दिव्यांगों को अब ईओ लाएंगे वोट डालने...निर्वाचन विभाग जुटा तैयारियों में

दिव्यांगों को अब ईओ लाएंगे वोट डालने...निर्वाचन विभाग जुटा तैयारियों में

Krishna Kumar Tanwar | Publish: Oct, 26 2018 07:07:05 PM (IST) | Updated: Oct, 26 2018 07:07:06 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

उदयपुर . चुनावों में अब तक दिव्यांगों को पार्टी कार्यकर्ता वोट डालने के लिए लाते और ले जाते थे लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। इस बार निर्वाचन विभाग ने एक विशेष प्रबंध किया है जिसके तहत ऐसे मतदाताओं को ले जाने का कार्य निर्वाचन आयोग (ईओ) करेगा। दिसम्बर में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर दिव्यांग मतदाताओं को घर से मतदान स्थल तक और मतदान स्थल से घर तक छोडऩे की व्यवस्था का पूरा रोड मेप निर्वाचन विभाग ने तैयार कर किया है। जिले में कुल 15901 मतदाता दिव्यांग हंै। जनसंख्या के अनुसार देश में कुल 2.21 प्रतिशत लोग दिव्यांग हैं। इनमें से 60 प्रतिशत लोगों को मताधिकार का अधिकार प्राप्त है। कई बार दिव्यांग सुविधाओं के अभाव में और मतदान केंद्रों पर होने वाली परेशानियों के चलते मतदान नहीं करते हैं। ऐसे में निर्वाचन विभाग ने दिव्यांगों की परेशानी कम करने के लिए अपने स्तर पर सुविधाएं देने के निर्देश दिए हैं। इन निर्देशों की पालना में चुनाव से जुड़े अधिकारियों ने अधिकतर तैयारियां पूरी कर ली है। दिव्यांगों को मतदान केंद्रों पर लाने ले जाने के साथ ही उनके लिए विविध प्रकार की सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाएंगी। दिव्यांग मतदाताओं को बूथ पर मतदान के लिए प्राथमिकता भी दी जाएगी।


ये मिलेंगी सुविधाएं
मतदान केंद्रों पर नेत्रहीन मतदाताओं के लिए ब्रेल लिपि की सुविधा रहेगी। इसके तहत जहां ब्रेल लिपि में तैयार मतदाता पर्ची दी जाएगी, वहीं ईवीएम के डिस्प्ले बटन भी ब्रेल लिपि में तैयार किए जा रहे हैं। इससे नेत्रहीन मतदाताओं को पढऩे में आसानी होगी। इसी प्रकार जिस बूथ पर 10 से चलन के दिव्यांग होंगे वहां व्हील चेयर की व्यवस्था भी रहेगी। इधर, अधिकतर बूथों पर रैंप और अन्य सुविधाएं भी विकसित की जा रही है।


स्काउट-गाइड करेंगे सहयोग
दिव्यांग और बुजुर्ग मतदाताओं का सहयोग जिले के स्काउट-गाइड भी करेंगे। सूत्रों के अनुसार जिले में करीब 2043 मतदान केंद्रों पर 2000 से अधिक स्काउट-गाइड और अन्य कार्यकर्ता मतदाताओं का सहयोग करेंगे। मतदान केंद्रों पर मतदान के लिए दिव्यांगों और बुजुर्गों को प्राथमिकता दी जाएगी।
&निर्वाचन विभाग के निर्देशों के अनुरूप जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी ईआरओ को निर्देश प्रदान किए हैं कि प्रत्येक बूथ पर रैंप की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। साथ ही आवश्यकतानुसार व्हील चेयर भी उपलब्ध करवाएं। दिव्यांग मतदाताओं को प्राथमिकता के आधार पर मतदान करवाने के भी निर्देश दिए गए हैं।
गिरीश भटनागर, नोडल अधिकारी दिव्यांगजन,
उपनिदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, उदयपुर


जिले में दिव्यांगों का ब्योरा
विधानसभा कुल मतदान केंद्र कुल दिव्यांग
उदयपुर शहर 216 810
उदयपुर ग्रामीण 268 1534
झाड़ोल 290 1722
खेरवाड़ा 323 2057
गोगुंदा 298 3573
मावली 266 2210
वल्लभनगर 283 1698
सलूंबर 299 2297


श्रेणीवार दिव्यांग मतदाता
विधानसभा चलन मूक-बधिर दृष्टि बाधित अन्य
उदयपुर शहर 495 183 71 63
उदयपुर ग्रामीण 1040 212 210 72
झाड़ोल 1101 202 232 187
खेरवाड़ा 1370 175 218 294
गोगुंदा 1853 558 658 504
मावली 1393 371 536 90
वल्लभनगर 1166 223 170 139
सलूंबर 1563 154 345 235

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned