कोरोना से हुई व्यापारी की मौत तो पत्नी ने जहर खाकर दे दी जान, बेटियों का रो-रोकर बुरा हाल

बेटे की दो साल पहले मकान की छत से गिरकर हो गई थी मौत अब पति के अस्पताल में दम तोड़ देने के सदमें में पत्नी ने भी जहर खाकर दे दी जान घटना के बाद से परिवार में बची तीन बेटियों का रो-रोकर बुरा हाल

By: shivmani tyagi

Updated: 06 May 2021, 03:02 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

सहारनपुर Saharanpur यह घटना आपके ह्दय को झकझोर देगी। शहर के एक कोरोना पीड़ित व्यापारी ने मेडिकल कॉलेज में उपचार को दौरान दम तोड़ दिया। पति की मौत death का सदमा पत्नी बर्दाश्त नहीं कर पाई और उसने भी जहरीला पदार्थ खाकर commit suicide जान दे दी। व्यापारी के बेटे की करीब दो वर्ष पहले ही एक दुर्घटना में मौत हो चुकी है। अब परिवार में व्यापारी की सिर्फ तीन बेटियां daughters बची हैं। माता-पिता की मौत के बाद से इनका भी रो-रोकर बुरा हाल है।

यह भी पढ़ें: मिसाल: कोरोना पॉजिटिव महिला को किसी ने नहीं दिया कंधा तो एंबुलेंस चालक ने किया अंतिम संस्कार

डिंपल गुर्जर मूल रूप से रामपुर-मनिहारान क्षेत्र के गांव जंधेड़ा के रहने वाले थे। उनके बड़े भाई संजय वर्मा ( गुर्जर ) ने बताया कि उनकी कोर्ट रोड पर डीआईजी ऑफिस के पास फोटो-स्टेट की शॉप है। वह कई वर्षों से परिवार के साथ कोतवाली सदर बाजार क्षेत्र की पंजाबी कालोनी में रह रहे थे। डिंपल के बेटे की करीब दो वर्ष पहले छत से गिरकर मौत हो गई थी। तीन दिन पहले डिंपल को कोरोना होने पर पिलखनी स्थित सहारनपुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। मंगलवार देर रात उपचार के दौरान डिंपल कोरोना वायरस से जंग हार गए और उनकी मौत हो गई। यह खबर जैसे ही पंजाबी बाग में घर पर मौजूद पत्नी सुनिता को चली वह इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाई।

यह भी पढ़ें: काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट ने कोरोना मरीजों की मदद के लिये खोला खजाना

पति की मौत हो जाने की खबर से बौखलाई पत्नी ने घर में रखा जहरीला पदार्ख खा लिया। इस बात का पता चलते ही परिवार में कोहराम मच गया। आनन-फानन में परिजन सुनिता को लेकर दिल्ली रोड स्थित एक प्राईवेट अस्पताल में लेकर पहुंचे लेकिन डॉक्टर सुनिता को बचा नहीं सके। कुछ ही देर बाद सुनिता ने भी दम तोड़ दिया। सुनिता की सबसे छोटी बेटी करीब डेढ़ साल की है। व्यापारी और उनकी पत्नी की उम्र 35 से 40 के बीच ही थी। दंपति की मौत के बाद पूरे परिवार में कोहराम मचा हुआ है। इस घटना के बाद से अब तीनों बेटियों का रो-रोकर बुरा हाल है। सबसे छोटी बेटी को अभी यह भी समझ नहीं है उसके सिर से मा-बांप का साया उठ गया है।

यह भी पढ़े: एक रुपया खर्च नहीं होगा, बढ़ जाएगी आपके पंखे की रफ्तार और घट जाएगा बिजली बिल

यह भी पढ़े: अगर आपको भी आजकल कुछ भी छूने से लग रहा है करंट ताे जान लीजिए इसकी वजह
यह भी पढ़े: पंचायत चुनाव में सवा करोड़ वाली मर्सिडीज से पर्चा दाखिल करने पहुंचा गांव का प्रत्याशी

Corona virus
Show More
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned