पीएम मोदी को प्रत्याशी बनाने के बाद भी बीजेपी को इन सीटों पर नहीं मिल रहे उम्मीदवार

एक सीट सहयोगी दल से मिली है जबकि दूसरी सीट पर कद्दावर नेता ने किया है चुनाव नहीं लडऩे का ऐलान

By: Devesh Singh

Published: 10 Apr 2019, 12:23 PM IST

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी को प्रत्याशी बनाने के बाद भी बीजेपी को इन आठ सीटो पर प्रत्याशी नहीं मिल रहे हैं। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी लगतार बैठक कर रहे हैं लेकिन उन्हें अभी तक कोई ऐसा नाम नहीं मिला है जिससे वह प्रत्याशी बना सके। फिलहाल बीजेपी जल्द ही इन सीटों पर प्रत्याशियों की सूची जारी करने की बात कह रही है।
यह भी पढ़े:-निरहुआ के रोड शो में उमड़ी भीड़ से लगा सपा को झटका, अखिलेश यादव को मिलेगी कड़ी टक्कर




बीजेपी ने वर्ष 2014 की तरह पूर्वांचल व यूपी की सभी सीटो को साधने के लिए गुजरात के तत्कालीन सीएम नरेन्द्र मोदी को बनारस से चुनाव लड़ाया था। बीजेपी का दांव सफल साबित हुआ था और यूपी की 80 में से बीजेपी गठबंधन को73 सीट मिली थी। बीजेपी इसी सफलता को फिर से दोहराने के लिए पीएम नरेन्द्र मोदी को फिर से वाराणसी संसदीय सीट का प्रत्याशी बनाया है। बीजेपी ने होली के दिन पहली सूची जारी की थी जिसमे वाराणसी संसदीय सीट पर पीएम नरेन्द्र मोदी का नाम था। इसके बाद उम्मीद जगी थी कि बीजेपी पूर्वांचल की सभी सीटो पर जल्द ही प्रत्याशियों की सूची जारी कर देगी। प्रथम चरण का चुनाव होने में 24 घंटे से कम का समय बचा है इसके बाद भी बीजेपी आठ सीटो पर प्रत्याशी की सूची जारी नहीं कर पा रही है।
यह भी पढ़े:-बीजेपी अध्यक्ष ने पार्टी के संकल्प पत्र को लेकर किया बड़ा ऐलान, कहा पहली ऐसी सरकार है जिसने किया है यह काम

सीएम योगी आदित्यनाथ के गढ़ में हार के बाद प्रत्याशी उतारने में बीजेपी कर रही मंथन
सीएम योगी आदित्यनाथ का गढ कहे जाने वाली गोरखपुर सीट पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को करारी शिकस्त मिली थी। अखिलेश यादव व मायावती के गठबंधन के तहत निषाद पार्टी के प्रवीण निषाद ने इस सीट पर चुनाव जीता था। इसके बाद बीजेपी ने निषाद पार्टी को अपने पाले में कर लिया है। गोरखपुर सीट पर प्रत्याशी का चयन सीएम योगी आदित्यनाथ की सहमति से होना है ऐसे में प्रवीण निषाद को टिकट मिलता है या फिर अन्य किसी नेता को चुनाव लड़ाया जाता है इस पर बीजेपी निर्णय नहीं कर पा रही है।
यह भी पढ़े:-कपिल शर्मा के शो में निरहुआ का जाना पड़ गया भारी, सपा नेताओं ने थाने में दी तहरीर

बीजेपी के कद्दावर नेता के चुनाव नहीं लडऩे का ऐलान करने के बाद नहीं मिल रहा प्रत्याशी
देवरिया से बीजेपी के कद्दावर नेता कलराज मिश्रा का लोकसभा चुनाव 2019 नहीं लडऩे का ऐलान किया है जिसके बाद से बीजेपी लगातार जीताऊ प्रत्याशी खोज रही है। कलराज मिश्रा को ब्राह्मणों का बड़ा नेता माना जाता है ऐसे में बीजेपी अन्य किसी जाति के नेता को इस सीट से टिकट देकर ब्राह्मणों को नाराज नहीं कर सकती है। ऐसे में बीजेपी दमदार ब्राह्मण नेता खोज रही है जो कद्दावर नेता कलराज मिश्रा की जगह ले सके।
यह भी पढ़े:-निरहुआ ने छीना अखिलेश यादव का बड़ा मुद्दा, अब बेहद दिलचस्प हो जायेगा आजमगढ़ का चुनाव

बाहुबलियों के फेर में फंसी है यह तीन सीट
प्रतापगढ़, जौनपुर व भदोही की संसदीय सीट बाहुबलियों के फेर में फंसी है। प्रतापगढ़ संसदीय सीट पहले अनुप्रिया पटेल के अपना दल के खाते में थी लेकिन इस बार यह सीट बीजेपी के खाते में आयी है। अपना दल को प्रतापगढ़ की जगह राबर्ट्सगंज सीट दी गयी है। राजनीतिक जगत में इस बात की चर्चा रहती है कि इस सीट पर बाहुबली राजा भैया के प्रत्याशी को बीजेपी समर्थन दे सकती है। ऐसे में बीजेपी इस सीट को लेकर कोई निर्णय नहीं करती है तब तक अटकलो को बाजार गरम रहेगा। इसी तरह जौनपुर संसदीय सीट फंसी है। कभी इस सीट पर निषाद पार्टी के टिकट पर बाहुबली धनंजय सिंह के चुनाव लडऩे की चर्चा होती है तो कभी अन्य प्रत्याशी उतारने की बात होती है। ऐसे में बीजेपी जब तक इस सीट पर प्रत्याशी का ऐलान नहीं करती है तब तक स्थिति साफ नहीं होगी। भदोही से बीजेपी सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त को बलिया सीट का टिकट दिया गया है। इस सीट पर बाहुबली विजय मिश्रा के चुनाव लडऩे की चर्चा है। इस सीट पर भी बीजेपी ने अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं की है।
यह भी पढ़े:-आठ साल तक मृत रहा, अब पीएम नरेन्द्र मोदी के खिलाफ लड़ेंगे चुनाव

इन सीटों पर भी बीजेपी को नहीं मिल रहा प्रत्याशी
घोसी, अम्बेडकरनगर, व संत कबीरनगर से किसे चुनाव लड़ाना है यह बीजेपी तय नहीं कर पा रही है। घोसी सीट को बीजेपी के सहयोगी दल ओमप्रकाश राजभर की सुभासपा को देने की चर्चा रहती है। संत कबीरनगर के सांसद व विधायक के बीच हुई मारपीट के बाद बीजेपी की स्थिति और खराब हो गयी है। बीजेपी को समझ नहीं आ रहा है कि इन सीटों पर किसी चुनाव लड़ाया जाये। अब देखना है कि महागठबंधन के साथ राहुल गांधी व प्रियंका गांधी की कांग्रेस को चुनावी पटखनी देने का सपना देख रही बीजेपी को कब इन सीटों पर प्रत्याशी मिलते हैं।
यह भी पढ़े:-शिवपाल यादव को झटका देने के लिए अखिलेश यादव ने खेल दिया बड़ा दांव, सपा की बढ़ जायेगी ताकत

Amit Shah
Show More
Devesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned