VIDEO रिश्वत लेने के मामले में एसीबी घर पहुंची तो तहसीलदार ने लाखों रुपए जलाए

- आंवला पेड़ों का ठेका आगे बढ़ाने की एवज में राजस्व निरीक्षक ने तहसीलदार के लिए एक लाख रुपए

- राजस्व निरीक्षक के बाद तहसीलदार भी गिरफ्तारए पौने घंटे मकान में बंद कियाए दरवाजा तोडकऱ घुसी एसीबी व पुलिस

By: Bharat kumar prajapat

Published: 25 Mar 2021, 08:45 AM IST

सिरोही. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने सिरोही जिले के स्वरूपगंज में बुधवार देर शाम एक लाख रुपए रिश्वत लेते राजस्व निरीक्षक ;आरआइद्ध पर्वतसिंह और फिर सिरोही में तहसीलदार कल्पेश जैन को गिरफ्तार किया। आरआइ को गिरफ्त में लेने के बाद एसीबी तहसीलदार के मकान पहुंची तो उसने खुद को मकान में बंद कर गैस के चूल्हे पर लाखों रुपए की गड्डियां जला दी। पुलिस की मदद से कटर से दरवाजा तोडकऱ एसीबी अंदर पहुंची तो लाखों रुपए की अध.जली मुद्रा जब्त की।
ब्यूरो के उप महानिरीक्षक डॉ विष्णुकांत के अनुसार सिरोही में सरकारी भूमि पर आंवला के पेड़ों से छाल उतारने के ठेके हो रखे हैं। नए वित्तीय वर्ष में पुराने ठेकेदार को ठेका जारी रखने की एवज में ठेकेदार से 5 लाख रुपए मांगे गए। इसके लिए सिरोही तहसीलदार कल्पेश जैन ने ठेकेदार से स्वरूपगंज के आरआइ पर्वतसिंह से मिलने के निर्देश दिए।
ठेकेदार ने आरआइ पर्वतसिंह से मुलाकात की तो तहसीलदार के लिए पांच लाख रुपए मांगे। दोनों में एक लाख रुपए रिश्वत तय हुई। ठेकेदार ने एसीबी से शिकायत की। गोपनीय सत्यापन कराए जाने पर आरआइ के तहसीलदार के लिए रिश्वत मांगने की पुष्टि हुई। वहींए तहसीलदार कल्पेश जैन का गोपनीय सत्यापन कराया तो उसने ठेका जारी रखने के लिए आरआइ से मिलने और उसके कहे अनुसार करने की पुष्टि हुई।
ऐसे में रिश्वत राशि लेने के लिए आरआइ ने ठेकेदार को बुधवार देर शाम कार्यालय से कुछ दूर हाइवे पर बुलायाए जहां ठेकेदार ने आरआइ को एक लाख रुपए दिए। इशारा मिलते ही एसीबी पाली के एएसपी नरपतचंद ने दबिश देकर आरआइ पर्वतसिंह को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।
उससे पूछताछ के बाद एसीबी की टीम सिरोही में तहसीलदार कल्पेश जैन के बंगले पहुंची। इसका पता लगते ही जैन ने खुद को मकान में बंद कर लिया। दरवाजा तोडकऱ अंदर घुसी एसीबी ने बाड़मेर जिले में बालोतरा निवासी तहसीलदार कल्पेश जैन को भी गिरफ्तार किया। मौके पर कार्रवाई चल रही है।

गैस चुल्हे पर गड्डियां जलाते मिला तहसीलदार
एसीबी अधिकारियों ने समझाइश कर दरवाजा खोलने का आग्रह कियाए लेकिन जैन ने दरवाजा नहीं खोला। एसीबी के आग्रह पर स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची। करीब पौने घंटे प्रयास के बाद पुलिस ने कटर से दरवाजा तुड़वाया। पुलिस व एसीबी अंदर पहुंची तो तहसीलदार कल्पेश जैन रसोई में गैस के चुल्हे पर नोटों की गड्डियां जलाते मिला। लाखों रुपए की अधजली मुद्रा मौके पर मिली। जिन्हें जब्त किया गया। एसीबी को अंदेशा है कि 15.20 लाख रुपए जलाए गए हैं। यदि कटर से दरवाजा तोडकऱ अंदर नहीं पहुंचते तो सारे रुपए जला दिए जाते।

तहसीलदार के अधीन रह चुका है आरआइ
एसीबी का कहना है कि आरआइ पर्वतसिंह स्वरूपगंज से पहले सिरोही में पदस्थापित रहा था। तहसीलदार कल्पेश जैन के मातहत आरआइ कार्यरत था। स्वरूपगंज स्थानान्तरण होने के बाद भी वह तहसीलदार के लिए रिश्वत लेता रहा।

Bharat kumar prajapat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned