सपा सरकार में मंत्री रहे मुलायम के इस खास नेता की बढ़ी आफत, सीबीआई ने मारा छापा, मिले अहम सुबूत

सपा सरकार में मंत्री रहे मुलायम के इस खास नेता की बढ़ी आफत, सीबीआई ने मारा छापा, मिले अहम सुबूत

Hariom Dwivedi | Updated: 12 Jun 2019, 01:35:00 PM (IST) Amethi, Amethi, Uttar Pradesh, India

- बुधवार को सीबीआई ने पूर्व मंत्री के आवास पर मारा छापा
- सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई के हाथ खनन से जुड़े कुछ अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं
- अखिलेश सरकार में खनन मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति पर अवैध खनन का आरोप
- अपहरण और छेड़छाड़ के मामले में जेल में बंद है पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति, कोर्ट ने नहीं दी जमानत

अमेठी. बुधवार सुबह अमेठी कोतवाली के आवास विकास कालोनी स्थित पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के आवास पर कुछ लक्जरी गाड़ियां आकर रुकीं तो आसपास के लोग चौकन्ने हो गए। थोड़े समय बाद सिविल ड्रेस में कुछ व्यक्ति गाड़ियों से उतरे और गायत्री के घर को घेर लिया। टीम के सदस्य सीधे गायत्री के घर में घुसे और परिजनों से एक-एक कर पूछताछ करनी शुरू कर दी। माना जा रहा है कि अवैध खनन मामले की जांच को लेकर सीबीआई टीम ने उनके आवास पर छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई के हाथ खनन से जुड़े कुछ अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं। हालांकि, आधिकारिक रूप से इस छापेमारी की पुष्टि नहीं की गई है।

बलात्कार के आरोप में जेल में बंद पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बीते दिनों हाईकोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी और अब अवैध खनन मामले में सीबीआई ने उन पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। मुलायम सिंह यादव के करीबी माने जाने वाले गायत्री प्रसाद प्रजापति अखिलेश यादव की सरकार में खनन मंत्री रहे हैं। मंत्री रहते हुए भी उन पर अवैध खनन के आरोप लगे थे।

11 लोगों पर एफआइआर
हाईकोर्ट के निर्देश पर सीबीआई ने वर्ष 2016 में अवैध खनन मामले की जांच शुरू की थी। मामले में सीबीआई ने अब तक 11 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में एफआइआर दर्ज कराई है। इसमें कुछ नेताओं और अधिकारियों, सरकारी कर्मचारियों के नाम शामिल हैं। इन सभी पर 2012 से 2016 के दौरान अवैध खनन की इजाजत देने और लाइसेंसों के रिन्युअल का आरोप है, जबकि नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल (एजीटी) ने सूबे में खनन पर रोक लगा रखी थी।

देखें वीडियो...

इन पर अवैध खनन का आरोप
अवैध खनन मामले को लेकर सीबीआई टीम लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर छापेमारी कर रही है। जनवरी में सीबीआई की टीमों ने लखनऊ, कानपुर, हमीरपुर, जालौन समेत 14 जगहों पर छापेमारी की थी। अवैध खनन मामले में सीबीआइ ने आइएएस अफसर बी. चन्द्रकला के अलावा आदिल खान, तत्कालीन खनन अधिकारी मोइनुद्दीन, समाजवादी पार्टी के एमएलसी रमेश मिश्रा और उनके भाई, खनन क्लर्क राम आश्रय प्रजापति, अंबिका तिवारी (हमीरपुर), एसपी के एमएलसी संजय दीक्षित, खनन क्लर्क राम अवतार सिंह और उनके रिश्तेदार आरोपी हैं।

यह भी पढ़ें : यूपी मंत्री रहे इस रेप के आरोपी की खारिज हुई याचिका, आया हाईकोर्ट का बड़ा फैसला

gayatri prasad prajapati

रेप के आरोप में सलाखों के पीछे है गायत्री
अपहरण और छेड़छाड़ के मामले में उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति जेल में बंद है। बुंदेलखंड की निवासी एक महिला का ने पूर्व मंत्री पर आरोप लगाया था किमौरंग का पट्टा दिलाने के नाम पर गायत्री और उसके साथियों ने उससे बलात्कार किया। साथ ही आरोपितों ने उसकी नाबालिग बेटी से रेप करने की कोशिश भी की। बीते दिनों मामले में गायत्री प्रजापति ने जमानत के लिए हाइकोर्ट में अपील की, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

gayatri prasad prajapati
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned