कोरोना काल में आमजन को बड़ा झटका : 25 से 75 फीसदी तक बढ़ा बसों का किराया

मध्य प्रदेश प्राइवेट बस एसोसिएशन पिछले एक साल से कर रही थी किराया बढ़ाने की मांग।। बस किराये में मिनिमम 25 फीसदी बढ़ोतरी, 1.25 रुपये प्रति कि.मी की दर तय। लग्जरी बसों का किराया 25 से 75 फीसदी तक बढ़ा।

By: Faiz

Published: 22 Apr 2021, 09:32 AM IST

भोपाल/ कोरोना संकट काल में मध्य प्देश के आम लोगों पर एक और महंगाई की मार पड़ी है। प्रदेश सरकार ने सूबे में संचालित निजी यात्री बसों के किराये में 25 से 75 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर दी है।

 

पढ़ें ये खास खबर- World Earth Day 2021: विशेषज्ञ दे रहे चेतावनी, सिर्फ मध्य प्रदेश ही नहीं पूरी दुनिया के लिये वैश्विक जलवायु संकट मुसीबत


पिछले 1 साल से किराया बढ़ाने की मांग कर रहे थे बस संचालक

बता दें कि, प्राइवेट बसों के संचालन में 25 फीसदी तक की बढोतरी की गई है। इस संबंध में परिवहन विभाग ने नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है। इसके मुताबिक, बसों का न्यूनतम किराया 7 रुपये तक तय किया गया है। जबकि, किराया 1 रुपये 25 पैसे किलोमीटर की दर से तय होगा। इसके साथ ही, लग्जरी बसों के किराये में 25 से 75 फीसदी तक की बढ़ोतरी तय हुई है। बता दें कि, कोरोना काल के कारण प्रदेश के निजी बस ऑपरेटर पिछले एक साल से पेट्रोल-डीजल के तेजी से बढ़ रहे दामों और बढ़ते सरकारी करों का हवाला देते हुए पिछले एक साल से किराया बढ़ाने की मांग कर रहे थे। सरकार द्वारा इस मांग को स्वीकार लिया गया है।

 

पढ़ें ये खास खबर- शुभ मुहूर्त के बीच लगा शादी समारोह पर प्रतिबंध, CM बोले- ये आपातकाल है, दो शहरों में पूरी तरह रोक


किराया बढ़ाने के लिये निजी बस संचालकों के तर्क

मध्य प्रदेश प्राइवेट बस ऑनर्स एसोसिएशन पिछले एक साल से बसों का किराया बढ़ाने क मांग कर रहा था। एसोसिएशन ने कोरोना महामारी का भी हवाला दिया था। उनका तर्क था कि, पिछले साल लॉकडाउनके कारण बसों का संचालन पूरी तरह से बंद रहा और इस साल मार्च से सरकार ने एक बार फिर महाराष्ट्र आने जाने पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही, प्रदेश के कई शहरों में कोरोना कर्फ्यू भी लगा हुआ है। ऐसे में बसों का संचालन काफी मुश्किल हो रहा है। इस बीच डीजल के दाम बढ़ने से लगाई जा रही लागत भी नहीं निकल पा रही। बता दें कि, पिछली बार साल 2018 में यात्री बस किराया 1 रुपये सुनिश्चित किया था। लेकिन, अब इसे बढ़ाकर 1 रुपये 25 पैसे कर दिया गया है।

 

पढ़ें ये खास खबर- कोरोनाकाल में हुए दमोह और बंगाल चुनाव में टूटा कोविड प्रोटोकॉल, केंद्र, राज्य सरकार और चुनाव आयोग को हाईकोर्ट का नोटिस

 

आदेश में कही गई ये बात

मध्य प्रदेश परिवहन विभाग के देश में कहा गया है कि, लग्जरी बसों जैसे- डीलक्स (नॉन ए.सी) स्लीपर, डीलक्स (ए.सी) और सुपर लग्जरी कोच के तय किये गए किराये में रात्रि प्रभार यात्रियों से नहीं वसूला जाएगा। यात्री प्रभार सिर्फ सामान्य बस ऑपरेटर ही वसूल सकेंगे।

 

पढ़ें ये खास खबर- परिवार का काल बना कोरोना : सास, जेठ और पति की मौत से दुखी बहु ने भी फांसी लगाकर की आत्महत्या


इतना बढ़ा किराया

-सामान्य बसों में रात्रि सेवा 10 फीसदी बढ़ाई गई
-नॉन ए.सी वाली डीलक्स बस का किराया 25 फीसदी तक बढ़ाया गया।
-स्लीपर बस का किराया 40 फीसदी तक बढ़ाया गया।
-ए.सी वाली डीलक्स बस का किराया 50 फीसदी तक बढ़ाया गया।
-ए.सी वाली सुपर लग्जरी कोच का किराया 75 फीसदी तक बढ़ाया गया।

निरिक्षण के दौरान अस्पताल प्रबंधन पर भड़के सीएमएचओ - video

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned