Health Tips: ताजा हरी दूब शरीर को रखती है दुरुस्त

Weight Loss Tips: हरी दूब की कोमल पत्तियों को कई रोगों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है । इसकी ताजा पत्तियों को साबुत खाने के अलावा जूस...

By: Deovrat Singh

Published: 13 Sep 2021, 11:29 PM IST

Weight Loss Tips: हरी दूब की कोमल पत्तियों को कई रोगों के इलाज में इस्ते माल किया जाता है । इसकी ताजा पत्तियों को साबुत खाने के अलावा जूस बना या जाता है । यह उल्टी, कफ, कब्ज, गर्भा वस्था संबंधी समस्या ओं को दूर करती है ।

नकसीर : गर्मि यों में नाक से खून निक लने की समस्या (नकसीर) से ज्या दातर लोग परे शान रहते हैंं । इसे बंद करने के लिए ताजा दूब की पत्ति यों को पानी से धो लें । फिर पीस कर उस का रस निकालें । इस रस की 2-2 बूंदें दोनों न थुनों में डाल ने से नक सीर बंद हो जाती है ।

Read More: जानें टीनएजर्स में कुपोषण की समस्या से जुडी जानकारी, देखें वीडियो

घाव : घाव के इलाज में भी दूब बेहद कार गर है । दूब को पीस कर पके हुए फोड़े पर लगा ने से फोड़ा आसानी से बिना दर्द के फूट जाता है ।

झाइयां : झाइयों को दूर करने के लिए 40 ग्राम हरी दूब की जड़ का काढ़ा सुब ह-शाम पीएं । इससे चेह रे की झाइयां आसा नी से मिट जाती हैं ।

खुजली : गर्मियों में पसी ने और सर्दियों में रुखे पन के कार ण शरी र में खुजली होना आम बात है । 2 चम्म च दूब के रस को तिल के 100 ग्राम तेल में मिला कर खुज ली वाले स्था न पर लगा ने से इस सम स्या में काफी राहत मिल ती है ।

Read More: सेहत के लिए बेहद जरुरी है मैगनीशियम, भोजन में किन चीजों को भी करें शामिल

गठिया : बढ़ती उम्र में कम जोर हड्डि यों वाले शरीर में गठि या रोग होना आम है । हरी दूब की पत्ति यों का रस बनाएं और इस से दर्द वाली जग ह पर मा लिश करें ।

त्वचा रोगों का इलाज : हरी दूब को हल्दी के साथ मिला कर पीस लें । इस का घोल बना कर त्वचा पर लगा ने से खाज-खुज ली, और दाद में लाभ मिल ता है ।

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned