शराब पर प्रिंट रेट से ज्यादा वसूली, जिम्मेदार मौन

- आबकारी नियमों की अवहेलना

By: mahesh parbat

Published: 15 Nov 2018, 02:36 PM IST

आबूरोड. शहर समेत पर्यटन स्थल माउंट आबू में ज्यादतर शराब दुकान पर दर सूची चस्पा नहीं है, जिससे सेल्समैन द्वारा मनमानी कीमत वसूली जा ही है। हर दुकान पर ठेकेदार व सेल्समैन की मुंहमांगी दर चल रही है, जिससे प्रत्येक अंग्रेजी ब्रांड की शराब पर ४० से ५० रुपए ज्यादा वसूले जा रहे हैं। आबकारी अधिनियम को दरकिनार कर ठेकेदार खुलेआम मर्जी की कीमत ले रहे हैं। फिर भी आबकारी महकमे द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इससे अफसरों की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं। यहां शराब ज्यादातर दुकान पर ग्राहकों से अधिक दाम वसूले जा रहे हैं, लेकिन न तो अधिकारी ध्यान दे रहे हैं और न ही कार्रवाई की जा रही है। ऐसे में ठेकेदार आसानी से ग्राहकों की जेब काट रहे हैं।
नहीं देते शिकायतों पर ध्यान
इन दिनों माउंट में सैलानियों की बूम चल रही है, ऐसे में आबूरोड समेत माउंट की दुकानों में यही स्थिति है। अधिकतम खुदरा मूल्य से ज्यादा दाम वसूल जाने के बावजूद अधिकारी मूकदर्शक बने हुए है। कई बार तो स्थानिय ज्यादा दरों की शिकायत करते है, फिर भी ध्यान नहीं देते। इस कारण ग्राहक शिकायत करने के बजाय ज्यादा दाम देने को विवश है।
दुकानों से रेट लिस्ट नदारद
प्रावधान के बावजूद दुकान के बाहर रेट लिस्ट नहीं लगाई जाती। इससे सेल्समैन ग्राहकों से मनमाने दाम वसूल रहे हैं। यहां गुजरात समेत अन्य स्थानों से आने वाले सैलानी जल्द बाजी में जो रुपए मांगते है, देकर रवाना होते है। जिसका कारण दूसरी दुकान पर भी ग्राहक को ज्यादा दाम देने पड़ेंगे। दाम को लेकर नियम-कायदे सिखाने पर सेल्समैन ग्राहक से झगड़े पर उतारू हो जाते है।
होटलों में भी परोसी जाती है शराब
आबूरोड के अधिकतर होटलों में शराब बेची तथा पिलाई जाती है, आचार सहिंता लगने के बाद सदर पुलिस ने भी एक दो होटलों से शराब की बोतलें जब्त की थी, लेकिन इस ओर आबकारी अधिकारियों को ध्यान नही जा रहा है।

mahesh parbat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned