script पंडित मिश्रा की कथा में पहुंच गए 10 लाख लोग, शिवभक्तों का सैलाब उमड़ा | pandit pradeep mishra katha magh mela pandit pradeep mishra prayagraj | Patrika News

पंडित मिश्रा की कथा में पहुंच गए 10 लाख लोग, शिवभक्तों का सैलाब उमड़ा

locationभोपालPublished: Feb 12, 2024 08:35:08 pm

Submitted by:

deepak deewan

कथा में ऐसा जनसैलाब पहले कभी नहीं उमड़ा था। सोमवार को प्रयागराज मानो शिवभक्तों से भर गया। यहां गंगा तट पर शिव की महिमा की गूंज सुनाई दी। सीहोरवाले पंडितजी के रूप में विख्यात कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा को सुनने के लिए लाखों लोग पहुंच गए। सीहोर के कुबरेश्वर धाम की विट्ठल सेवा समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि पंडित मिश्रा के कार्यक्रम के लिए आए भक्तों के रहने के लिए यहां कई पंडाल बनाए गए हैं। इधर सीहोर में भी महाशिवरात्रि पर्व पर आयोजित होनेवाले रुद्राक्ष महोत्सव की तैयारियां शुरु हो गई हैं।

magh_mela.png
विख्यात कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा को सुनने के लिए लाखों लोग पहुंच गए।
कथा में ऐसा जनसैलाब पहले कभी नहीं उमड़ा था। सोमवार को प्रयागराज मानो शिवभक्तों से भर गया। यहां गंगा तट पर शिव की महिमा की गूंज सुनाई दी। सीहोरवाले पंडितजी के रूप में विख्यात कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा को सुनने के लिए लाखों लोग पहुंच गए। सीहोर के कुबरेश्वर धाम की विट्ठल सेवा समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि पंडित मिश्रा के कार्यक्रम के लिए आए भक्तों के रहने के लिए यहां कई पंडाल बनाए गए हैं। इधर सीहोर में भी महाशिवरात्रि पर्व पर आयोजित होनेवाले रुद्राक्ष महोत्सव की तैयारियां शुरु हो गई हैं।
यह भी पढ़ें—बड़ी खबर - 7 मार्च से शुरु होगा पंडित प्रदीप मिश्रा का रुद्राक्ष महोत्सव

विट्ठल सेवा समिति के पदाधिकारियों के अनुसार पंडित प्रदीप मिश्रा इन दिनों प्रयागराज में हैं। यहां आयोजित माघ मेला में उनका शिव चर्चा कार्यक्रम आयोजित किया गया है जहां पंडित मिश्रा शिवजी की भक्ति की महिमा सुना रहे हैं। प्रयागराज के गंगा तट पर स्थित सतुआ बाबा सेवा शिविर में पंडित प्रदीप मिश्रा की कथा का आयोजन किया गया है।
यह भी पढ़ें— हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट पर 45 लाख वाहन मालिकों के लिए बड़ी खबर

12 फरवरी यानि सोमवार को कथा के पहले ही दिन यहां शिवभक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। पंडित प्रदीप मिश्रा की कथा सुनने के लिए यहां 10 लाख से ज्यादा भक्त आ गए। पंडित मिश्रा ने यहां शिवजी की भक्ति का महत्व बताया। उन्होंने कहा कि मात्र एक लोटा जल रोज शिवजी को अर्पित करें, वे आपकी सभी समस्याएं समाप्त कर देंगे।
यह भी पढ़ें— पीएम बोले- आलाकमान से कह रहे कांग्रेसी- मोदी के खिलाफ कैसे मांगे वोट...

कथा में पंडित मिश्रा ने जलाधारी और शिवलिंग की भी चर्चा की। उन्होंने बताया कि कई लोग प्रश्न करते हैं कि हमारे घर में जलाधारी अलग है और शिवलिंग अलग है, क्या करें। कुछ लोग कहते हैं कि हमारे यहां शिवलिंग जलाधारी में ही फिट हैं। पंडित मिश्रा ने कहा कि दोनों का ही समान महत्व है, चाहे पूरा शिवलिंग बनाबनाया हो या अलग अलग हो, दोनों श्रेष्ठ हैं।
फल समान ही मिलेगा। शिवलिंग चाहे नर्मदा का कंकर हो, स्फटिक का हो, पारद का हो या पाषाण का हो, शिवजी का आशीर्वाद समान रूप प्राप्त होगा।
यह भी पढ़ें - हरदा ब्लास्ट में मौतों का आंकड़ा छुपा रही सरकार! हादसे के बाद कई लोगों का अतापता नहीं

माघ मेला में पंडित प्रदीप मिश्रा की कथा दो दिन तक चलेगी। गंगा तट पर यह कथा 12 फरवरी को शुरु हुई और 13 फरवरी यानि मंगलवार को इसका समापन हो जाएगा। इस बीच कुबरेश्वर धाम में महाशिवरात्रि पर्व पर आयोजित होनेवाले रुद्राक्ष महोत्सव और शिव महापुराण की तैयारियों को मूर्त रूप दिया जा रहा है। यह कार्यक्रम इस बार 7 मार्च से शुरु होगा।

ट्रेंडिंग वीडियो