Varishth naagarik teerth yaatra yojana 2019 : वैष्णोदेवी के लिए तीर्थ ट्रेन आज

Varishth naagarik teerth yaatra yojana 2019 : वैष्णोदेवी के लिए तीर्थ ट्रेन आज
Varishth naagarik teerth yaatra yojana 2019 : वैष्णोदेवी के लिए तीर्थ ट्रेन आज

Preeti Bhatt | Updated: 12 Oct 2019, 12:01:39 PM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

varishth naagarik teerth yaatra yojana 2019: राज्य सरकार की वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के तहत उदयपर से वैष्णोदेवी के लिए तीर्थ ट्रेन 12 अक्टूबर को उदयपुर से रवाना होगी। यह ट्रेन अजमेर होकर संचालित होगी।

अजमेर. राज्य सरकार की वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना(State Government's Senior Citizen Pilgrimage Scheme) के तहत उदयपर से वैष्णोदेवी (veishno devi) के लिए तीर्थ ट्रेन (Pilgrimage train)12 अक्टूबर को उदयपुर से रवाना होगी। यह ट्रेन अजमेर(ajmer) होकर संचालित होगी।

देव स्थान विभाग (Dev sthan Department) के सहायक आयुक्त गिरीशकुमार बच्चानी ने बताया कि वैष्णोदेवी जाने वाली यह गाड़ी उदयपुर से रवाना दोपहर 2.25 बजे अजमेर पहुंचेगी। यहां से अजमेर जिले के 22, नागौर के 46, टोंक के 30, बीकानेर के 14, चूरू के 9, हनुमानगढ़ के 9 एवं श्रीगंगानगर जिले के 8 यात्री इस ट्रेन में सवार होंगे। अजमेर रेलवे स्टेशन(Ajmer Railway Station) पर यात्रियों को सुबह 11 बजे तक रिपोर्टिंग करनी होगी। पूर्व में यह समय दोपहर एक बजे निर्धारित किया गया था। उन्होंने बताया कि चयनित तीर्थ यात्रियों को दूरभाष (phone)एवं पत्र के माध्यम से सूचित किया जा चुका है। यात्रियों को अपने साथ ई-मित्र (e-mitra)द्वारा भरे गए आवेदन पत्र की हार्ड कॉपी, मूल आधार कार्ड (Aadhar Card) अथवा भामाशाह कार्ड(Bhamashah Card), दो पासपोर्ट साइज फोटो साथ लेकर आना अनिवार्य है।
Read More : वरिष्ठ नागरिकों को रेल व हवाई जहाज से तीर्थ यात्रा की सौगात.....

Read More: गुलाबबाड़ी फाटक से सीआरपीएफ ब्रिज के नीचे शिफ्ट होंगी दुकानें

गुलाबबाड़ी ओवर ब्रिज का मामला : दुकानों को शिफ्ट करने के लिए बैठक आयोजित

अजमेर.रेलवे की मदार अजमेर रेल लाइन के गुलाबबाड़ी फाटक पर बनाए जा रहे रेलवे ओवर ब्रिज (rob) के निर्माण में बाधक बन रही वैध/अवैध रूप बनाई गई दुकानों/ कियोस्क को हटाने के किए एक बार फिर सर्वे किया जाएगा। इसके लिए एडीए व नगर निगम के अधिकारियों की संयुक्त टीम बनाई गई है। यह टीम 10 दिन में अपनी रिपोर्ट पेश करेगी। अतिरिक्त जिला कलक्टर की अध्यक्षता में शुक्रवार को इसके लिए बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि दुकानों व कियोस्क को सीआरपीएफ ब्रिज(CRPF Bridge) के नीचे शिफ्ट किया जाएगा। ब्रिज के निर्माण में बाधक बन रही दुकानों को शिफ्ट करने के लिए पूर्व में दो बार सर्वे हो चुका है। अब तक 70 निर्माण चिन्हित किए जा चुके हैं। इनमें 27 एडीए के हैं जबकि कुछ नगर निगम के हैं। शेष अवैध निर्माण है। वैध/ अवैध निर्माण के कारण ब्रिज का निर्माण अटका हुआ है। अब तक हुए सर्वे में सामने आया कि शहर से गुलाबबाड़ी फाटक की दाई ओर 16 अतिक्रमण/ दुकानें है, कुछ चबूतरे भी बने हुए है। शहर से गुलाबाड़ी फाटक की दायीं ओर 54 दुकाने/ कियोस्क हैं। दो मंदिर व एक प्याऊ भी बनाया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned