इस होनहार ने तीन साल की मेहनत के बाद बनाई पानी से चलने वाली मोटरसाइकिल, एक लीटर पानी में चलती है 35 किलोमीटर

इस होनहार ने तीन साल की मेहनत के बाद बनाई पानी से चलने वाली मोटरसाइकिल, एक लीटर पानी में चलती है 35 किलोमीटर

abdul bari | Publish: May, 04 2019 06:56:00 AM (IST) Sri Ganganagar, Sri Ganganagar, Rajasthan, India

मोटरसाइकिल की सीट पर पीछे की तरफ विशेष टंकी तैयार की है। इसमें पानी के अलावा दो रसायन वह डालता है। इनमें से एक किराना की दुकान पर आसानी से मिलता है और दूसरा हार्डवेयर की दुकानों पर उपलब्ध है।

श्रीगंगानगर।
यहां जन्मे ह्रिद्धिक शर्मा ने पानी से चलने वाली मोटरसाइकिल तैयार की है। इससे पहले वह तीन पहिये की बाइक, जिसे रफ्तार की खुशी (स्पीड जॉय) नाम दिया है तथा बैटरी से चलने वाला स्टेंडिंग स्कूटर भी बना चुका है। इन दिनों अपने के ब्लॉक स्थित ननिहाल आया हुया 22 वर्षीय ह्रिद्धिक शर्मा उर्फ राजा के नाना गोपाल शर्मा एवं नानी सुशीला देवी प्यार से उसे राजा ही बुलाते हैं।

मूल रूप से जोधपुर के ह्रिद्धिक का परिवार इस समय दिल्ली में है। पिता पवन शर्मा वहां वस्त्र व्यवसायी हैं, माता जया गृहिणी हैं। शर्मा ने जोधपुर से पॉलीटेक्निक से मेक्निकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया, अब जयपुर में ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के अंतिम वर्ष में पढ़ाई कर रहा है। ह्रिद्धिक ने बताया कि बचपन से कुछ नया करने की चाहत रही है, घर में खाली तो उससे बिलकुल नहीं बैठा जाता। कुछ समय पहले उसने अपनी तीन पहिये की बाइक स्पीड जॉय का जयपुर में प्रदर्शन किया तो खूब सराहना मिली। इसे 360 डिग्री पर भी घुमाया जा सकता है। बिजली से चार्ज होने वाली बैटरी से चलने वाला स्टेंडिंग स्कूटर भी बनाया है। इसमें बैटरी आगे पहिये पर लगी है।

शर्मा को वाहनों में ईंधन के बढ़ते खर्चे और बढ़ते प्रदूषण पर कैंची चलाने के लिए कुछ नया करने का ख्याल आया, तो 150 सीसी की एक पुराना मोटरसाइकिल लेकर उस पर लगभग दो साल प्रयोग करता रहा और आखिर इसे पानी से चलाने में सफलता हासिल की। ह्रिद्धिक के अनुसार मोटरसाइकिल की सीट पर पीछे की तरफ विशेष टंकी तैयार की है। इसमें पानी के अलावा दो रसायन वह डालता है। इनमें से एक किराना की दुकान पर आसानी से मिलता है और दूसरा हार्डवेयर की दुकानों पर उपलब्ध है।

यह मोटरसाइकिल सेल्फ स्टार्ट है, किक है ही नहीं। स्टार्ट करने के लिए भी पेट्रोल की एक बूंद तक की जरूरत नहीं पड़ती। एक लीटर पानी में लगभग 35 किलोमीटर चल जाती है, स्पीड आम तौर पर जितनी चाहे रखी जा सकती है। इसका पेटेन्ट करवाने की कार्यवाही चल रही है। शर्मा ने बताया कि पानी वाली मोटरसाइकिल तैयार करने के लिए करीब तीन साल तक शोध किया। कोई नया वाहन तैयार करने के लिए वह बड़ी कम्पनियों की तरह बकायदा पहले कागज पर स्केच तैयार करते हैं, उसके बाद कम्प्यूटर पर थ्री-डी मॉडल तैयार कर क्ले मॉडल बनाता है। उसके संसाधनों को सीमिति बताते हुए ह्रिद्धिक के मामा शिव शर्मा ने बताया कि कुछ नया करने का जुनून ऐसा है कि बस जुटा रहता है। कई बड़ी कम्पनियों ने ऑफर भी किया है लेकिन अभी तक कुछ तय नहीं किया है। ह्रिद्धिक ने बताया कि वह अपनी कम्पनी खड़ा कर उसके माध्यम से देश को सस्ते, पर्यावरण हितेषी और पूरी तरह सुरक्षित वाहन देना चाहता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned