13 दिसंबर से पहले कर लें सारे शुभ कार्य, नहीं तो करना पड़ेगा लंबा इंतजार

हिन्दू धर्म में किसी भी तरह के मांगलिक कार्य करने से पहले शुभ मुहूर्त देखा जाता है

By: Devendra Kashyap

Updated: 03 Dec 2019, 04:46 PM IST

हिन्दू धर्म में किसी भी तरह के मांगलिक कार्य करने से पहले शुभ मुहूर्त देखा जाता है, ताकि वह काम बिना किसी अवरोध के सफल हो और उसका पूरा लाभ मिले। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, शरद ऋतु में एक माह का समय ऐसा भी आता है, जब किसी भी तरह के मांगलिक कार्य करना मना ही होता है।

ये भी पढ़े- सावधान! 2020 में शनि के रडार पर आएंगे इस राशि के लोग


इस समय को खरमास कहा जाता है। इस वर्ष खरमास 13 दिसंबर 2019 से शुरू हो रहा है, जो अगले साल अर्थात 2020 में 14 जनवरी तक रहेगा। इस दौरान किसी भी तरह के मांगलिक कार्य नहीं किए जाएंगे। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दौरान शादी, सगाई, मुंडन, गृह प्रवेश और उपनयन संस्कार जैसे कार्य नहीं किए जाएंगे।

ये भी पढ़े- चाहते हैं 2020 हो मंगल तो 31 दिसंबर से पहले घर लाएं ये चीज


माना जाता है कि इस दौरान इन कार्यों के करने से उनका वांछित फल प्राप्त नहीं होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, 15 जनवरी 2020 को सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेगा। अर्थात मकर संक्रांति के दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होता है और इस दिन से मांगलिक कार्य शुरू हो जाते है अर्थात देवताओं के दिन शुरू हो जाते हैं।


क्यों नहीं होते मांगलिक कार्य?

मान्यताओं के अनुसार, खरमास के दौरान सूर्य धनु राशि में होता है। धनु राशि में होने के कारण सूर्य की स्थिति कमजोर मानी जाती है। सूर्य की स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण इस दौरान शादी, सगाई जैसे मांगलिक कार्य नहीं किये जाते हैं। माना जाता है कि मांगलिक कार्य करने के लिए सूर्य की स्थित मजबूत होना बहुत जरूरी है। अगर खरमास के दौरान मांगलिक कार्य करते हैं तो उसका शुभ फल प्राप्त नहीं होता है।

Show More
Devendra Kashyap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned