कंटेनमेंट एरिया की बैरिकेडिंग हटवा पहुंचे पूर्व मंत्री, सील एरिया में नियम ताक पर रख 'नेताजी' ने की बैठक

सत्ता की धौंस!

  • सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई ही, कंटेनमेंट एरिया के नियमों को भी तोड़ा
  • बीजेपी के पूर्व मंत्री केंद्र सरकार की छह साल की उपलब्धियां घूम घूमकर गिना रहे

इसे सत्ता की धौंस कहें या कोरोना संक्रमण के प्रति अज्ञानता कि प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाने निषिद्ध कंटेनमेंट क्षेत्र में पहुंच गए। इसकी परवाह भी नहीं किए कि वह अपना जीवन मुश्किल में डालने के साथ साथ अन्य लोगों की परेशानियां भी बढ़ा रहे। जिस कंटनेमेंट एरिया में किसी भी व्यक्ति का प्रवेश निषेध होता वहां पूर्व मंत्री ने पहुंचकर बैठक की, फोटो भी खिंचवाया। हालांकि, इस पूरे मामले से प्रशासन अनभिज्ञता जताते हुए पल्ला झाड़ ले रहा।
शुक्रवार को पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्त राजगढ़ पहुंचे। केंद्र सरकार का छह साल पूरा होने के बाद सरकार की उपलब्धियां बताने पहुंचे पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता कई कार्यक्रमों में शिरकत किया। राजगढ़ में वह वैश्य समाज के जिलाध्यक्ष केएन गुप्ता के घर भी पहुंचे। वहां समाज के लोगों की बैठक की। यह बैठक इसलिए अन्य कार्यक्रमों से महत्वपूर्ण है क्योंकि जिलाध्यक्ष केएन गुप्ता का घर कंटेनमेंट एरिया में है और इस एरिया में किसी का भी आना वर्जित है। यहां केवल आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति ही हो रही है।

Read this also: बेतवा बिरादरी के श्रमवीरों की कहानी, लेडी कलेक्टर का अभियान 17 साल बाद भी अनवरत

कंटेनमेंट एरिया की बैरिकेडिंग हटवा पहुंचे पूर्व मंत्री, सील एरिया में नियम ताक पर रख 'नेताजी' ने की बैठक

बैरिकेडिंग हटाई गई पूर्व मंत्री के लिए, पहुंचे बैठक किया

शुक्रवार को ही राजगढ़ में तीन कोरोना पाॅजिटिव मिले जिसमें दो ब्यावरा व एक राजगढ़ की शंकर काॅलोनी में रहने वाली एएनएम हैं। प्रशासन ने इस पूरे एरिया को सील किया हुआ है। लेकिन सत्ताधारी दल के नेताजी के लिए सबकुछ चलता है। पूर्व मंत्री और भाजपा नेता उमा शंकर गुप्ता कंटेनमेंट एरिया में बैरिकेट्स हटवा कर उनके घर बैठने पहुंचे। नेताजी का उस एरिया के एक होटल में स्वागत भी हुआ। फिर वैश्य समाज के जिलाध्यक्ष केएन गुप्ता अगुवाई करते हुए उनको अपने घर लेकर गए। गुप्ता के साथ पहुंचे सांसद प्रतिनिधि शैलेश गुप्ता और भाजपा के जिलाध्यक्ष दिलवर यादव यहां से सीधे कलेक्ट्रेट में आयोजित होने वाली बैठक में शामिल होने के लिए पहुंचे थे।

Read this also: मनरेगा में काम के लिए 25 हजार कमीशन, सांसद-विधायक को 25 प्रतिशत कमीशन चाहिए!

आम आदमी पर कार्रवाई, नेताजी के मामले में अनभिज्ञता

कंटेनमेंट एरिया में सत्ताधारी दल के नेता के पहुंचने, बैठक करने के मामले में प्रशासन चुप रहना ही मुनासिब समझ रहा है। ‘पत्रिका’ ने जब इस बाबत एसडीएम राजगढ़ श्रुति अग्रवाल से बात की तो उन्होंने बताया कि कंटेनमेंट एरिया में कोई भी आ जा नहीं सकता सिर्फ बहुत ज्यादा अति आवश्यकता की वस्तुएं ही वहां पहुंचाई जा सकती हैं। पूर्व मंत्री के वहां जाने के मामले पर उन्होंने साफ तौर पर अनभिज्ञता जताते हुए कहा कि वहां कोई पूर्व मंत्री गए हैं, इस संबंध में जानकारी नहीं है। मैं पता करके ही कुछ बता पाऊंगी।
उधर, राजगढ़ सांसद रोडमल नागर ने भी कंटेनमेंट एरिया में पूर्व मंत्री के जाने पर खुद को अनभिज्ञ बताया। उन्होंने बताया कि मैं उनके साथ एक बैठक में तो था लेकिन उसके बाद पूर्व मंत्री जी कहां गए, इसके संबंध में मुझे जानकारी नहीं है। कहा कि कंटेनमेंट एरिया में मैं उनके साथ नहीं गया था क्योंकि मुझे कलेक्ट्रेट में बैठक में शामिल होना था।

Read this also: कहीं दाने-दाने को मोहताज, कहीं बारिश में खराब हो रहा लाखों कुंतल अनाज

coronavirus
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned