scriptManipur Assembly Elections Less participation of women in battle | Manipur Assembly Elections 2022 : महिलाओं की आबादी अधिक, लेकिन रण में हिस्सेदारी कम | Patrika News

Manipur Assembly Elections 2022 : महिलाओं की आबादी अधिक, लेकिन रण में हिस्सेदारी कम

Manipur Assembly Elections 2022: मणिुपर में ज्यादातर क्षेत्रों में महिलाएं हमेशा सबसे आगे रहती है, पर चुनाव में ऐसा नहीं कहा जा सकता है। प्रमुख राजनीतिक दलों ने इस पूर्वोंत्तर राज्य में दो चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए गिनी चुनी महिला प्रत्याशियों को ही मौका दिया है।

नई दिल्ली

Updated: February 28, 2022 07:36:14 am

Manipur Assembly Elections 2022: मणिुपर में ज्यादातर क्षेत्रों में महिलाएं हमेशा सबसे आगे रहती है, पर चुनाव में ऐसा नहीं कहा जा सकता है। प्रमुख राजनीतिक दलों ने इस पूर्वोंत्तर राज्य में दो चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए गिनी चुनी महिला प्रत्याशियों को ही मौका दिया है। महिलाओं की यह उपेक्षा इसलिए भी अटपटी दिख रही है, क्योंकि यहां महिला मतदाताओं की संख्या पुरुषों से अधिक है। पिछले चुनाव में पुरुषों की तुलना में अधिक महिलाएं मतदान केंद्रों पर पहुंची थी। चुनाव अधिकारी बताते है कि पिछले विधानसभा चुनाव में 89 प्रतिशत महिलाओं ने वोट डाले थे, जबकि 84 प्रतिशत पुरुषों ने मतदान किया था।

Manipur Assembly Elections 2022
Manipur Assembly Elections 2022

एनपीपी का कम भरोसा
नेशनल पीपुलस पार्टी ने भी 44 प्रत्याशियों में सिर्फ 3 महिलाओं डब्ल्यू सुमति, आई नलिनी थंगथाटालिंग सिनाटे को टिकट दिया है। यह चुनाव मैदान में एक अन्य वृंदा थौनाओजम नजात दल प्रत्याशी के रूप में डटी है।

यह भी पढ़ें — Uttarakhand: इन दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर, बीजेपी, कांग्रेस और आप में कड़ी टक्कर



भाजपा प्रमुख महिला, फिर भी 3 टिकट
साल 2017 के पिछले चुनाव में 11 महिला उम्मीदवार मैदान में थी। उनमें से भाजपा और कांग्रेसी एक एक उम्मीदवार जीती थी। सत्तारूढ़ भाजपा ने महिला प्रदेश अध्यक्ष होने के बावजूद 60 उम्मीदवारों में से सिर्फ तीन महिलाओं को टिकट दिया है। ए शारदा मणिपुर भाजपा की पहली महिला प्रमुख है। भले ही वे कड़ी मेहनत कर रही है लेकिन वह खुद मैदान में नहीं है। भाजपा से तीन महिला उम्मीदवारों में पूर्व समाज कल्याण मत्री नेमवा किपगेन ओलीश और केबी है।

यह भी पढ़ें — UP : परिवारवाद, जातिवाद पर नहीं राष्ट्रवाद पर दें वोट - स्वतंत्र देव सिंह


कांग्रेस ने भी नहीं दिखाई दिलचस्पी
विपक्षी दल कांग्रेस 54 सीटों पर चुनाव मैदान में है। इनमें सिर्फ 3 महिला प्रत्याशी राजनीतिक कौशल दिखा रही हैं। इनमें एक पूर्व समाज कल्याण मंत्री अकोइजम मीराबाई है। इसके अलावा अरीबाम प्रमोदिनी व थोकचोम इबोइबी देवी मैदान पर उतरी है। कांग्रेस ने ओलेन मोइरंगथेम कहते है भले ही बड़ी संख्या में महिलाए सक्रिय रूप से राजनीति में शामिल है, पर उनमें से कुछ ने ही टिकट के लिए आवेदन किया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.