Akshaya Tritiya 2021: अक्षय तृतीया के दिन ग्रहों की स्थिति और इनका असर

वैदिक ज्योतिष के अनुसार...

By: दीपेश तिवारी

Published: 13 May 2021, 03:55 PM IST

हिंदू कैलेंडर के साढ़े तीन अबूझ मुहूर्तों में से एक अक्षय तृतीया इस साल यानि 2021 में शुक्रवार को 14 मई के दिन पड़ रही है। वहीं इस बार इसी दिन सूर्य भी वृषभ राशि में गोचर करेंगे यानि वृषभ संक्रांति भी इसी दिन होगी।

ग्रहों के राजा सूर्य के वृषभ राशि में गोचर से पहले ही यहां बुध, शुक्र और राहु विराजमान हैं। वृषभ में राहु के होने के चलते एक ओर जहां यहां राहु मदमस्त स्थिति में है, वहीं राहु ही वैदिक ज्योतिष के अनुसार वह ग्रह है जो सूर्य का ग्रास करता है। जबकि वहीं इसी राशि में मौजूद बुध के साथ सूर्य बुधादित्य जैसे विशेष योग का निर्माण करता है।

इसके अलावा शुक्र भी सूर्य का शत्रु माना जाता है। जबकि शुक्र के इस राशि में होने से राहु और ज्यादा मदमस्त होकर शनि के समान प्रभावों को भी देता दिख रहा है। वहीं वैदिक ज्योतिष के अनुसार, प्रथम भाव में सूर्य-शुक्र संयोजन वाले जातक ज्ञानी होते हैं।

MUST READ: सूर्य का राशि परिवर्तन वृषभ राशि में, जानिये ये परिवर्तन कैसा रहेगा आपके लिए

https://www.patrika.com/religion-news/surya-rashi-parivartan-in-may-2021-with-good-and-bad-effects-6837715/

साथ ही पहले भाव में सूर्य-शुक्र की युति के कारण जातक केवल स्वयं ही शांत नहीं होते, बल्कि वे वहां भी शांति की स्थापना कर सकते हैं, जहां इसकी कमी होती है।

कुल मिलाकर 14 मई 2021 से वृषभ राशि में प्रवेश कर जाने से चार ग्रह एक ही राशि में आ जाएंगे। ज्योतिष के अनुसार जहां इन चार ग्रहों का सभी 12 राशियों पर शुभ- अशुभ प्रभाव पड़ेगा। वहीं दुनिया के देश भी इसके असर से अछुते नहीं रहेंगे।

राहु ने मिथुन राशि से 23 सितंबर 2020 को वृषभ राशि में गोचर किया था। वहीं राहु अब इस राशि में अप्रैल 2022 तक मदमस्त रहेंगे। राहु के गुरु यानि दैत्यगुरु शुक्र की राशि वृषभ में होने के कारण यह इस राशि में सर्वाधिक बलवान होता हैं। जानकारों की मानें तो ऐसी स्थिति में सूर्य के भी वृषभ में पहुंच जाने से जगह जगह तनातनी की स्थिति देखने को मिल सकती है।

ज्योतिष के जानकार एसके शुक्ला के अनुसार इस नवसंवत्सर 2078 के राजा व मंत्री मंगल होने के कारण सूर्य के वृषभ में आने से सबसे ज्यादा परेशानी राहु को होती दिख रही है।

Must Read - अक्षय तृतीया पर इन उपायों से प्रसन्‍न होकर मां लक्ष्‍मी करेंगी आपके धन में वृद्धि! जानें इस बार के बेहद शुभ योग

https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/akshaya-tritiya-2021-pujan-vidhi-shubh-muhurt-and-significance-6843506/

ऐसे में जहां राहु कोरोना जैसी महामारी में अचानक परिवर्तन कर सकता है, वहीं ये इसे आगे बढ़ाने की कोशिश भी करेगा, लेकिन सूर्य की शकित के चलते कभी ये तेजी से फैलेगा तो कभी इसकी गति पर हल्का सा विराम भी लग जाएगा।

इस पूरी स्थिति में शुक्र भी राहु का साथ देगा लेकिन मंगल के प्रभाव से वह भी कम ही सफल होता दिखता है। लेकिन शुक्र के कारण कीमती धातुओं के भावों में वृद्धि होने से और शेयर मार्केट में उछाल देखने को मिल सकता है। विदेशों में परंपरागत वस्तुओं की मांग और भी बढ़ेगी। इससे भारत को आर्थिक लाभ प्राप्त होगा।

इसके अलावा इस दौरान चंद्र की स्थिति के चलते कोई नई खोज या विज्ञान क्षेत्र में कुछ नई चीजें भी सामने आ सकती है। साथ ही इस समय देश दुनिया में कुछ जगह आंदोलन तो कुछ विवाद या युद्ध जैसी स्थितियां भी बन सकती हैं। वहीं सूर्य का प्रभाव इस समय कुछ जगह हल्की या तेज बारिश का दौर भी ला सकता है।

Must read- कोरोना को लेकर नया धमाका- ज्योतिष गणनाओं में सामने आई ये नई बात...

https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/corona-pandemic-2021-date-when-it-will-become-very-weak-6830134/

अक्षय तृतीया 2021 के दिन राशिनुसार करेें ये दान :

मेष राशि : इस दिन लाल कपड़े में लड्डू रखकर दान करें।

वृष राशि : इस दिन पानी से भरे घड़े या सुराही का दान करें।

मिथुन राशि : इस दिन हरे रंग की मूंग की दाल दान करें। इसके अलावा वस्त्र भी किसी जरूरतमंद को दान कर सकते हैं।

कर्क राशि : इस दिन दूध और चावल का दान करें।

सिंह राशि : इस दिन लाल मसूर, गुड़, लाल वस्त्र आदि दान करें।

कन्या राशि : इस दिन मूंग की दाल,हरी सब्जियां के दान के अलावा गाय को चारा भी दें।

तुला राशि : इस दिन सफेद रंग की चीजें जैसे सफेद कपड़े, दूध, दही, चावल, चीनी, खीर आदि सफेद चीजों का दान करें।

वृश्चिक राशि : इस दिन लोगों को पानी या शरबत पिलाएं, इसके अलावा यदि सामथ्र्य हो तो इस दिन प्याउ भी लगवा सकते हैं।

धनु राशि : इस दिन आपके लिए पीले कपड़े, हल्दी, पपीता, चना, चने की दाल, केसर, पीली मिठाईयां व जल का दान श्रेष्ठ है।

मकर राशि : इस दिन काले तिल, काली दाल आदि का दान करें।

कुंभ राशि : इस दिन सरसों का तेल, काले तिल, लोहा, काली दाल, नारियल आदि दान करें।

मीन राशि : इस दिन हल्दी और चने की दाल का दान करें।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned