script आंगनबाड़ी के सेप्टिक टैंक में गिरकर मासूम की मौत, खेलने के दौरान हुआ हादसा...छाया कोहराम | Innocent died after falling into septic tank in Dongargaon | Patrika News

आंगनबाड़ी के सेप्टिक टैंक में गिरकर मासूम की मौत, खेलने के दौरान हुआ हादसा...छाया कोहराम

locationराजनंदगांवPublished: Nov 23, 2023 02:27:43 pm

Submitted by:

Khyati Parihar

Rajnandgaon News: थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम आसरा में एक ढाई साल के मासूम की सेप्टिक टैंक में गिरने से मौत हो गई।

Innocent died after falling into septic tank in Dongargaon
सेप्टिक टैंक में गिरकर मासूम की मौत
डोंगरगांव। Child Drowning In Septic Tank: : थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम आसरा में एक ढाई साल के मासूम की सेप्टिक टैंक में गिरने से मौत हो गई। आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 5 में पढ़ने वाला ढाई साल का बच्चा भरत पिता सतीश कंवर आंगनबाड़ी केन्द्र्र गया था, जहां वह खेलते-खेलते 10 फीट गहरे सेप्टिक टैंक के पास पहुंच गया। वह बच्चा उसमें गिर गया। यह घटना बुधवार 22 नवंबर के दोपहर डेढ़ बजे की है। कलक्टर डोमन सिंह ने घटना की जांच कराने की बात कही है।
इस दौरान जब बच्चा सेप्टिक टैंक में गिरा तब आंगनबाड़ी के आसपास उसके बड़े दादा भी मौजूद थे। जैसे ही बच्चों के गिरने की जानकारी मिली। वे तुरंत पहुंचे और डूबे हुए बच्चे को निकाला। ग्रामीण और परिजनों की मदद से तत्काल इलाज के लिए बच्चे को डोंगरगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं बच्चे का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।
यह भी पढ़ें

पनौती' वाले बयान पर भाजपा ने कांग्रेस पर किया पलटवार, बोले- छत्तीसगढ़ सरकार ही जिम्मेदार...

इस बड़ी घटना में बड़ी लापरवाही सामने आई है। आंगनबाड़ी संचालन के समय सेप्टिक टैंक का ढक्कन कैसे खुला रह गया और इस संबंध में आसपास के लोग या आंगनबाड़ी के कार्यकर्ताओं ने इसकी जानकारी सरपंच या संबंधित अधिकारियों को क्यों नहीं दी। जिम्मेदार लोगों की लापरवाही के चलते एक बच्चे की मृत्यु हो गई। इस बात पर भी विश्वास करना नामुमकिन है कि बच्चों खेलने-कूदने के स्थान में इस प्रकार लापरवाही कैसे बरती जा सकती है।
परिसर के पास की घटना

जिले में आंगनबाड़ी केन्द्र में हुए इस हादसे ने महिला एवं बाल विकास विभाग की लापरवाही को उजाकर कर दिया है जबकि केन्द्रों की मॉनीटरिंग के लिए मैदानी स्तर पर टीम बनी है। खबर है कि जिले में कई आंगनबाड़ी केन्द्र किराए के भवनों में संचालित किए जा रहे हैं। केन्द्रों में खेलने-कूदने लायक जगह भी नहीं है।
परिजन सदमें में, ग्रामीणों में रोष

इस हादसे से परिजनों का रो-रोककर बुरा हाल है तो वहीं ग्रामीणोें में रोष है। बताया गया कि ग्रामीणों ने जब टैंक के ढक्कर को लेकर पूछताछ की तो चोरी होना बताया गया है जबकि ढक्कर की चोरी कौन कर सकता है। ग्रामीणों ने हादसे पर नाराजगी जताई है।

ट्रेंडिंग वीडियो