TRAI का बड़ा तोहफा, सस्ते होने वाले हैं DTH/Cable के बिल

TRAI द्वारा किये बदलावों के बाद DTH/Cable के बिलों में हो सकती है 14% तक गिरावट

By: Faiz

Updated: 08 Jan 2020, 08:18 PM IST

भोपाल/ केबल और प्रसारण सेवाओं के लिए नए नियामक ढांचे के लिए ट्राई द्वारा किये गए संशोधनों के बाद वर्तमान स्तर से डीटीएच/केबल बिलों में 14 फीसदी तक की कमी आने की संभावना है। ये जानकारी रेटिंग एजेंसी ICRA Ltd द्वारा मंगलवार को दी गई। इससे मध्य प्रदेश समेत देशभर के डीटीएच/ केबल धारकों को फायदा होगा। पिछले हफ्ते, प्रसारण नियामक ने केबल और प्रसारण सेवाओं के लिए नए नियामक ढांचे में संशोधन किया, जिसके तहत केबल टीवी ग्राहक कम सदस्यता मूल्य चुकाकर ज्यादा चैनलों का लाभ ले सकेंगे। बता दें कि, ट्राई द्वारा नियमों में संशोधन करने के बाद नए बदलाव को 1 मार्च से लागू किया जाएगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- आज बिजली गुल हुई तो अंधेरे में कटेगी रात, हड़ताल पर देशभर के कर्मचारी

प्रदेश में इतने सब्सक्राइबर्स को मिलेगा लाभ

बता दें कि, मध्य प्रदेश में वीडियोकॉन d2h, टाटा स्काई, एयरटेल, रिलायंस आदि कंपनियां डायरेक्ट टू होम (DTH) सेवा मुहैय्या कराती है। जानकारी के मुताबिक, प्रदेशभर में इन सभी कंपनियों के करीब 65 लाख सबस्क्राइबर्स हैं। इसके अलावा प्रदेश के कई शहरों में केबल सेवाएं भी दी जाती हैं, जिनमें मुख्य रूप से डीजी केबल, एसआर केबल, सिटी केबल, हेथवे आदि केबल शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक, प्रदेश में इन सभी केबलों के 22 लाख सब्सक्राइबर्स हैं। ट्राई द्वारा नियमों में किये गए बदलाव के बाद अगर बिल के दामों में गिरावट आती है तो इसका लाभ प्रदेश के इन ग्राहकों को भी मिलेगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- हरियाणा-राजस्थान में बने चक्रवात का असर, कई जिलों में शुरु हुई बारिश


क्या कहते हैं ऑपरेटर

भोपाल में संचालित सिटी केबल के ऑपरेटर शेख बबलू ने बताया कि, ये जानकारी सामने आई है कि, ट्राई द्वारा नियमों में बदलाव किये गए हैं। हालांकि, ये स्पष्ट नहीं है कि, इससे ग्राहकों के बिल का भार कितना कम होगा, जैसे ही आदेश आते हैं उसका लाभ प्रभावी रूप से जनता को दिया जाएगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- कमजोर से कमजोर Immune System भी हो जाएगा Strong, सिर्फ 7 दिन कर लें ये काम


शुल्क में होगी इतनी कटोती

नियामक ने 160 रुपये की राशि का उपयोग किया, जिसे उपभोक्ताओं को सभी मुफ्त चैनलों के लिए मासिक भुगतान करना होगा। वहीं, 200 चैनलों का आनंद लेने पर अधिकतम नेटवर्क क्षमता शुल्क (NCF) घटाकर 130 रुपये करना होगा। हालांकि, ये शुल्क करों को छोड़कर बताया गया है। इसी आधार पर कर भी तय किया जाएगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- 5 साल की मासूम के साथ हैवानियत करने ही वाला था पड़ोसी Uncle आखिरी वक्त पर ऐसे बचाई जान


इस तरह ग्राहक को लुभाने की कवायद

ICRA द्वारा हा गया है कि, 'टैरिफ में ये बदलाव ग्राहकों के डायरेक्ट टू होम (DTH)/केबल बिल को वर्तमान स्तरों से 14 प्रतिशत तक कम कर सकते हैं और सब्सक्राइबरों को प्रोत्साहित करने और अपने अधिकारों का प्रयोग कराते हैं।' चैनल द्वारा ये नोट किया गया कि 2017 के टैरिफ ऑर्डर का उद्देश्य उपभोक्ताओं को ब्रॉडकास्टरों को फ्री ऑफ एयर (एफटीए) या पे चैनल के साथ-साथ सभी के मूल्य-निर्धारण की घोषणा करने के लिए ब्रॉडकास्टरों को अनिवार्य घोषित करने का अधिकार देना था।

 

पढ़ें ये खास खबर- राष्ट्रीयता और नागरिकता में हैं कई खास अंतर, अकसर लोग इसे मानते हैं समान


ये हो सकती हैं नई दरें

ये भी कहा कि, 'हालांकि, ट्राई की अपेक्षाओं के विपरीत, लोकप्रिय सामान्य मनोरंजन चैनलों (GECs) और स्पोर्ट्स चैनलों के उच्च चैनल मूल्य निर्धारण (330 मौजूदा चार्ज चैनलों में से 66 रुपये प्रति माह 19 रुपये की छत दर से कीमत के साथ) दिए गए, बहुत उद्देश्य से टैरिफ ऑर्डर पराजित हुआ, जिसके परिणामस्वरूप ग्राहकों के लिए बिलों में 23 प्रतिशत की वृद्धि हुई (इकरा के अनुमानों के अनुसार) और सदस्यता पैटर्न में गुलदस्ते का वर्चस्व जारी रहा।

 

पढ़ें ये खास खबर- अगर समझ लें ये संकेत, तो Silent Attack आने से पहले ही बचा सकते हैं किसी की जान


नए बदलाव का उद्देश्य

इकरा में सहायक उपाध्यक्ष, साक्षी सुनेजा के मुताबिक, टैरिफ में हुए हालिया बदलाव के बाद लोकप्रिय GECs और स्पोर्ट्स चैनलों की कीमतें 19 रुपये प्रति माह से घटकर 12 रुपये प्रति माह होने की उम्मीद है। इस बदलाव का उद्देश्य है कि, इसके बाद a-la-carte चैनल प्लॉन में आ जाएं।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned