Etawah : सैफई में मरीजों से मिले सीएम योगी, कहा- कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए तैयारियां पूरी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को इटावा सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी पहुंचे, इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया

By: Hariom Dwivedi

Updated: 22 May 2021, 03:35 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
इटावा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए राज्य में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के भ्रमण के बाद पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री, सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति योगी आदित्यनाथ ने विश्वविद्यालय का दौरा किया। उन्होंने यूनिर्वसिटी के कोविड-19 अस्पताल तथा इमर्जेंसी व्यवस्थाओं को देखा तथा विश्वविद्यालय के इमर्जेंसी एवं ट्रामा सेन्टर में मरीजों एवं उनके परिजनों से बात की तथा यूनिवर्सिटी की चिकित्सा व्यवस्था की सरहाना की। इससे पहले सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में मुख्यमंत्री ने मेडिकल अधिकारियों के साथ-साथ प्रशासनिक अधिकारियों की भी एक अहम बैठक ली।

मुख्यमंत्री एवं चिकित्सा विश्वविद्यालय, सैफई के कुलाधिपति योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश कोविड-19 की दूसरी लहर में भी व्यापक तैयारियों के साथ मरीजों का इलाज कर रहा है। इसमें विश्वविद्यालय के चिकित्सकों एवं हेल्थ केयर वर्कर्स की भूमिका बेहद सराहनीय है। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों के कयास के विपरित प्रदेश ने बेहतर कोविड प्रबन्धन से कोविड संक्रमण को नियंत्रित किया है। पूरे प्रदेश में पिछले 24 अप्रैल को सर्वाधिक 38 हजार नये केस आये थे और आज 6 हजार केस आये हैं जो यह बताता है कि प्रदेश ने कोविड-19 का कितना बेहतर प्रबन्धन किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले 21 दिनों के अन्दर 2 लाख 16 हजार एक्टिव केस कम हुए हैं। इसके लिए पूरे प्रदेश में टेस्ट क्षमता बढ़ाई गयी है। पिछले 24 घंटे के अन्दर 3 लाख 7 हजार टेस्ट किये हैं। पूरे कोराना काल में अभी तक पूरे प्रदेश में 04 करोड 65 लाख टेस्ट किये गये जो देश के अन्दर किसी भी प्रदेश द्वारा किये गये सर्वाधिक टेस्ट हैं। कोरोना से प्रदेश में रिकवरी रेट 93 प्रतिशत से अधिक है। यह सब एक अभियान के तहत हुआ है।

यह भी पढ़ें : सीएम योगी का तंज- कोरोना वैक्सीन का विरोध करने वाले अब खुद भी लगवा रहे हैं

अब तक डेढ़ करोड़ से अधिक लोगों को लगा कोरोना का टीका
उन्होंने कहा कि इटावा में भी कोरोना लड़ाई में सभी का योगदान बेहद महत्वपूर्ण रहा जिसमें जनप्रतिनिधियों के अलावा जिले के अधिकारी, चिकित्सा विश्वविद्यालय सैफई के चिकित्सक एवं हेल्थ केयर वर्कर्स आदि ने पूरी मेहनत से काम किया। एक समय इटावा में कोविड पॉजिटिव रेट 30 प्रतिशत था जो अब मात्र 02 प्रतिशत से नीचे रह गया है जो एक बेहतर उदाहरण है। पूरे प्रदेश में सभी जगह टेस्ट बढ़ाये जा रहे हैं, सुविधायें बढ़ाई जा रही है। पूरे प्रदेश में अब तक एक करोड 62 लाख लोगों को निःशुल्क वैक्सीन दी जा चुकी है जो एक बड़ी संख्या है। इसमें इटावा में 1 लाख 20 हजार वैक्सीन अब तक लगायी जा चुकी है। ये सभी निःशुल्क है।

सभी मेडिकल कॉलेजों में 100 बेड का पीडियाट्रिक आईसीयू
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक समय में जो लोग वैक्सीनेशन का विरोध कर रहे थे आज वैक्सीन की पैरवी कर रहे हैं। प्रदेश ने कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए भी तैयारियां कर रखी हैं। जिसमें सभी मेडिकल कालेज को 100 बेड का पीडियाट्रिक आईसीयू बनाने का निर्देश दिया गया है। जिला चिकित्सालयों में 25 से 30 बेड का पीडियाट्रिक आईसीयू बनाने की कार्यवाही चल रही है। प्रदेश में 300 से अधिक आक्सीजन प्लांट निर्माणाधीन हैं। इससे आने वाले समय में सभी जनपद आक्सीजन में आत्मनिर्भर हो जायेंगे।

यह भी पढ़ें : कोरोना की तीसरी लहर रोकने में जुटे सीएम योगी, कहा- 10 साल से कम उम्र वाले दंपत्ति को टीकाकरण में मिलेगी वरीयता

कहा, भारत सरकार का सहयोग प्रशंसनीय
सीएम योगी ने कहा कि कोविड-19 लड़ाई में भारत सरकार का सहयोग बेहद अहम तथा प्रशंसनीय है। प्रत्येक जनपद में कोविड-19 परिस्थितियों को देखते हुए कम्युनिटी किचन चलाया जा रहा हैं। कोविड पेसेन्ट का सरकारी चिकित्सालयों में उपचार निःशुल्क किया जा रहा है तथा मरीजों के परिजनों के लिए कम्युनिटी किचन से दो समय का भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने यूनिवर्सिटी के नये आक्सीजन प्लांट को देखा। जिले के आला अधिकारियों तथा विश्वविद्यालय के चिकित्सकों एवं अधिकारियों के साथ बैठक ली।

सीएम योगी की बैठक में ये रहे मौजूद
बैठक में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, सांसद रामशंकर कठेरिया, सांसद गीता शाक्य, विधायक सरिता भदौरिया, विधायक सावित्री कठेरिया के अलावा अपर मुख्य सचिव हेमन्त राव, कार्यवाहक कुलपति प्रो0 रमाकान्त यादव, जिलाधिकारी इटावा श्रुति सिंह, कुलसचिव सुरेश चन्द्र शर्मा, चिकित्सा अधीक्षक डा0 आदेश कुमार, अपर चिकित्सा अधीक्षक (कोविड-19) डा0 अनिल शर्मा, सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष डा0 एसपी सिंह, माइक्रोबायलाॅजी विभागा के विभागाध्यक्ष डा0 राजेश वर्मा, डा0 सोमेन्द्र पाल सिंह आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें : यूपी में बिना परीक्षा दिए प्रमोट किये जाएंगे यूजी-पीजी के 30 लाख छात्र, फाइनल इयर के होंगे एग्जाम

coronavirus
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned