बारिश का नक्सलाइट कनेक्शन, जानिए क्या है नक्सलियों का स्पेशल प्लान

बरसात में नक्सली करते हैं विशेष काम, नक्सलियों के लिए कान्हा नेशनल पार्क बना सेफ जोन

 

By: deepak deewan

Published: 21 Jul 2021, 10:05 AM IST

बालाघाट. बारिश और नक्सलियों का स्पेशल कनेक्शन है। बारिश में नक्सलियों की हलचल तो रहती है, लेकिन मूवमेंट काफी कम होता है। इस दौरान नक्सली कैम्प लगाकर दलम में शामिल सदस्यों को तैयार करते हैं। अपनी विचारधाराओं का विस्तार करने, ग्रामीणों में पैठ जमाने सहित अन्य क्रियाकलापों के लिए नक्सली गांव-गांव बैठकें भी करते हैं। ग्रामीणों को अपनी विचारधाराओं से अवगत कराते हैं। खासतौर पर नक्सली उन क्षेत्रों को चिन्हित करते हैं, जहां घना जंगल हो और आवागमन के लिए समान सड़कें न हो।

अजब—गजब: दिमाग से डिलीट हो गई तीन माह की मेमोरी

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मौजूदा समय में जिले के आदिवासी अंचल बिठली, सोनगुड्डा, डाबरी, पित्तकोना, चिलौरा, चौरिया, हर्राडीह, खमारडीह, चिलकोना, राशिमेटा, दड़कसा, कोद्दापार, कोरका, बोंदारी, अडोरी, नवी, जगला, देवरबेली सहित कान्हा नेशनल पार्क के गढ़ी क्षेत्र में नक्सलियों की सक्रियता बनी हुई है। जिले में मलाजखंड दलम, टांडा दलम, दर्रेकसा दलम सहित अन्य दलम के नक्सली सक्रिय हैं।

सांसद, विधायक, मंत्रियों को एक से अधिक पेंशन देने का मामला, हाईकोर्ट ने दिया अहम आदेश

हालिया समय में नक्सलियों का सफाया करने के मामले में पुलिस को बड़ी सफलताएं मिल चुकी है। पिछले एक वर्ष में पुलिस ने मुठभेड में तीन नक्सलियों को मार गिराया। इसके अलावा लांजी थाना क्षेत्र से पुलिस ने १४ लाख रुपए का इनामी नक्सली श्यामलाल उर्फ मोतीराम सनकू जांगधुर्वे को गिरफ्तार किया। इसके पूर्व विस्तार दलम में सक्रिय सदस्य बादल उर्फ कोसा मरकाम को गिरफ्तार किया। वहीं कान्हा नेशनल पार्क से विस्फोटक सामग्री जब्त की थी। नक्सलियों के अरबन नेटवर्क को भी ध्वस्त कर दिया।

MP Ajab Hai सफेद हाथी पालने से भी महंगा पड़ रहा लाल घोड़ा

इस तरह से पुलिस नक्सलियों की पकड़ को ढीली करते जा रही है हालांकि, नक्सलियों ने भी जून २०२० में पुजारीटोला निवासी सोनू टेकाम और जून २०२१ में फिर एक और ग्रामीण भागचंद अडमें की हत्या कर अपने मंसूबों को स्पष्ट कर दिया था। वहीं ग्रामीणों में अपनी पैठ जमाने के लिए जून माह में दो अलग-अलग स्थानों पर तेंदुपत्ता फड को आग लगा दी थी। देवरबेली चौकी अंतर्गत निर्माण कार्य में लगे ट्रैक्टर व ट्रक को आग के हवाले कर अपनी मौजूदगी का एहसास कराया।

शिवराज का आरोप- कांग्रेस का जासूसी का इतिहास, यूपीए सरकार में हर माह टेप किए जाते थे 9000 फोन कॉल्स

नक्सलियों के लिए कान्हा नेशनल पार्क सेफ जोन बनते जा रहा है। पूर्व में दक्षिण बैहर और लांजी क्षेत्र का सघन वन बारिश के दिनों में सेफ जोन रहता था। लेकिन इन क्षेत्रों में लगातार सर्चिंग, ज्वाईंट ऑपरेशन, एरिया डॉमिनेशन की कार्रवाई से अब यह क्षेत्र कम सुरक्षित है। नक्सलियों की बढ़ती हलचल को देखते हुए कान्हा नेशनल पार्क में सुरक्षा में बढौत्तरी की जा रही है।

लोकायुक्त के घेरे में रिश्वतखोर इंजीनियर, 3 लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

पार्क के रास्ते मप्र में नक्सलियों के बढ़ते कदम को रोकने के लिए पुलिस एक्शन के मूड में है। बालाघाट एसपी अभिषेक तिवारी का कहना है कि जिले में अलग-अलग दलम के नक्सलियों की सक्रियता बनी हुई है। पुलिस लगातार सर्चिंग कर रही है। जहां से भी नक्सलियों का इनपुट मिलता है, उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाती है।

Show More
deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned