महाशिवरात्रि पर भोले के दरबार से उठी अनाथ बेटी की डोली पूरा शहर बना घराती

महाशिवरात्रि पर भोले के दरबार से उठी अनाथ बेटी की डोली पूरा शहर बना घराती

Suraksha Rajora | Publish: Feb, 15 2018 11:31:43 AM (IST) Bundi, Rajasthan, India

नवयुवक मंडल बना रहनुमा,अनाथ बेटी के हाथ हुए पीले सैकड़ो लोग बने साक्षी,महाशिवरात्रि पर ऐसे जोड़ो को शादी के बंधन में बधंने का उठाया बीड़ा

बूंदी. जीवन की सार्थकता स्वयं से हटकर दूसरों के लिए सोचना भी है। यह संदेश अगर फलों से लदे वृक्ष और फूलों से लटकती डालियां दे सकती हैं तो फिर ये क्यूं नही। नैनवा रोड़ स्थित दुधेश्वर महादेव मंदिर नवयुवक मंडल रहनुमा बना है, उन जरूरतमंद बेटियों का जिनके मां.बाप गरीबी की वजह से अपनी लड़कियों की अच्छे घर में शादी करने के सिर्फ सपने देखते रहते हैं। उन्हीं मां.बाप और बेटियों के सपनों को साकार करने में लगा नवयुवक मंडल ने महाशिवरात्रि पर ऐसे जोड़ो का विवाह करने का बीडा उठाते हुए सच्ची समाजसेवा का परिचय दिया है।


नैनवा रोड़ स्थित दुधेश्वर महादेव मंदिर में बुधवार को कुछ ऐसा ही अनुठा विवाह देखने को मिला। बचपन में मां.बाप को खोने वाली दौलतपुरा गांव निवासी अनाथ बालिका के हाथ पीले करने में नवयुवक मंडल ने बढ़.चढकऱ न सिर्फ मदद की। बल्कि इस बेटी के पूरी रिति रिवाजों के साथ हाथ पीले करवाए। गांव में काका के घर में रहकर पली बढ़ी इस बेटी की उम्र विवाह योग्य हुई तो परिवार को उसकी विवाह की चिंतासताने लगी। आर्थिक विपन्नता की मार झेल रहे श्रमिक ने अपनी पीड़ा समाज को सुनाई तो उसकी मानवीय संवेदना जागृत हुई। इसके बाद अनाथ बालिका के भव्य वैवाहिक समारोह की मंत्रणा तैयार करते हुए नवयुवक मंडल ं ने सुयोग्य वर की तलाश कर धूमधाम से विवाह करने में जुट गये। बुधवार को महाश्विरात्रि के खास मोके पर वैवाहिक समारोह को संपन्न कराया। बल्कि बेटी का कन्यादान भी किया।


जोड़े को आर्शीवाद के लिए सैकड़ो लोग पहुंचे। मंडल की यह नई पहल बेटी सरीता की जिदंगी में नई किरण की रौशनी लेकर आई है। हर महाशिवरात्रि पर ऐसे आयोजन को लेकर मंडल ने संकल्प लिया है।

खुशी से महक उठी सरीता...
इन्द्रा कॉलोनी निवासी अशोक सेनी से सरीता का विवाह हुआ है। पिता महावीर विकलांग है, और आर्थिक स्थिति अच्छी नही ऐसे में बेटे अशोक के लिए सरीता की जोड़ी को लेकर परिवार खुश है। पंडित कृष्ण मुरारी के सानिध्य में विधि विधान से शादी सम्पन्न करवाई गई। नि:शुल्क विवाह में हर कोई सदस्य दुल्हा दूल्हन को आर्शीवचन में उपहार भेंट किए। और खुशी खुशी विदा किया। विवाह की खास बात यह रही कि दुल्हे के पिता की जिम्मेदारी संग्राम मीणा ने उठाई और दूल्हन का कन्यादान नेनवा निवासी रमेश शर्मा ने किया।

 

समारोह में पार्षद टीकम जैन, महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव ममता शर्मा प्रवक्ता राकेश सैनी, सोनु सेनी, रामावतार सेनी, नीरज सैनी, कालूलाल सेनी सहित नवयुवक मंडल के सदस्यों ने नवयुगल को आर्शीवचन देकर विदा किया।भोले भंडारी की साक्षी में अनाथ बेटी के करवाए हाथ पीले

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned