विश्व हिंदू परिषद से जुड़े आचार्य धर्मेन्द्र ने कहा- हर-हर मोदी कहना किसी अपराध से कम नहीं

भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भगवान राम के आशीष से एक पार्टी सत्ता के शिखर पर पहुंच गई। उनमें दृढ़ संकल्प शक्ति होनी चाहिए थी मसले को निपटाने की, लेकिन राजनितिक पार्टियां अपनी राजनीति ही साधने में लगी रहीं।

By: Karunakant Chaubey

Published: 27 Nov 2019, 04:31 PM IST

रायपुर. बुद्धवार को भिलाई में भाजपा नेता दया सिंह के निवास पहुंचे विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल में शामिल आचार्य धर्मेन्द्र ने पत्रकारों से बात करते हुए राम जन्मभूमि, नक्सल समस्या, ओवैसी, जेएनयू पर खुल कर अपनी रखी। यही नहीं वो प्रधानमंत्री के बारे में भी बोलने से नहीं चुके।

दो डिप्टी कलेक्टर के बाद भाजपा के कद्दावर नेता को मिली जान से मारने की धमकी

उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भगवान राम के आशीष से एक पार्टी सत्ता के शिखर पर पहुंच गई। उनमें दृढ़ संकल्प शक्ति होनी चाहिए थी मसले को निपटाने की, लेकिन राजनितिक पार्टियां अपनी राजनीति ही साधने में लगी रहीं।

राम मंदिर फैसले को लेकर वओवैसी के दिए बयान पर उन्होंने कहा कि अदालत के फैसले को खैरात बताने वालों को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करना चाहिए। वहीँ जेएनयू विवाद के बारे में कहा कि वहां देशद्रोही मानसिकता पल रही है। जो नक्सलवाद जैसी गंभीर समस्या की पोषक है। जो गरीब निर्दोष आदिवासियों को बहलाकर अपनी रोटी सेकते हैं।

अजय चंद्राकर ने कांग्रेस को बताया विकलांग तो मुख्यमंत्री ने कहा- मां की गाली बर्दास्त नहीं

पटेल होते तो करते सबसे ज्यादा विरोध

वर्तमान सरकार द्वारा सरदार बनाई गयी पटेल की स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के बारे में उन्होंने कहा कि अगर वह आज जिन्दा होते तो सबसे ज्यादा इस मूर्ति के विरोध में होते। वीर शिवाजी ने हमें हर हर महादेव के उद्घोष का नारा दिया था।पर हर हर मोदी कहने का मतलब ईश्वर के समतुल्य अपने को रखने जैसी बात है और यह अपराध से कम नहीं।

गुड़ सप्लाई के टेंडर में अनियमितता का मामला गूंजा सदन में, भाजपा नेताओं ने किया सदन से वाक आउट

हालांकि मोदी के लिए प्रयोग होने वाले इस नारे का विरोध पहले भी हो चूका है और प्रधानमंत्री मोदी ने खुद ट्वीट कर के कहा था कि वह अपने समर्थकों के भावनाओं का सम्मान करते हैं लेकिन उनके लिए ऐसे नारे लगाने से हिन्दू भावना को ठेस पहुँचती है। ऐसे में निवेदन है कि ऐसे नारे ना लगाए जाएँ।

ये भी पढ़ें: अब अनपढ़ लोग भी लड़ पाएंगे पंचायत चुनाव, सरकार कर रही है अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता को खत्म

pm modi Prime Minister Narendra Modi
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned