वाहन पर लगा था उल्‍टा तिरंगा, परेड निरीक्षण पर निकले प्रभारी मंत्री, कांग्रेस ने कसा तंज

परेड निरीक्षण के दौरान प्रभारी मंत्री के वाहन पर लगा था उल्‍टा तिरंगा, कांग्रेस ने बताया राष्ट्रध्वज का अपमान।

By: Faiz

Published: 16 Aug 2021, 04:42 PM IST

राजगढ़। कोरोना की तमाम पाबंदियों के बीच देशभर में स्वतंत्रता दिवस जोशों खरोश से मनाया गया। इसी बीच मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले में 15 अगस्त के मुख्य समारोह के दौरान एक ऐसी घटना सामने आई, जिसे जिस किसी ने भी देखा, तो वो दंग रह गया। दरअसल, हुआ यूं कि, जिस वाहन पर सवार होकर मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के प्रभारी मंत्री डॉ मोहन यादव परेड का निरीक्षण कर रहे थे, उस वाहन पर उल्टा तिरंगा लगा हुआ था। मामले ने अब राजनीति तूल भी पकड़ लिया है। तो वहीं, जिम्‍मेदारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जा रही है।

 

पढ़ें ये खास खबर- आज सावन सोमवार की आखिरी सवारी पर महाकाल : हाथी पर सवार होकर नगर भ्रमण पर निकले बाबा


कांग्रेस ने कसा तंज

मामले को लेकर मध्य प्रदेश कांग्रेस की ओर से ट्वीट करते हुए कहा गया कि, फिर हुआ राष्ट्रीय ध्वज का अपमान: मध्यप्रदेश के राजगढ़ ज़िले में प्रभारी मंत्री, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक जिस गाड़ी में सवार हैं, उसमें ही राष्ट्रीय ध्वज उल्टा लगा हुआ है। शिवराज जी, राष्ट्रध्वज के अपमान की आदत क्यों?

 

पढ़ें ये खास खबर- मध्य प्रदेश का 'फौजी गांव': यहां हर दूसरे घर में रहता है एक फौजी, लड़कियां भी हैं BSF और CRPF में


ये था मामला

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मुख्य समारोह पुलिस परेड ग्राउंड पर रखा गया था। कार्यक्रम के दौरान परेड के निरीक्षण के लिए जिस चार पहिया वाहन को सजाया गया था। जिम्मेदारों ने उस वाहन को सजाते हुए उसपर तिरंगा भी लगाया गया था, लेकिन खास बात ये कि उस गाड़ी पर जो तिरंगा लगा था, वो उल्टा था। तिरंगे का केसरिया रंग सबसे ऊपर होने की बजाए सबसे नीचे नजर आ रहा था।

 

पढ़ें ये खास खबर- स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने के बाद लगे भड़काऊ नारों से दो पक्षों में झड़प, पथराव में 2 घायल


अंत तक किसी ने भी नहीं दिया ध्यान

गाड़ी पर सवार होकर राजगढ़ जिले के प्रभारी मंत्री डॉ मोहन यादव, कलेक्टर नीरज कुमार सिंह व एसपी प्रदीप शर्मा सवार थे। उल्टे तिरंगे लगे वाहन पर मंत्री यादव द्वारा बाकायदा पूरी परेड का निरीक्षण भी कर लिया गया। खास बात ये है कि, मंत्री जी की तस्वीरें तो, चारों ओर से ली जा रही थीं, लेकिन तिरंगे की तरफ किसी भी जिम्मेदार का ध्यान नहीं गया। इतना ही नहीं पूरा आयोजन ही खत्म हो गया, सभी गणमान्य लौट गए, लेकिन जिप्सी पर लगा उलटा तिरंगा जस का तस ही रहा। फिलहाल, अब मामले के तूल पकड़ने के बाद उम्मीद जताई जा रही है कि, जिम्मेदार अधिकारी या कर्मचारी पर गाज गिर सकती है।

 

मध्य प्रदेश में कृषि कानून का विरोध - देखें Video

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned