कांग्रेस नेता के बेटे ने किया युवक पर जानलेवा हमला! बेहोश हालत में अस्पताल के बाहर छोड़कर भागे

-कांग्रेस नेता के बेटे पर युवक से जानलेवा हमले का आरोप
-अस्पताल के बाहर बेहोशी हालत में छोड़कर भागे
-उमा रेसीडेंसी में दिया वारदात को अंजाम
-आधी रात को पीड़ित के पुलिस ने दर्ज किए बयान

By: Faiz

Published: 08 Nov 2020, 02:08 PM IST

सतना/ मध्य प्रदेश के सतना में कांग्रेस नेता और कारोबारी अनिल अग्रहरि उर्फ शिवा के बेटों पर जानलेवा हमला करने का आरोप है। कोलगवां थाना क्षेत्र के होटल उमा रेसीडेंसी में शनिवार की रात करीब 9 बजे ये मामला सामने आया है। घटना के बाद आरोपियों में से ही एक ने घायल को बेहोश अवस्था में अस्पताल के बाहर छोड़कर भाग निकला।

 

देखें खबर से संबंधित वीडियो...

तनख्वाह के पैसे मांगने पर की मारपीट

जानकारी के मुताबिक, शहर के डालीबाबा पंजाबी कॉलोनी निवासी 28 वर्षीय सौरभ सोनी पुत्र भोले सोनी पर हमला हुआ है। पीड़ित ने पुलिस को दिये बयान के मुताबिक, वो शिवा अग्रहरि की रेत खदान में चार महीने से काम कर रहा है, जिसका एक महीने का वेतन 15 हजार रुपए लेने के लिए मालिक से संपर्क किया, तो कांग्रेस नेता शिवा के पुत्र श्रेयस अग्रहरि ने फोन कर होटल उमा रेसीडेंसी में हिसाब करने बुलाया। होटल पहुंचने पर श्रेयश ने बाथरूम जाने को कहा और फिर अचानक श्रेयश, प्रियश अग्रहरि समेत वहां मौजूद चार से पांच अन्य लोगों ने उसपर हमला कर दिया। पीड़ित का आरोप है कि, उसपर बेस बॉल के बेट, रॉड और धारदार हथियार से हमला किया गया है।

 

पढ़ें ये खास खबर- MP में 10 हजार मरीजों पर सिर्फ 4 डॉक्टर, 1250 मरीजों के लिए सिर्फ 1 बिस्तर, चौंका देंगे ये आंकड़े


आरोपियों ने छीन लिया युवक का फोन

हमले के बाद पुष्पेंद्र त्रिपाठी नाम का युवक बिड़ला अस्पताल में सौरभ को छोड़कर भाग निकला। आरोप है कि, पुष्पेंद्र ने ही सौरभ का मोबाइल फोन भी रख लिया था, ताकि वो इस दौरान किसी से संपर्क न कर सके। होश आने पर सौरभ ने अपने भाई को फोन कर अस्पताल बुलवाया।


त्योहार के चलते मांग रहा था वेतन

घायल युवक का कहना है कि वह अनिल उर्फ शिवा अग्रहरि की बैतूल स्थित खदान में काम करता है। सुबह करीब 7 बजे ही वो बैतूल से लौटा और त्योहार मनाने के लिए वेतन लेने का प्रयास कर रहा था। इस दौरान श्रेयश का फोन आने पर वो होटल उमा रेसीडेंसी चला गया।

 

पढ़ें ये खास खबर- एक दिन पहले तेंदुए को जंगल से रेस्क्यू कर जू में छोड़ा, अगले दिन संदिग्ध मौत


गबन का लगाया आरोप

घायल सौरभ का कहना है कि, जब वो वेतन लेने होटल पहुंचा तो उस पर एक लाख 10 हजार रुपए के गबन का आरोप लगाने लगे। सौरभ ने बताया कि, उसने किसी तरह की राशि गबन नहीं की है, वो हमेशा इमानदारी से अपना काम करता रहा है। लेकिन कुछ कर्मचारियों के कहने पर उसके ऊपर आरोप लगने लगा।


अस्पताल पहुंची भीड़

घटना की सूचना मिलने पर स्वर्णकार समाज और व्यापारी वर्ग से जुड़े कई व्यक्ति जिला अस्पताल पहुंचे। जहां सभी आक्रोशित नजर आए। रात को ही तय किया गया कि, सुबह होते ही पुलिस अधीक्षक से आरोपियों के खिलाफ अविलंब गिरफ्तारी की मांग करेंगे।

 

पढ़ें ये खास खबर- राजधानी फिर शर्मसार : नाबालिग साली के साथ जीजा ने किया दुष्कर्म, धमकाते हुए बोला- दीदी को बताया तो...


बयान के बाद एफआइआर

कोलगवां थाना से उप निरीक्षक रीता त्रिपाठी जिला अस्पताल पहुंचीं। उनके साथ सहायक उप निरीक्षक राकेश मिश्रा भी ते। एसआइ त्रिपाठी ने पीड़ित के बयान दर्ज करते हुए पूरा घटनाक्रम लेख किया और फिर पीड़ित पक्ष के सदस्यों को अपने साथ थाने ले जाकर एफआइआर दर्ज कराई।

Congress leader
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned