अनूठा प्रेमः घर में ही बना दिया पत्नी का मंदिर

कोरोना संक्रमण से हुई थी, बेटों के साथ मिलकर की प्रतिमा की स्थापना

By: Hitendra Sharma

Published: 25 Sep 2021, 11:25 AM IST

पीयूष भावसार
शाजापुर. जिला मुख्यालय से 3 किमी दूर ग्राम सांपखेड़ा में पहला ऐसा मामला सामने आया है, जहां पत्नी की मात के बाद पति ने बेटों के साथ मिलकर पतली का मंदिर बनवा दिया। घर के बाहर बने मंदिर में दिवंगत पत्नी की तीन फीट ऊंचाई वाली बैठी हुई प्रतिमा स्थापित की है। प्रतिदिन बेटे अपनी मां को यहीं पर निहारकर तसल्ली करते हैं।

सांपखेड़ा निवासी बंजारा समाज के नारायंणसिंह राठौड़ पनी पतली ओर बेटों के साथ परिवार सहित रहते थे। बेटे मां को देवी तुल्य समझते थे, लेकिन संक्रमणकाल में गीताबाई की कोरोना से मौत हो गई। अहमेशा मां के साए में रह रहे बेटे मां की कमी को सहन नहीं कर पा रहे थे।

Must See: IPL में इस सलामी बल्लेबाज की पारी देखकर शाहरुख ने कहा 'वाह'

तीसरे पर दिया प्रतिमा बनाने का ऑर्डर
बेटे लकी ने बताया, मां के चले जाने से पूरा परिवार टूट गया था। ऐसे में सभी ने मां की प्रतिमा बनवाने का निर्णय लिया। तीसरे के दिन 29 अप्रैल को उनकी प्रतिमा बनवाने का ऑर्डर अलवर राजस्थान के कलाकारों को दे दिया। करीब डेढ़ माह बाद प्रतिमा बनकर तैयार हुई, जिसे घर पर ले आए।

Must See: शिक्षा नीतिः अब पहले साल से ही करनी होगी इंटर्नशिप

विधिवत प्राण-प्रतिष्ठा
बेटे ने बताया कि मां की प्रतिमा घर पर आई तो एक दिन घर में रखा। इसी दौरान घर के बाहर मुख्य दरवाजे के पास प्रतिमा की स्थापना के लिए चबूतरा बनवाया। दूसरे दिन विधिवत प्रतिमा की प्राण- प्रतिष्ठा की गई। अब वह प्रतिदिन सुबह उठते ही अपनी मां को देख लेता है।
Must See: अब महाकाल मंदिर में अमीर भक्तों को मिलेगी विशेष सुविधा

wife_temple_inside.png
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned