आंकड़े तो ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में, फिर भी जीत सकती है भारतीय महिला टीम

Indian Women Cricket Team पिछले और मौजूदा टी-20 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया की टीम को ग्रुप चरण में मात दे चुकी है।

By: Mazkoor

Updated: 07 Mar 2020, 03:32 PM IST

मेलबर्न : रविवार को भारतीय महिला क्रिकेट टीम (Indian Women Cricket Team) आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप (ICC women T20 World Cup) के फाइनल में जब ऑस्ट्रेलिया (Australia Women Cricket Team) के खिलाफ उतरेगी तो उसका लक्ष्य पहली बार किसी भी आईसीसी विश्व कप खिताब पर कब्जा जमाने का रहेगा। भारतीय टीम दो बार महिला एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में जरूर पहुंची है, लेकिन एक बार भी वह खिताब पर कब्जा नहीं जमा पाई है। वहीं इससे पहले खेले गए छह टी-20 विश्व कप में वह एक बार भी फाइनल में नहीं पहुंची है।

ऑस्ट्रेलिया ने लगातार छठवीं बार किया है फाइनल में प्रवेश

आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप का यह सातवां संस्करण खेला जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया की बात करें तो वह सिर्फ पहले विश्व कप के फाइनल में नहीं पहुंची थी। इसके बाद से वह लगातार फाइनल खेल रही है। यानी उसने लगातार छठवीं बार विश्व कप के फाइनल में प्रवेश किया है। पिछले पांच विश्व कप फाइनल की बात करें तो मौजूदा विश्व विजेता ऑस्ट्रेलिया सिर्फ एक बार 2016 के फाइनल में हारा है। उसे विंडीज की महिला टीम ने मात दी थी। जबकि 2010, 2012, 2014 और 2018 में वह चैम्पियन बना है। वहीं भारतीय टीम शुरुआती तीन विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंची है और पिछले तीन बार से वह ग्रुप चरण में बाहर हो रही थी। इस लिहाज से देखें तो आंकड़े ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में हैं।

मशरफे मुर्तजा एकदिवसीय टीम की छोड़ी कप्तानी, बांग्लादेश के हैं सबसे सफल कप्तान

ओवरऑल रिकॉर्ड भी ऑस्ट्रेलिया का शानदार

अगर भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें के बीच हुए ओवरऑल मैच की बात करें तो ये दोनों टीमें 19 बार आमने-सामने हुई हैं। इनमें से 13 बार ऑस्ट्रेलिया के हाथ बाजी लगी है, जबकि छह बार जीत भारत के हाथ लगी है। मौजूदा और पिछले विश्व कप की बात करें ग्रुप चरण में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को मात दी है। इस विश्व कप में लीग स्तर के मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 17 रन से हराया था, लेकिन चार बार की चैम्पियन ऑस्ट्रेलियाई टीम के पास छह फाइनल खेलने का अनुभव भारत पर भारी पड़ सकता है।

भारत जीता को विश्व कप जीतने वाली चौथी टीम बनेगी

यदि भारतीय टीम इस टूर्नामेंट को जीतने में सफल रहती है तो वह इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बाद विश्व कप जीतने वाली चौथी टीम बनेगी। इंग्लैंड 2009 में पहले विश्व कप में जीता था। इसके बाद से वह कभी चैम्पियन नहीं बन पाया है तो वहीं विंडीज ने 2016 में खिताब पर कब्जा जमाया था। अगर मेजबान टीम जीती तो यह उसका रिकॉर्ड पांचवां टी-20 विश्व खिताब होगा।

जन्मदिन पर विश्व कप फाइनल खेलने वाली पहली कप्तान बनेंगी हरमनप्रीत

यह भी है रोचक आंकड़ा

जहां टी-20 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया महिला टीम की बादशाहत है तो उसकी पुरुष क्रिकेट टीम अब तक एक बार भी टी-20 विश्व कप नहीं जीत सकी है, जबकि भारतीय महिला टीम ने अगर एक बार भी टी-20 विश्व कप नहीं जीता है, लेकिन भारतीय पुरुष टीम 2007 में पहले टी-20 विश्व कप में जीत हासिल की थी।

दोनों टीमें (संभावित) :

भारतीय महिला क्रिकेट टीम : हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना, शेफाली वर्मा, वेदा कृष्णमूर्ति, दीप्ति शर्मा, जेमिमा रोड्रिगेज, पूजा वस्त्राकर, तानिया भाटिया, राधा यादव, हरलीन देओल, अरुंधति रेड्डी, पूनम यादव, राजेश्वरी गायकवाड़, शिखा पांडेय और ऋचा घोष।

ऑस्ट्रेलियाई महिला क्रिकेट टीम : मेग लैनिंग (कप्तान), राचेल हेन्स, मेगान शट, एलिसा हीली, एलिस पेरी, जेस जोनासेन, डेलिसा किमिन्स, बेथ मूनी, निकोला केरी, एशलीग गार्डनर, सोफी मोलिनक्स, जॉर्जिया वेयरहम, एरिन बर्न्स, मौली स्ट्रानो और एनाबेल सदरलैंड।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned