बीजापुर के गंगलूर में पुलिस कैंप के विरोध में नक्सलियों ने 9 किमी लंबी सड़क के कर दिए 30 टुकड़े

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिला मुख्यालय से 25 किमी दूर गंगालूर कस्बे से हिरोली को जोड़ने वाली 9 किमी सड़क को नक्सलियों ने कई स्थानों से काट दिया है।

By: Ashish Gupta

Published: 11 Sep 2021, 07:59 PM IST

बीजापुर. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिला मुख्यालय से 25 किमी दूर गंगालूर कस्बे से हिरोली को जोड़ने वाली 9 किमी सड़क को नक्सलियों ने कई स्थानों से काट दिया है।

लोक निर्माण विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गंगालूर से आगे बुरजी के बाद के निर्माणाधीन सड़क को ग्रामीणों की शक्ल में आए नक्सलियों ने कई स्थानों पर काट कर निर्माण कार्य में बाधा पहुंचाई है। इस इलाके में बीते डेढ़ माह से बारिश के कारण काम बंद कर दिया गया था। बताया जाता है कि इस मार्ग को लगभग 30 स्थानों पर अलग-अलग काट दिया गया है जिसके कारण गाड़ियों ही नहीं बल्कि पैदल चलना भी दूभर हो गया है ।

बीजापुर एसपी कमलोचन कश्यप ने पत्रिका से कहा कि करीब एक माह पूर्व नक्सलियों ने बुरजी कैंप के आगे 9 किमी निर्माणाधीन सड़क को क्षति पहुंचाई है। साथ ही करीब तीन निर्माणाधीन सड़कों को नक्सलियों ने खोद दिया। जिसमें बेचापाल की 6 किमी सड़क, माटवाड़ा से जैगुए होते दरभा कुटरू मार्ग शामिल है।

कैम्प मत खोलो, लौह अयस्क परिवहन बन्द करो
ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को संबोधित करते हुए एक ज्ञापन भेजा है जिसमे बुरजी-पुसनार में अगले माह पुलिस कैम्प खुलना है इसका ज्ञापन में विरोध किया गया है साथ ही लौह अयस्क के परिवहन का भी विरोध करते हुए लिखा गया है कि प्रशासन यह बंद करे। इस निर्माणाधीन सड़क को भी ग्राम सभा की अनुमति नहीं है इसलिए इसे खोदा जा रहा है कैम्प खुलने से ग्रामीणों को झूठे मामले में जेल में बंद किया जायेगा, क्षेत्र में अत्याचार बढ़ेगा, इसलिए ग्रामीण इसका विरोध कर रहे हैं।

Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned