scriptPanchkoshi Yatra of Mother Narmada from November 18, preparations comp | मां नर्मदा की पंचकोशी यात्रा 18 नवंबर से, तैयारियां हुई पूरी | Patrika News

मां नर्मदा की पंचकोशी यात्रा 18 नवंबर से, तैयारियां हुई पूरी

शोकलपुर घाट से शुरू होगी पंचकोशी यात्रा

रायसेन

Published: November 17, 2021 07:54:38 pm

रायसेन. जनआस्था से जुड़ी मां नर्मदा की पंचकोशी यात्रा का आयोजन शोकलपुर घाट से किया जाता है। यात्रा को लेकर ग्रामीणों ने तैयारी शुरु कर दी है। 18 नवंबर को पंचकोशी यात्रा प्रारंभ होगी। इसमें पांच घाटों पर श्रद्धालु स्नान करेंगे। शोकलपुर, रिछावर, रामपुरा घाट, पतई घाट, उसराय आदि घाटों से होते हुए श्रद्धालु पैदल यात्रा पूरी करते हैं।

Panchkoshi Yatra

वहीं मंगलवार को थालादिघावन तहसीलदार सीजी गोस्वामी एवं थाना प्रभारी विमलेश राय ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया और नाव चालकों को आवश्यक निर्देश दिए। यात्रा के मार्गों पर होने वाली व्यवस्थाओं को समझा। तहसीलदार ने संबंधित पंचायत सचिवों को निर्देश देकर नर्मदा घाटों के रास्तों को दुरस्त कराया, जिससे श्रद्धालुओं को परेशानी ना हो और उनके वाहन नर्मदा तट तक सुगमता से पहुंच सकें।

Must See: बहन की शादी की खबर सुनकर भाई हुआ आग-बबूला, जीजा को धमकाया

पंचकोशी यात्रा मां नर्मदा के पांच घाटों की पूजा करते हुए पैदल की जाती है। इस वर्ष यात्रा में लगभग 25 से 40 हजार श्रद्धालु आने की संभावना है। यात्रा के बाद श्रद्धालु पुन: शोकलपुर घाट आकर रुकते हैं, जबकि शोकलपुर घाट पर पंचकोशी के बाद चार दिनों तक मेला लगा रहता और लोग दूर-दूर से आते हैं।

Must See: अब सोशल मीडिया से बिजली बिल की बकाया वसूली

शोकलपुर घाट पर है तीन नदियों का संगम
पूरे नर्मदा क्षेत्र में शोकलपुर घाट का विशेष महत्व है। नर्मदा पुराण में इसे शुक्लेश्वर के नाम से जाना जाता है। शोकलपुर घाट पर तीन नदियों का संगम होने से इसका महत्व अधिक बढ़ जाता है। संगम पर नीला जल दिखाई देता है। रामायण सहित अन्य ग्रंथों में नर्मदा के शोकलपुर घाट और पंचकोशी यात्रा का वर्णन है। इस घाट पर स्नान एवं पूजा पाठ करना शुभ माना जाता है। इसी कारण शोकलपुर घाट पर रायसेन, विदिशा, होशंगाबाद, नरसिंहपुर, सागर और भोपाल के श्रद्धालु स्नान करने आते हैं। घाट पर गुरु महाराज स्वामी की जीवित समाधि बनी है।

Must See: अब वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र दिखाने पर ही मिलेगा सरकारी योजनाओं का लाभ

क्षेत्र एवं दूरदराज के लोग अपनी मन्नतें लेकर गुरु महाराज के चरणों में आते हैं। तहसीलदार देवरी सीजी गोस्वामी ने बताया कि मंगलवार को शोकलपुर घाट पहुंचकर व्यवस्थाएं देखी और नाव चालकों को क्षमता से ज्यादा यात्री नहीं बैठाने की सख्त हिदायत दी गई। यात्रा के मार्गों को भी दुरुस्त कराया गया। मेले में लगने वाली दुकानों को व्यवस्थित रुप से लगवाने के निर्देश पंचायत सचिव को दिए गए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दम5G से विमानों को खतरा? Air India ने अमरीका जाने वाली कई उड़ानें रद्द कीPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामरोहित शर्मा को क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए टेस्ट कप्तान, सुनील गावस्कर ने समझाई बड़ी बातखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.