scriptShardiya Navratri Karni Mata Temple Bikaner Seeing a white rat Lucky devotees improves luck | Shardiya Navratri : करणी माता मंदिर में सफेद चूहा दिखना होता है शुभ, भक्तों की खुल जाती है किस्मत | Patrika News

Shardiya Navratri : करणी माता मंदिर में सफेद चूहा दिखना होता है शुभ, भक्तों की खुल जाती है किस्मत

locationबीकानेरPublished: Oct 15, 2023 12:26:21 pm

Sharadiya Navratri : शारदीय नवरात्र आज से पूरे राजस्थान में शुरू हो गया है। राजस्थान में एक मंदिर ऐसा है जहां सफेद चूहे अगर मिल जाए तो मान लीजिए आपका काम पूरा हो जाएगा।

karni_mata_temple.jpg
Karni Mata Temple Bikaner
Karni Mata Temple Bikaner : शारदीय नवरात्र आज से पूरे राजस्थान में शुरू हो गया है। राजस्थान में एक मंदिर ऐसा है जहां सफेद चूहे अगर मिल जाए तो जान लीजिए आपका काम पूरा हो जाएगा। बीकानेर से 30 किमी दूर है देशनोक का करणी माता का मंदिर है। नवरात्र मेला आज से शुरू हो गया है। करणी माता का मंदिर नवरात्र के सभी दिन 24 घंटे खुला रहता है। मंदिर में बड़ी संख्या में चूहे होने से लोग इसे चूहों वाली माता का मंदिर भी कहते हैं। यहां सफेद चूहों को देखना शुभ माना जाता है। हर भक्त यह चाहता है कि उसे सफेद चूहा दिख जाए। नवरात्र मेले के दौरान लाखों श्रद्धालु धोक लगाने पहुंचते हैं। यह दुनिया का इकलौता मंदिर है, जहां चूहों की पूजा होती है। मंदिर में हर तरफ चूहेे हर तरफ नजर आते हैं। दूध से लोग चूहों जिन्हें स्थानीय भाषा में काबा कहते हैं, मनुहार करते हैं। मंदिर में रविवार से नवरात्र मेला शुरू हो जाएगा।

24 घंटे खुला रहेगा मां करणी का मंदिर

भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रबंधन कमेटी ने शनिवार से मंदिर को 24 घंटे खुला रखने की व्यवस्था शुरू कर दी। यह व्यवस्था 24 अक्टूबर तक रहेगी। लोगों को लम्बी कतारों में नहीं लगना पड़े और सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से भी ऐसा किया गया है। पहली बार दो द्वारों से भक्तों के लिए प्रवेश की व्यवस्था कर चार लाइनों के लिए बेरीकेटिंग की गई है।

यह भी पढ़ें

भाजपा पर गोविंद सिंह डोटासरा ने साधा निशाना, बोले - सही-गलत से कोई लेना-देना नहीं



खासियत ....

करीब साढ़े छह सौ साल पहले इस भव्य मंदिर वाले स्थान पर बनी गुफा में मां करणी इष्टदेव की पूजा अर्चना करती थी। यह गुफा आज भी मंदिर परिसर के गर्भगृह में स्थित है।

यह भी पढ़ें

Navratra : शारदीय नवरात्र कल से, घट स्थापना का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त जानें

karni_mata_temple_2.jpgkarni_mata_temple_1.jpg
Copyright © 2023 Patrika Group. All Rights Reserved.