टेंडर की प्रक्रिया चल रही है लेकिन मुख्यमंत्री और खाद्य मंत्री की तस्वीरे लगे बैग छपवा दिए गए। पूरा छत्तीसगढ़ जानता है कि आटोमोबाइल का काम करने वाले व्यक्ति को यह काम दिया जा रहा है। क्या वह गुड़ में डीजल डालकर बेचेगा। नागरिक आपूर्ति निगम को सीधे ठेकेदार का नाम दिया गया है।

अजय चंद्राकर ने कांग्रेस को बताया विकलांग तो मुख्यमंत्री ने कहा- मां की गाली बर्दास्त नहीं

उनके सवालों का जवाब देते हुए खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि इस टेंडर को हम निरस्त नहीं कर सकते। केंद्र की एजेंसी से हम खरीदी कर रहे हैं। पहले भी ऐसा होता रहा है। प्रधानमंत्री सुन लेंगे तो आप पर नाराज होंगे। टेंडर में गुजरात के लोगों ने भी हिस्सा लिया है।

उनकी इस बात पर रमन सिंह ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ये उचित नहीं है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा में बार-बार इन तरह से प्रधानमंत्री का नाम लिया जाए। ये सदन है। सड़क पर हो रही सभा नहीं है।

ये भी पढ़ें: मोबाइल फोन पाने के लिए बेटे ने पिता को पीट-पीट कर मार डाला

Show More
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
अगली कहानी
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned