16 माह में 626 लड़कियां बरामद करवाने में अहम भूमिका निभाने वाले सिपाही को मिलेगा मेडल

Highlights

- आगरा पुलिस ने लापता या अपहृत हुईं 626 किशारियों को किया बरामद

- ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाने वाले सिपाही का नाम मेडल के लिए भेजा

- एसएसपी ने थपथपाई सिपाही की पीठ

By: lokesh verma

Published: 30 Nov 2020, 04:24 PM IST

आगरा. आगरा से 16 महीने में लापता या अपहृत हुईं 626 किशारियों और बच्चियों को बरामद करवाने में सर्विलांस के सिपाही राजकुमार ने अहम भूमिका निभाई है। इतना ही नहीं राजकुमार की वजह से 2020 से पहले के मामलों को निपटा दिया गया है। राजकुमार के इस कार्य की एसएसपी बबलू कुमार ने काफी सराहना की है और उनका नाम डीजी मेडल के लिए भेजा है।

यह भी पढ़ें- यूपी में लव जिहाद का एक और मामला, पीड़िता का आरोप- नाम और धर्म छिपाकर आरोपी ने धोखे से की शादी

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि अपहरण और गुमशुदगी के मामले में अगस्त से दिसंबर 2019 तक पुलिस ने 141 लड़कियों को ढूंढा था, जिनको बरामद कर कोर्ट में बयान दर्ज कराए गए। वहीं इस साल 11 माह में 485 लड़कियां बरामद की गईं। इसी तरह 16 महीने में 626 लड़कियां बरामद की गई हैं। जबकि 80 लड़कियों की बरामदगी शेष है। एसएसपी ने बताया कि इसके लिए थानों की पुलिस के साथ सर्विलांस टीम को भी लगाया गया है।

सिपाही राजकुमार की अहम भूमिका

बता दें कि बरामद की गई लड़कियों के मामले में सर्विलांस सेल के सिपाही राजकुमार ने अहम भूमिका निभाई है। एसएसपी ने बताया कि राजकुमार के सहयोग के लिए दो सिपाही रखे गए थे। राजकुमार ने एक रजिस्टर बनाते हुए उसमें अपहृत के बारे में सभी जानकारी लिखी। वहीं, जो बरामद होती गईं उनका नाम काट दिया जाता। रजिस्टर में ही परिचित, दोस्त और सगे संबंधियों के नाम के साथ उनके नंबर भी लिखे जाते हैं। राजकुमार नंबरों को सर्विलांस की मदद से ट्रेस करते हैं और तत्काल लोकेशन पुलिस टीम को बताते हैं। राजकुमार ने लड़कियों की बरामदगी में कड़ी मेहनत की है। इसलिए एसएसपी ने उनका नाम डीजी मेडल के लिए भेज दिया है।

यह भी पढ़ें- हाथरस: बिटिया के गांव में बदला माहौल, बजने लगी शहनाइयां

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned