निरीक्षण में खुली पोल: अनियमितता पर दो संस्था प्रधान को नोटिस, जांच होने तक रोका वेतन

Bharat kumar prajapat

Publish: Jul, 14 2018 11:05:12 AM (IST)

Sirohi, Rajasthan, India
निरीक्षण में खुली पोल: अनियमितता पर दो संस्था प्रधान को नोटिस, जांच होने तक रोका वेतन

- दो स्कूलों व तीन आंगनबाड़ी का निरीक्षण, खेजडिय़ा में कक्षा-कक्षों पर लगा था ताला

 

सिरोही. अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक) अशोकपालसिंह मीना ने शुक्रवार को जिले की तीन आंगनबाड़ी व दो स्कूलों का आकस्मिक निरीक्षण किया। दोनों स्कूल में गंभीर लापरवाही सामने आई। इस पर संस्था प्रधानों को नोटिस देकर सात दिन में जवाब मांगा है। जांच होने तक इनका और कुछ शिक्षकों का वेतन भी रोका गया है।
मीना ने बताया कि सुबह 8.15 बजे राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय खेजडिय़ा में कक्षा-कक्षों पर ताला लगा था। छात्र परिसर में खेल रहे थे। हालांकि शिक्षक उदयसिंह चौहान व हंसा मीणा मौजूद थे। वे प्रार्थना सभा करवा रहे थे। उसी दौरान संस्था प्रधान भूपेन्द्रसिंह, अंजू रमेशा, पुष्पा पारंगी, साजिदा प्रवीणा पहुंचे। इसके बाद कमरे खोले गए। उस दौरान एडीईओ ने कहा कि ऐसी गंभीर लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। सभी शिक्षकों व संस्था प्रधान को समय पर पहुंचने के लिए पाबंद किया। स्कूल परिसर में गंदगी पड़ी हुई थी। केसरपुरा पीईईओ को मामले की जांच कर तथ्यात्मक रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए। प्रकरण निस्तारण तक संस्था प्रधान व शिक्षकों के वेतन नहीं बनाने के निर्देश दिए।
उन्होंने बाद में प्राथमिक विद्यालय सूरजपुरा में उपस्थिति रजिस्ट्रर देखा। संस्था प्रधान महेन्द्र कुंवर ने शिक्षक मगसिंह का दो दिन का अवकाश स्वीकृत किया लेकिन बाद में ऑन ड्यूटी बताते हुए उपस्थिति रजिस्ट्रर में मार्क कर दिया। इस गंभीर प्रकरण को लेकर पीईईओ वेरा जेतपुरा को निर्देशित कर तथ्यात्मक रिपोर्ट पेश करने को कहा गया। साथ ही, प्रकरण निस्तारण तक वेतन नहीं बनाने के निर्देश दिए। वेरा रामपुरा, सूरजपुरा, धु्रबाना में आंगनबाड़ी पाठशाला का निरीक्षण किया गया। इसमें सारी व्यवस्था सही मिलीं। धु्रबाना आंगनबाड़ी में बैठक में चर्चा कर निर्देश दिए।

शिक्षा सुधार व सफाई के निर्देश
जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक) टीमाराम मीणा ने शुक्रवार को दो स्कूलों का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए। मीणा ने बताया कि राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सिरोडी में एसआईक्यूई के तहत संचालित गतिविधियों की जानकारी लेकर निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 1 से 5 तक के विद्यार्थियों का शिक्षण व्यवस्था में गुणात्मक व भौतिक सुधार लाया जाए। ताकि विद्यार्थी शारीरिक व मानसिक रूप से विकसित हो सकें। शिक्षकों को पूर्व तैयारी कर शिक्षण कार्य करने के निर्देश दिए। प्रधानाचार्य को नामांकन बढ़ाने के लिए कहा गया। वहीं भामाशाहों को प्रेरित कर स्कूल विकास में सहयोग करने पर चर्चा की गई। उधर राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय सिरोडी का भी निरीक्षण किया। परिसर में खड़ी झाडिय़ों को कटवाने के निर्देश दिए। बारिश के बाद पौधरोपण करने को कहा गया।

शिक्षकों की आंदोलन की चेतावनी
सिरोही. राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षक संघ की बैठक राजमाता धर्मशाला में शुक्रवार को प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. उदयसिंह की अध्यक्षता में हुई। इसमें मांगों को लेकर आंदोलन की तैयारी पर चर्चा की गई। टीएसपी क्षेत्र में कार्यरत शिक्षको को पदस्थापन उनकी परिवेदना एवं विकल्प के अनुसार नॉन टीएसपी में करने, 2012 एवं 2013 के शिक्षकों के प्रथम चयन एवं नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता का लाभ देने के लिए उच्च न्यायालय में याचिका दायर करने का निर्णय किया गया। बताया गया कि जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक कार्यालय में लेखापाल नहीं होने से चयनित वेतनमान के दर्जनों प्रकरण लम्बित हैं। इस पर प्रबोधकों के वरिष्ठता के दर्जनों न्यायिक प्रकरणों को लागू करवाने सहित मांगों को लेकर आन्दोलन की चेतावनी दी। नरेन्द्र परमार, वर्षा पुरोहित, नन्दा कुमारी, दर्शना कुमारी, भानू कुमारी, बसन्त रांगी, अशोक मीणा, दौलाराम, चन्दन कंवर, रामराज मीणा उपस्थित थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned