Kamda Ekadashi 2021: कामदा एकादशी 23 अप्रैल को, जानें इस दिन क्या करें और क्या न करें?

kamda ekadashi vrat : इस बार यह व्रत शुक्रवार, 23 अप्रैल 2020 को...

हिन्दू धर्म ( Hindu Dharam ) के अनुसार एक वर्ष में चौबीस एकादशी होती हैं। इसके अलावा जब अधिकमास ( Adhik Mass ) या मलमास आता है तब इनकी संख्या बढक़र 26 हो जाती है। वहीं इन एकादशियों में से एक कामदा एकादशी का विशेष महत्व माना गया है। इसे हिन्दू नववर्ष ( NavSamvatsar ) की पहली एकादशी माना जाता है।

मान्यता है कि इस एकादशी Ekadashi को व्यक्ति को प्रेत योनि से मुक्ति मिलती है। साथ ही इस दिन भगवान विष्णु की उपासना की जाए तो व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति भी हो सकती है। इस बार यह व्रत शुक्रवार, 23 अप्रैल 2020 को मनाया जायेगा।

कहते हैं सच्चे मन से ईश्वर की उपासना करने से हर समस्या का समाधान मिल सकता है। पंडित एसके शुक्ल के अनुसार अगर आपकी संतान प्राप्ति की कामना अभी तक अधूरी है, तो कामदा एकादशी का व्रत करना आपके लिए विशेष लाभकारी हो सकता है।

Read More : कामदा एकादशी 2021 का शुभ मुहूर्त, जानें कब क्या करें ?

kamda ekadashi 2021 shubh muhurat

: पति-पत्नी संयुक्त रूप से भगवान कृष्ण (Lord Krishna ) को पीला फल और पीले फूल अर्पित करें।
: एक साथ संतान गोपाल मंत्र का कम से कम 11 माला जाप करें।
: फिर संतान प्राप्ति की प्रार्थना करें।
: फल को पति-पत्नी प्रसाद के रूप में ग्रहण करें।

आर्थिक लाभ के लिए यह करें : For financial Grouth
अगर आपके जीवन में धन Money से जुड़ी समस्या है, तो पंडित संतोष शुक्ला के अनुसार कामदा एकादशी का व्रत आपके लिए उत्तम फलदायी हो सकता है।
: भगवान कृष्ण ( Lord krishna ) को पीले फूलों की माला अर्पित करें।
: इसके बाद "ऊँ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीवासुदेवाय नम:" का कम से कम 11 माला जाप करें।
: फिर भगवान कृष्ण से आर्थिक लाभ की प्रार्थना करें।
: ये प्रयोग वर्ष में एक बार जरूर करें।

एकादशी के दिन करें ये काम : do this on kamda ekadashi
1. एकादशी के दिन दान करना उत्तम माना जाता है।
2. एकादशी ( Ekadshi ) के दिन संभव हो तो गंगा स्नान ( ganga Sanan ) करना चाहिए।
3. विवाह संबंधी बाधाओं को दूर करने के लिए एकादशी के दिन केसर, केला या हल्दी का दान करना चाहिए।
4. एकादशी ( Ekadshi ) का उपवास रखने से धन, मान-सम्मान और संतान सुख के साथ मनोवांछित फल की प्राप्ति होने की मान्यता है।

MUST READ : कब होगा भगवान विष्णु का कल्कि अवतार, जानें कुछ खास रहस्य

when lord kalki takes avtar

वहीं ये भी मान्यता है कि अगर किसी कारणवश कामदा एकादशी के दिन आप सुबह के समय पूजन नहीं कर सके हैं, तो शाम के समय भी आप कुछ विशेष उपायों को करके विष्णु जी ( Lord Vishnu ) की कृपा प्राप्त कर सकते हैं।

कामदा एकादशी के विशेष उपाय : kamda ekadashi special Tips

1. आज के दिन घर में सत्यनारायण की कथा पढ़ना भी शुभ माना जाता है। इससे घर में खुशहाली आती है।

2. भगवान विष्णु जी ( Lord Vishnu ) का हल्दी और दूध से अभिषेक करें। ऐसा करने से कष्टों से छुटकारा मिलेगा।

3. नारायण भगवान को गुड़ और चने का भोग लगाएं। ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि ( Prosperity) आएगी।

4. जीवन में तरक्की हासिल करने के लिए आज के दिन भगवान विष्णु का केसर से तिलक करें।

5. जीवन में मिठास घोलने के लिए विष्णु जी को दूध, दही और शहद को मिलाकर चरणामृत चढ़ाएं।

6. मनोकामनाआं की पूर्ति के लिए भगवान को एक पान के पत्ते में सुपारी, लौंग और इलायची रखकर चढ़ाएं।

7. मन की शांति प्राप्त करने के लिए कामदा एकादशी के दिन श्रीहरि (shri hari ) के चरणों में तुलसी दल अर्पण करें।

8. विष्णु जी ( Bhagwan Vishnu ) को पीले रंग का भोजन अर्पण करने से भगवान प्रसन्न होंगे। इससे आपका कल्याण होगा।

9. विष्णु जी को हल्दी चढ़ाने के साथ मां लक्ष्मी (Goddess Lakshmi ) को लाल सिंदूर चढ़ाएं। इससे सौभाग्य की वृद्धि होगीं।

10. धन प्राप्ति एवं सुख-समृद्धि की वृद्धि के लिए एक सूखा नारियल भेंट करें।

एकादशी के दिन ये गलती न करें : Don't do this on kamda ekadashi

1. शास्त्रों में सभी 24 एकादशी में चावल खाने को वर्जित माना गया है। मान्यता है कि एकादशी के दिन चावल खाने से इंसान रेंगने वाले जीव योनि में जन्म लेता है। इस दिन भूलकर भी चावल का सेवन नहीं करना चाहिए।

2. एकादशी Ekadashi के दिन भगवान विष्णु ( Vishnu ji ) की पूजा-अर्चना करने के साथ ही खान-पान, व्यवहार और सात्विकता का पालन करना चाहिए।

3. कहा जाता है कि एकादशी के पति-पत्नी को ब्रह्नाचार्य का पालन करना चाहिए।

4. मान्यता है कि एकादशी का लाभ पाने के लिए व्यक्ति को इस दिन कठोर शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही लड़ाई-झगड़े से भी बचना चाहिए।

5. एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठना शुभ माना जाता है और शाम के समय नहीं सोना चाहिए।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned