चार बेटियों के सिर से उठ गया पिता का साया, अकाल मौत से परिवार में मचा कोहराम

Vinod Singh Chouhan | Publish: Mar, 19 2019 02:51:55 PM (IST) | Updated: Mar, 19 2019 07:12:13 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

28 वर्षीय मजदूर हीरालाल अपने पिता की इकलौती संतान था। जो अपने पीछे चार बेटियां छोडकऱ गया है। ऐसे में लापरवाही से हुई मौत से एक माता पिता का बुढ़ापे का सहारा और चार बेटियों से पिता का साया उठ गया।

सीकर।
सीकर जिले के नीमकाथाना में करंट की चपेट में आने से आज एक मजदूर की मौत हो गई। मृतक बांदरोल थानागाजी निवासी हीरालाल योगी था। जो नीमकाथाना के रामलीला मैदान में एक निर्माणाधीन मकान में काम कर रहा था। इसी दौरान अड्डे की जाली उठाते समय वह ऊपर से गुजर रही 11 हजार केवी लाइन को छू गया। जिससे जाली में करंट दौड़ गया और मजदूर उसकी चपेट में आ गया। घटना के बाद नजदीकी लोग मजदूर को राजकीय कपिल अस्पताल लेकर दौड़े। लेकिन, तब तक वह दम तोड़ चुका था। घटना के बाद से परिजन अस्पताल की मोर्चरी के सामने ही बैठे हैं। जहां भवन निर्माता को हादसे का जिम्मेदार बताते हुए परिजनों ने मृतक का शव उठाने से इन्कार कर दिया है। मामले में भवन निर्माण में बड़ी लापरवाही और नियमों की अनदेखी का मामला भी सामने आया है। भवन में निर्माण जहां पालिका नियमों के खिलाफ पाया गया। वहीं, बिजली निगम के मुताबिक हाइटेंशन लाइन को देखते हुए भवन निर्माता को पहले ही लाइन शिफ्ट कराने और सावधानी बरतने की हिदायत दी गई थी। लेकिन, उसने अनदेखी की। जिसका खामियाजा मजदूर को उठाना पड़ गया।

चार बेटियों के सिर से उठा पिता का साया
झकझोरने वाली बात यह भी है कि 28 वर्षीय मजदूर हीरालाल अपने पिता की इकलौती संतान था। जो अपने पीछे चार बेटियां छोडकऱ गया है। ऐसे में लापरवाही से हुई मौत से एक माता पिता का बुढ़ापे का सहारा और चार बेटियों से पिता का साया उठ गया। घटना के बाद घर में मातम छा गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned