सीकर में 2 हजार दुकानों व मकानों में घुसा पानी, पुलिस को जारी करना पड़ा है इस खास जगह का अलर्ट

सीकर में 2 हजार दुकानों व मकानों में घुसा पानी, पुलिस को जारी करना पड़ा है इस खास जगह का अलर्ट

vishwanath saini | Publish: Jul, 13 2018 02:41:41 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

सीकर. शहर सहित जिले में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन भी बरसात हुई। बारिश से मन मयूरा नाच उठा। तन मन प्रफुल्लित हो गए। किसानों के चेहरे खिल गए। गर्मी व उमस से परेशान हर किसी के चेहरों पर खुशियां छा गई। ऐसा लगा मानो चौमासा ही लग गया। फसलों को नया जीवनदान मिल रहा है तो बुवाई का रकबा भी बढ़ रहा है। जिन किसानों ने अभी तक बुवाई नहीं की थी वे बुवाई में जुट गए हैं।

 

sikar rain अलर्ट जारी : कलक्टर आवास व दर्जनों दुकानों में घुसा पानी, खण्डेला में पांच बाइक बही

 

सीकर में बुधवार को रात आठ बजे तक 24 घंटे में 82 एमएम बरसात दर्ज की गई। इधर बरसात के कारण जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल के घर में पानी घुस गया। नवलगढ़ रोड पर दुकानें आधी डूब गई। लाखों रुपए का नुकसान हो गया। पुलिस ने देर रात अलर्ट जारी किया कोई भी वाहन चालक नवलगढ़ रोड की तरफ नहीं जाएं। इधर करीब पंद्रह दिन बाद फिर से खाद-बीज की दुकानों पर भीड़ लगने लग गई है।

वहीं बरसात के साथ तेज हवा चलने के कारण कई जगह टीन शेड उड गए। वाहन चालकों को परेशानी हुई। इधर सीकर शहर में बरसात ने नवलगढ़ रोड व बजाज रोड पर पानी निकासी निकासी व्यवस्था की फिर पोल खोल दी। पानी भरने से आवागमन बाधित रहा। सीकर जयपुर रोड से रीको की तरफ जाने वाले मार्ग पर भी पानी भर गया। इस मार्ग के बीचों बीच तीन गड्ढे होने के कारण हर समय हादसे का खतरा रहता है।

पुलिस का अलर्ट
शाम को बरसात के बाद सीकर जिला पुलिस ने अलर्ट जारी किया। सभी वाट्सग्रुप व मीडिया के माध्यम से नवलगढ़ रोड की तरफ नहीं जाने का सुझाव दिया। शाम को सात बजे बाद फिर तेज बरसात होने पर नवलगढ़ रोड पर वाहनों का आवागमन रोक दिया गया।

झुंझुनूं बाइपास स्थित बगिया होटल से नवलगढ़ रोड की तरफ आने वाले वाहनों को पिपराली रोड की तरफ निकाला गया। वहीं सीकर शहर से नवलगढ़ रोड की तरफ जाने वाले वाहनों को पिपराली रोड की तरफ से झुझुंनूं की तरफ डायवर्ट किया गया। इधर पिपराली रोड पर बिजली तार टूटकर गिर गए। कई पेड की शाखाएं भी टूट गई।


लाखों का नुकसान
शहर में नवलगढ़ रोड पर रात नौ बजे तक घुटनों से ज्यादा तक पानी भर गया। वहां दुकानों में चार फीट तक पानी भर गया। इससे लाखों रुपए का नुकसान हो गया। दुकानदारों ने बताया कि हर वर्ष पानी निकासी के दावे किए जाते हैं, लेकिन यह दावे हकीकत में नहीं बदल रहे। यदि पानी की निकासी नहीं हुई तो शुक्रवार को भी दुकानें खुलने में समस्या आ सकती है।

बरसात का पानी जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल के आवास में भी घुस गया। बाद में सूचना पर रात को आपदा प्रबंधन के लिए रखे गए मिट्टी से भरे कट्टे उनके मुख्यद्वार के बाहर लगाए गए। इसके अलावा भी कई घरों में पानी भर गया। बजाज रोड पर भी पानी भर गया। डिपो के पास भी पानी भरने से आवागमन बाधित रहा।


चारे का संकट नहीं
बरसात होने से पशुओं के लिए चारे व पानी का संकट भी कम हो गया है। सूख चूकी घास फिर से उगने लगी है। जोहड़ों, एनीकट व तालाबों में पानी आ गया है। बरसात से वन्य जीवों को भी राहत मिली है।


पांच बाइक बही
जिले के खंडेला कस्बे में हुई तेज बरसात से पानी की अचानक तेज आवक हुई। इस कारण मार्ग में खड़ी पांच बाइक बह गई। यहां चौपड़ बाजार व मंडी बाजार में स्थित चार से पांच फीट तक ऊंची दुकानों में पानी घुस गया। यहां 25 एमए बरसात दर्ज की गई।


आधा शहर अंधेरे में
रखरखाव के नाम पर हर पांचवें दिन बिजली काटने वाले विद्युत निगम भी थोड़ी सी बारिश में जवाब दे गया। बरसात आते ही बिजली काट दी गई। इस कारण आधे से ज्यादा शहर अंधेरे में डूबा रहा। बिजली शाम के समय काटी गई इस कारण सबसे ज्यादा परेशानी गृहणियों को खाना बनाने में हुई।

इसके अलावा अनेक विद्यार्थी अपना होमवर्क नहीं कर सके। पुलिस कांस्टेबल भर्ती की तैयारी कर रहे विद्यार्थी भी खूब परेशान नजर आए। लगातार कई घंटे तक बिजली नहीं आने के कारण अनेक मोबाइस डिसचार्ज हो गए। पंखे/ कूलर व एसी भी नहीं चले। इस कारण लोग गर्मी व उसम से परेशान रहे। कई जगह रोड लाइट भी बंद कर दी गई। पानी भरा होने के कारण पैदल चलने वालों को सबसे ज्यादा परेशानी हुई।

तीन दिन में यूं गिरा अधिकतम तापमान
तारीख तापमान
12 जुलाई 37.8
11 जुलाई 40.5
10 जुलाई 42.8


प्रमुख कस्बे बरसात एमएम में
सीकर 82
श्रीमाधोपुर 25
खंडेला 25


बोई गई फसलों का प्रतिशत
बाजरा 87
ग्वार 57
मूंग 68
मोठ 93
मंूगफली 100


यूं मिलेगा फायदा


प्राकृतिक पळाव
नाइट्रोजन से बढ़वार
प्रति बीघा लागत घटेगी
उत्पादन में 45 फीसदी बढ़ोतरी
सबसे ज्यादा फायदा- बाजरा, मोठ व मूंगफली
नमी का प्रतिशत
दो दिन पहले 32
अब 88
जिले में किसान
5.5 लाख
खरीफ में बुवाई
3.75 लाख हैक्टेयर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned