Khatu Mela 2019: कोलकाता के रंग बिरंगे फूलों में सजे श्याम सरकार, खाटूश्याम बाबा के दरबार में उमड़े श्रद्धालु

पैदल आस्यां ओ सांवरिया थारी खाटू नगरी....आयो फागण मळो बाबो मारे हेलो... जैसे श्याम भजन खाटूधाम की गली गली में गूंजने लगे हैं।

By: Vinod Chauhan

Updated: 10 Mar 2019, 07:06 PM IST

खाटूश्यामजी.

पैदल आस्यां ओ सांवरिया थारी खाटू नगरी....आयो फागण मळो बाबो मारे हेलो... जैसे श्याम भजन खाटूधाम की गली गली में गूंजने लगे हैं। रंग रंगीले श्याम भक्त हाथों में श्याम निशान लिए जयकारे लगाते हुए खाटू नगरी के फाल्गुनी लक्खी मेले में लखदातार के दर्शन करते नजर आ रहे हैं। बाबा श्याम का दस दिवसीय लक्खी मेला शनिवार से विधिवत रूप से शुरू हो गया है। बाबा श्याम को कोलकाता के विशेष फूलों से शृंगारित किया गया है। रींगस से पदयात्राएं शुरू हो गई हैं। लोग हाथों में श्याम निशान लिए बाबा की दरबार की ओर बढ़ते नजर आ रहे हैं। डीजे बंद होने के कारण श्रद्धालु ढोल नगाड़ों पर नाचते गाते श्याम दरबार की और आ रहे है। मेला 18 मार्च तक चलेगा।

 

पैदल आस्यां ओ सांवरिया थारी खाटू नगरी....आयो फागण मळो बाबो मारे हेलो... जैसे श्याम भजन खाटूधाम की गली गली में गूंजने लगे हैं।

रंग बिरंगे फूलों से सजे बाबा श्याम
श्याम बाबा के लक्खी मेले के पहले दिन बाबा श्याम को अनेक प्रकार के सुगंधित फूलों से सजाया गया। गुलाब, मोगरे सहित हरे, नीले आदि रंग बिरंगे फूलों से श्याम सरकार का श्रृंगार किया गया।रींगस से खाटूधाम तक पदयात्रियों व पेटपळानिया वालों की लम्बी कतारें लगी हुई है। पदयात्राओं में श्याम स्वरूपों की झांकियों का भी दौर शुरू हो गया है। अधिकतर श्याम भक्त कोलकाता, मुम्बई, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब सहित अनेक राज्यों से है। इनमें से कई भक्त ऐसे भी है जो धुलण्डी तक रुकते हैं। मेले में बाजार में दुकानें सज गई हैं। खाटू की अधिकांश होटले और धर्मशालाएं लगभग एक महीने पहले ही बुक हो चूकी हैं।

 रंग बिरंगे फूलों से सजे बाबा श्याम श्याम बाबा के लक्खी मेले के पहले दिन बाबा श्याम को अनेक प्रकार के सुगंधित फूलों से सजाया गया। गुलाब, मोगरे सहित हरे, नीले आदि रंग बिरंगे फूलों से श्याम सरकार का श्रृंगार किया गया।रींगस से खाटूधाम तक पदयात्रियों व पेटपळानिया वालों की लम्बी कतारें लगी हुई है। पदयात्राओं में श्याम स्वरूपों की झांकियों का भी दौर शुरू हो गया है। अधिकतर श्याम भक्त कोलकाता, मुम्बई, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब सहित अनेक राज्यों से है। इनमें से कई भक्त ऐसे भी है जो धुलण्डी तक रुकते हैं। मेले में बाजार में दुकानें सज गई हैं। खाटू की अधिकांश होटले और धर्मशालाएं लगभग एक महीने पहले ही बुक हो चूकी हैं।   रींगस से लगने लगी भक्तों की कतार रींगस. बाबा श्याक का वार्षिक लक्खी मेला शनिवार से प्रारम्भ हो गया है। मेले के पहले दिन ही बाबा श्याम के दरबार में हाजिरी लगाने वाले हजारों श्याम भक्तों की रींगस-खाटूश्यामजी मार्ग पर कतार लगनी शुरू हो गई है। रींगस दरबार में हाजिरी लगाने के बाद श्याम भक्त पैदल निशान लेकर नाचते गाते खाटूधाम के लिए जा रहे हैं जिससे पूरा खाटूश्यामजी सडक़ मार्ग श्याम रंग में रंगने लग गया है। वहीं भक्तों की सेवा के लिए भी पूरे मेला मार्ग में भण्डारे लगने शुरू हो गए। हालांकि मेले में प्रशासन ने छाया पानी व शौचालयों की व्यवस्था नहीं की जिससे श्रद्धालु परेशान हो रहे हैं। रींगस खाटूश्यामजी सडक़ मार्ग पर सडक़ किनारे लगा खुला ट्रांसफार्मर भी हादसों को न्योता दे रहा है। इस ट्रांसफार्मर के चारों ओर सुरक्षा दिवार या जाली न होने के कारण रात्रि के अंधेरे में कोई भी बड़ा हादसा हो सकता है। कस्बे के लोगों ने भी विद्युत विभाग को अनेक बार समस्या से अवगत करवाया है लेकिन विभाग द्वारा ना ट्रांसफार्मर को दूसरी जगह लगाया गया है और ना ही उसके चारों ओर सुरक्षा दीवार बनाई गई है।   एक यात्रा बाबा के रास्ते की सफाई के नाम रींगस से खाटूश्यामजी पैदल जा रहे यात्रियों की सेवा के लिए श्री श्याम दीवाने कीर्तन मण्डली सुरत द्वारा स्वच्छ खाटू अभियान के तहत सफाई यात्रा भी निकाली जा रही है। इस मण्डली के हरीश माली, भावना पटेल, अशोक शर्मा, वीना शर्मा, रंजना मोदी, अमित डागा, बलवीर सहित करीब दो दर्जन से अधिक सदस्यों द्वारा रींगस से खाटूश्यामजी तक झाडू लगाकर व रास्ते के कंकड पत्थर हटाते हुए यात्रा की जा रही है। मण्डली के सदस्यों ने बताया कि रास्ते में जहां गड्ढे बने हैं वहां उनके द्वारा मिट्टी डालकर मार्ग को सुगम बनाया जा रहा है।

रींगस से लगने लगी भक्तों की कतार
रींगस. बाबा श्याक का वार्षिक लक्खी मेला शनिवार से प्रारम्भ हो गया है। मेले के पहले दिन ही बाबा श्याम के दरबार में हाजिरी लगाने वाले हजारों श्याम भक्तों की रींगस-खाटूश्यामजी मार्ग पर कतार लगनी शुरू हो गई है। रींगस दरबार में हाजिरी लगाने के बाद श्याम भक्त पैदल निशान लेकर नाचते गाते खाटूधाम के लिए जा रहे हैं जिससे पूरा खाटूश्यामजी सडक़ मार्ग श्याम रंग में रंगने लग गया है। वहीं भक्तों की सेवा के लिए भी पूरे मेला मार्ग में भण्डारे लगने शुरू हो गए। हालांकि मेले में प्रशासन ने छाया पानी व शौचालयों की व्यवस्था नहीं की जिससे श्रद्धालु परेशान हो रहे हैं। रींगस खाटूश्यामजी सडक़ मार्ग पर सडक़ किनारे लगा खुला ट्रांसफार्मर भी हादसों को न्योता दे रहा है। इस ट्रांसफार्मर के चारों ओर सुरक्षा दिवार या जाली न होने के कारण रात्रि के अंधेरे में कोई भी बड़ा हादसा हो सकता है। कस्बे के लोगों ने भी विद्युत विभाग को अनेक बार समस्या से अवगत करवाया है लेकिन विभाग द्वारा ना ट्रांसफार्मर को दूसरी जगह लगाया गया है और ना ही उसके चारों ओर सुरक्षा दीवार बनाई गई है।

पैदल आस्यां ओ सांवरिया थारी खाटू नगरी....आयो फागण मळो बाबो मारे हेलो... जैसे श्याम भजन खाटूधाम की गली गली में गूंजने लगे हैं।Khatu Mela 2019: कोलकाता के रंग बिरंगे फूलों में सजे श्याम सरकार, दरबार में उमड़े श्रद्धालु

एक यात्रा बाबा के रास्ते की सफाई के नाम
रींगस से खाटूश्यामजी पैदल जा रहे यात्रियों की सेवा के लिए श्री श्याम दीवाने कीर्तन मण्डली सुरत द्वारा स्वच्छ खाटू अभियान के तहत सफाई यात्रा भी निकाली जा रही है। इस मण्डली के हरीश माली, भावना पटेल, अशोक शर्मा, वीना शर्मा, रंजना मोदी, अमित डागा, बलवीर सहित करीब दो दर्जन से अधिक सदस्यों द्वारा रींगस से खाटूश्यामजी तक झाडू लगाकर व रास्ते के कंकड पत्थर हटाते हुए यात्रा की जा रही है। मण्डली के सदस्यों ने बताया कि रास्ते में जहां गड्ढे बने हैं वहां उनके द्वारा मिट्टी डालकर मार्ग को सुगम बनाया जा रहा है।

Show More
Vinod Chauhan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned