जानलेवा साबित हुआ था लॉकडाउन, 70 दिनों में सामने आए सुसाइड के चौंकाने वाले मामले

जानलेवा साबित हुआ लॉकडाउन!

By: Faiz

Published: 15 Jul 2020, 01:09 PM IST

भोपाल/ मध्य प्रदेश समेत देशभर में कोरोना वायरस (corona virus) के संक्रमण रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से जहां संक्रमण पर नियंत्रण पाने में पूर्णत कामयाब नहीं हो सका, वहीं अब जो आंकड़े सामने आए हैं। उससे ये साबित होता है कि, शहरों में लॉक डाउन (lockdown) जानलेवा भी साबित हुआ है। राजधानी भोपाल से ही प्राप्त आंकड़ों पर गौर करें तो यहां बीते 70 दिनों के लॉकडाउन के दौरान 63 आत्महत्याओं के भी मामले सामने आए हैं। जो आम दिनों में सामने आने वाले सुसाइड केसों के मुकाबले बेहद चौंकाने वाले हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- ऑफिस में रखें इन बातों का ख्याल, कोरोना संक्रमण से बचे रहेंगे आप

 

22 मार्च से 31 मई के बीच के आंकड़े

लॉकडाउन के दौरान सामने आए आत्महत्या के मामलों में अधिकतर लोगों ने या तो अवसाद का शिकार होकर जान दे दी या पारिवारिक झगड़ों से तंग आकर मौत को गले लगा लिया। भोपाल पुलिस के आंकड़ों के अनुसार, 22 मार्च से 31 मई के बीच लॉक डाउन में आम दिनों के मुकाबले कई ज्यादा आत्महत्याओं के मामले सामने आए हैं। लॉकडाउन समय अवधि के दौरान, 70 दिनों में 63 लोगों ने आत्महत्या की। सुसाइड करने वालों में जहां 37 पुरुष हैं, तो वहीं 26 महिलाएं भी शामिल हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- विकास दुबे से पहले महाकाल मंदिर से ही पकड़ाया था दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर प्रवेश मान

 

ये हैं खुदकुशी के कारण

पुलिस ने आत्महत्या के हर मामले में एफ.आई.आर दर्ज की थी। साथ ही, इन मामलों की तहकीकात में जो मुख्य कारण पुलिस के सामने आए उनमें लंबी बीमारी, पारिवारिक कलह, आर्थिक तंगी और डिप्रेशन आदि खास मौत की मुख्य वजहें थीं।

 

पढ़ें ये खास खबर- MP Corona Update : मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 18207, अब तक 663 ने गवाई जान


कोरोना से मौत, सुसाइड का आंकड़ा

लॉकडाउन के दौरान कोरोना से ग्रस्त होकर मरने वालों और सुसाइड के आंकड़े हैरान कर देने वाले हैं। क्योंकि ये दोनो ही आंकड़े लगभग समान रहे। लॉकडाउन के इन 70 दिनों में जहां कोरोना के कारण शहर में 74 मौतें हुई थीं, तो वहीं इन्हीं 70 दिनों में 63 लोगों ने खुदकुशी भी की, जिसका मुख्य कारण लॉकडाउन के कारण मिला मानसिक तनाव रहा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned