अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए जरुर करें ये एक काम

अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए जरुर करें ये एक काम

Tanvi Sharma | Publish: May, 05 2019 06:20:41 PM (IST) | Updated: May, 05 2019 06:20:43 PM (IST) धर्म

अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए जरुर करें ये एक काम

मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए लोग बहुत से उपाय करते हैं। वैसे तो शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी को समर्पित होता है और इस दिन लोग व्रत, उपवास पूजा पाठ भी करते हैं। लेकिन इसके अलावा भी साभर में कई ऐसे विशेष दिन आते हैं जिनमें माता लक्ष्मी को प्रसन्न किया जा सकता है और उनसे मनचाहा वरदान मांगा जा सकता है। सालभर में आने वाले उन्हीं विशेष दिनों में से एक अक्षय तृतीया का दिन है। अक्षय तृतीया के दिन लोग सोना खरीदते हैं और अक्षय पुण्य की प्राप्ति के लिए कई उपाय करते हैं। वहीं जो लोग धन-वैभव, सुख-समृद्धि आदि की कमी के कारण धनाभाव में जी रहे हैं और माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने का उपाय ढ़ूढ़ रहे हैं तो इस दिन श्री महालक्ष्मी अष्टकम् स्तोत्र का पाठ जरुर करें, आपको लाभ जरुर होगा। क्योंकि देवी मां महालक्ष्मी को श्री महालक्ष्मी अष्टकम् स्तोत्र पाठ बहुत प्रिय है।

akshay tritiya 2019

श्री महालक्ष्मी अष्टकम् स्तोत्र पाठ

श्री गणेशाय नमः

नमस्तेस्तु महामाये श्री पीठे सुर पूजिते!
शंख चक्र गदा हस्ते महालक्ष्मी नमोस्तुते!!
नमस्तेतु गरुदारुढै कोलासुर भयंकरी!
सर्वपाप हरे देवी महालक्ष्मी नमोस्तुते!!

सर्वज्ञे सर्व वरदे सर्व दुष्ट भयंकरी!
सर्वदुख हरे देवी महालक्ष्मी नमोस्तुते!!

सिद्धि बुद्धि प्रदे देवी भक्ति मुक्ति प्रदायनी!
मंत्र मुर्ते सदा देवी महालक्ष्मी नमोस्तुते!!
आध्यंतरहीते देवी आद्य शक्ति महेश्वरी!
योगजे योग सम्भुते महालक्ष्मी नमोस्तुते!!

स्थूल सुक्ष्मे महारोद्रे महाशक्ति महोदरे!
महापाप हरे देवी महालक्ष्मी नमोस्तुते!!

पद्मासन स्थिते देवी परब्रह्म स्वरूपिणी!
परमेशी जगत माता महालक्ष्मी नमोस्तुते!!
श्वेताम्भर धरे देवी नानालन्कार भुषिते!
जगत स्थिते जगंमाते महालक्ष्मी नमोस्तुते!!

महालक्ष्मी अष्टक स्तोत्रं य: पठेत भक्तिमान्नर:!
सर्वसिद्धि मवाप्नोती राज्यम् प्राप्नोति सर्वदा!!

एक कालम पठेनित्यम महापापविनाशनम!
द्विकालम य: पठेनित्यम धनधान्यम समन्वित:!!
त्रिकालम य: पठेनित्यम महाशत्रुविनाषम!
महालक्ष्मी भवेनित्यम प्रसंनाम वरदाम शुभाम!!

।।इतिंद्रकृत श्रीमहालक्ष्म्यष्टकस्तव: संपूर्ण:।।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned