VIDEO रेल कोच में रात बिताने का मिलेगा अवसर

हैरिटेज सेक्शन में रेलवे जल्दी ही यात्रियों को कालाकुंड-पातालपानी के बीच चलने वाले रेल काच में बनाए गए रेस्ट हाउस व स्विस टेंट की तरह बनने वाले रेस्ट हाउस में रात बिताने की सुविधा शुरू करने वाला है।

By: Ashish Pathak

Published: 07 Jul 2019, 10:23 AM IST

रतलाम. पश्चिम रेलवे की पहली हैरिटेज ट्रेन ( heritage train ) कालाकुंड पातालपानी के बीच चलती है। इस हैरिटेज सेक्शन में रेलवे जल्दी ही यात्रियों को कालाकुंड-पातालपानी के बीच चलने वाले रेल काच में बनाए गए रेस्ट हाउस व स्विस टेंट की तरह बनने वाले रेस्ट हाउस में रात बिताने की सुविधा शुरू करने वाला है। रेल अधिकारियों के अनुसार ये सुविधा इस माह शुरू हो सकती है। ये काम रेलवे व आईआरसीटीसी ( IRCTC ) मिलकर करेगा।

यह भी पढे़ं - रेलवे में निजीकरण नहीं होगा के दावे के बीच डीआरएम कार्यालय की सफाई निजी हाथ में

मानसून की शुरुआत होते ही रेलवे ने हैरिटेज ट्रेन को नियमित कर दिया है। शुरू में धीरे, लेकिन अब नियमित यात्री इस ट्रेन को मिल रहे है। फिलहाल ये ट्रेन एक फेरा लगाती है। मानसून की बारिश के बाद हरियाली होना शुरू हो गई है। इसी बीच आईआरसीटीसी ने स्विस टेंट की तरह कालाकुंड के करीब स्विस टेंट की तरह यात्रियों को रुकने की सुविधा देने जा रहा है। इसके लिए तैयारी पूरी हो गई है। रात में रुकने की सुविधा दी जाएगी। इसके लिए आईआरसीटीसी को रेलवे ने नदी किनारे स्थान भी उपलब्ध कराया है।

यह भी पढे़ं - VIDEO बरसते पानी में जमकर लगाए नारे

टेंडर निकालेगा आईआरसीटीसी
स्थान मिलने के बाद अब जल्दी ही आईआरसीटीसी इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया करेगा। दो रेल डिब्बे में रेस्ट हाउस भी कालकुंड में ही बनाए गए है। फिलहाल पर्यटकों के लिए खोला नहीं गया है। फिलहाल रेलवे ने रेल डिब्बे व स्विस टेंट की तरह बनने वाले स्थान पर रुकने का किराया तय नहीं किया है। इसमे एक डोरमेंट्री के साथ दो रेस्ट हाउस है। डोरमेंट्री का किराया 100 रुपए प्रति यात्री तो रेस्ट हाउस का किराया 2 हजार से लेकर 5 हजार रुपए तक हो सकता है।

यह भी पढे़ं - 149 वर्ष बाद बन रहा चंद्र ग्रहण पर दुर्लभ योग, आपकी राशि पर होगा इस तरह असर

बेहतर सुविधा देना चाहते

हमने कुछ दिन पूर्व इस स्थान का निरीक्षण किया था। हम यात्रियों को पर्यटन की दृष्टि से बेहतर सुविधा देना चाहते है। इसके लिए रात में भी रुकने की सुविधा कुछ दिन में शुरू की जाएगी।
- आरएन सुनकर, मंडल रेल प्रबंधक

यह भी पढे़ं - railway Budget 2019 रतलाम के लिए रेलवे में मिला खुशियों का खजाना

Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned