scriptlistening to fluent English realize he is not beggar he was scientist | जिसे समझा भिखारी वो निकला रॉकेट साइंस का वैज्ञानिक, फर्राटेदार इंग्लिश सुनकर उड़े होश | Patrika News

जिसे समझा भिखारी वो निकला रॉकेट साइंस का वैज्ञानिक, फर्राटेदार इंग्लिश सुनकर उड़े होश

पत्नी के साथ हाथ गाड़ी खींचते हुए देशभर के धार्मिक स्थलों की यात्रा पर निकले हैं...

सतना

Published: June 07, 2022 08:29:14 pm

सतना. गरीब मजदूर की तरह दिखने वाले दंपती चित्रकूट-सतना रोड पर हाथ गाड़ी खींचते हुए चले आ रहे थे और एक गुमटी में रुककर रात्रि विश्राम के लिए कोई जगह पूछ रहे थे। दोनों को देखकर लोग उन्हें भिखारी समझ बैठे लेकिन जैसे ही उन्होंने गुमटी में बैठकर टूटी फूटी हिन्दी और शानदार अंग्रेजी में अपनी बात की तो लोग हैरान रह गए और जब उनका परिचय पूछा तो पता चला कि जिसे वो भिखारी समझ रहे थे वो लंदन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ा हुआ है और रॉकेट साइंस में वैज्ञानिक रह चुका है।

satna.jpg

4 महीने में तय किया 3742 किमी. का सफर
फर्राटेदार इंग्लिश में बात करते देख जब लोगों ने बुजुर्ग से उनका परिचय पूछा तो उन्होंने बताया कि उनका नाम डॉ देव उपाध्याय है जो लंदन ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से एस्ट्रोनॉमी में पीएचडी किए हुए हैं और राकेट साइंस में कैल्कुलेशन का काम देखने वाले वैज्ञानिक हैं। इसके अलावा बायोलॉजी में भी सिद्धहस्थ हैं। वहीं उनके साथ चल रही उनकी पत्नी डॉ. सरोज उपाध्याय लंदन से साइकोलॉजी में पीएचडी हैं। उन्होंने बताया कि वो इस समय हिन्दुस्तान एक संकल्प के तहत धर्मयात्रा पर हैं। प्रतिदिन औसत 20 से 25 किलोमीटर पैदल चलते हैं। अब तक 3742 किलोमीटर का पैदल सफर कर चुके हैं और उनका यह क्रम 4 महीने दो दिन से चल रहा है।

यह भी पढ़ें

मौत के 16 साल बाद पत्नी को मिला पति का डेथ सर्टिफिकेट, जानिए क्या है पूरा मामला

satna_2.jpg

आंखों में नजर आना बंद हुआ
डॉ देव ने बताया कि जब वे अपनी कैंसर पीड़ित मां की लास्ट स्टेज में सेवा के लिए पहुंचे और उनके निधन के बाद जब भारत में रुके थे, उसी दौरान उनकी आंखों की रोशनी जाती रही। तब इलाज के पहले पत्नी ने भगवान कृष्ण से प्रार्थना की। काफी मुश्किल माने जाने वाला आपरेशन सफल रहा। उसके बाद से वे अपनी पत्नी के साथ देश के धर्मस्थलों की यात्रा पर निकल गए। उन्होंने कहा कि भारत एक संस्कारों में बंधा देश है जो परिवार को जोड़ता है। इसी खूबी से विदेश के लोग इस ओर रुचि दिखा रहे हैं। बताया कि अपनी पेंशन पूरी पेंशन नेत्रहीनों के लिये काम करने वाली संस्था को दे देते हैं। सिर्फ अपनी आय के 10 फीसदी हिस्से से अपना खर्च चलाते हैं।

यह भी पढ़ें

फिल्मी स्टाइल में रात में लड़की के घर जाकर किया प्यार का इजहार, अब संबंध बनाकर शादी से इंकार




3 महीने की उम्र में मां की दोस्त ने लिया था गोद
डॉ देव ने बताया कि जब वे 3 महीने के थे तब उनकी मां की दोस्त ने उन्हें गोद ले लिया था और उन्हें लेकर इंग्लैंड चली गई थीं। इसके बाद ल्यूटोन में उन्होंने स्कूलिंग करने के बाद ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से कॉलेज की पढ़ाई पूरी की। बचपन से खगोल विज्ञान में रुचि होने के कारण उन्होंने खगोल विज्ञान में ही पीएचडी की। इसी दौरान साइकोलॉजी से पीएचडी कर रही सरोज उपाध्याय से उनका परिचय हुआ और उनसे शादी कर ली। डॉ देव ने बताया कि वे वायु में मौजूद कणों के जरिये परिणाणु हथियारों की तीव्रता कम करने पर भी काम कर चुके हैं। साथ ही राकेट साइंस में भी बतौर वैज्ञानिक काम किया है। हालांकि गोपनीयता की शर्तों के कारण उन्होंने प्रोजेक्ट और स्थल का नाम सार्वजनिक नहीं किया। अपने कामकाजी दोस्तों में उन्होंने कल्पना चावला का नाम लेते हुए स्पेस में जाने से पहले हुई चर्चा का भी जिक्र किया। दक्षिण अफ्रीका में अपने एक प्रोजेक्ट के संबंध में बताया कि उस प्रोजेक्ट से मेडिकल साइंस को पैरालिसिस स्ट्रोक के संबंध में उपचार का रास्ता खुला था। जिस पर जीव विज्ञानियों की लैब ने आगे काम किया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने 'जिंदा लाश' वाले बयान पर दी सफाई, बोले-उनका जमीर मर गया है, तो उसके बाद क्या बचता है?Presidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.