कर्ज से परेशान खैरागढ़ के किसान ने पिया जहर, मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती

खैरागढ़ क्षेत्र के ग्राम खुर्सीपार निवासी किसान बोधन साहू पिता आसाराम ने कर्ज से परेशान होकर बुधवार को जहर सेवन कर आत्महत्या की कोशिश की।

By: Satya Narayan Shukla

Updated: 22 Nov 2017, 10:11 PM IST

राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ में सूखे और कर्ज के कारण किसानों द्वारा आत्महत्या जैसे कमद उठाए जाने का मामला थम ही नहीं रहा है। आए दिन पूरे छत्तीसगढ़ के किसी जिले से किसानों के आत्महत्या की खबरें आती रही है। ताजा मामला राजनांदगांव जिले के खैरागढ़ क्षेत्र का है। खैरागढ़ क्षेत्र के ग्राम खुर्सीपार निवासी किसान बोधन साहू पिता आसाराम ने कर्ज से परेशान होकर बुधवार को जहर सेवन कर आत्महत्या की असफल कोशिश की है। किसान को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

किसान बोधन ने कृषि काम के लिए कर्ज लिया है

बताया जा रहा है कि किसान बोधन ने कृषि काम के लिए कर्ज लिया है, लेकिन सूखा पडऩे की वजह से फसल नहीं होने पर वह कर्ज अदायगी करने की चिंता में था। इस मामले में प्रशासन द्वारा स्थिति का जायजा लिया गया। प्रशासन ने इस मामले में भी हर बार की तरह किसान को शराब का आदी बता नशे की हालत में आत्मघाती कदम उठाने की रिपोर्ट पेश किया है।

सूखे की वजह से जिले भर में अकाल
गौरतलब है कि इस साल सूखे की वजह से जिले भर में अकाल की स्थिति है। बावजूद इसके समर्थन मूल्य में धान बेचने वाले किसानों से कड़ाई के साथ कर्ज वसूला जा रहा है। कर्ज वसूली से किसानों के हाथ खाली हो रहे हैं। आने वाले समय व रबि फसल को लेकर किसान ङ्क्षचतित हैं।

एसडीएम के जांच में यह मामला
जहर सेवन की सूचना मिलने पर कलक्टर भीम सिंह के निर्देश पर एसडीएम अतुल विश्वकर्मा ने मामले की जांच की। जहर सेवन किए जाने के कारण बेहोशी की स्थिति की वजह से किसान बोधन बयान देने की स्थिति में नहीं है। इस दौरान किसान बोधन के पुत्र संतराम का बयान पंचनामा में लिया गया। संतराम ने बताया कि घर में किसी तरह का विवाद नहीं था। संतराम ने बताया कि पिता अक्सर शराब का सेवन करते थे। हो सकता है कि नशे की हालत में उन्होंने जहर सेवन कर लिया हो?

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned